Nancy Pelosi की ताइवान यात्रा पर अमेरिका से तिलमिलाया चीन

अमेरिका की हाउस स्पीकर नैन्सी पेलोसी (Nancy Pelosi) के ताइवान पहुँच चुकी हैं. जब चीन को खबर लगी की अमेरिका की हाउस स्पीकर नैन्सी पेलोसी ताइवान आईं हैं. तब उसने अमेरिका को चेतावनी दी और बेहद खतरनाक हरकत बताया.

क्यों तिलमिलाया चीन

Aljazeera से मिली खबर के मुताबिक, मंगलवार की देर रात एक यात्रा पर ताइवान पहुंचीं अमेरिका की हाउस स्पीकर नैन्सी पेलोसी (Nancy Pelosi). इसके साथ ही उन्होंने ने कहा की, स्व-शासित द्वीप के साथ संयुक्त राज्य अमेरिका की एकजुटता का प्रदर्शन किया है. जिसे चीन अपना क्षेत्र बताने का दावा करता है.

वाशिंगटन ताइवान को एक स्वतंत्र राज्य के रूप में मान्यता नहीं देता है. लेकिन अमेरिकी कानून द्वारा द्वीप को अपनी रक्षा के लिए साधन प्रदान करने के लिए बाध्य है. अमेरिकी राजनेता ने द्वीप पर पहुंचने के कुछ मिनट बाद वाशिंगटन पोस्ट में प्रकाशित एक संपादकीय (editorial published) में ताइवान जाने के अपने कारणों के बारे में बताया.

अमेरिका की तरफ से जारी ओपिनियन पीस में लिखा है की,

“हम खड़े नहीं हो सकते क्योंकि सीसीपी (चीनी कम्युनिस्ट पार्टी) ताइवान और खुद के लोकतंत्र को धमकी देने के लिए आगे है. पेलोसी 25 वर्षों में ताइवान की यात्रा करने वालली सर्वोच्च रैंक वाले अमेरिकी अधिकारी हैं. यह यात्रा अमेरिका और चीन की रिश्तों को शांति की तरफ ले जाना चाहती है.”

ताइवान में जोसेफ वू ने किया पेलोसी का स्वागत

मिली जानकारी के मुताबिक, ताइवान के विदेश मंत्री, जोसेफ वू और ताइवान में शीर्ष अमेरिकी प्रतिनिधि सैंड्रा ओडकिर्क ने नैन्सी पेलोसी प्रतिनिधिमंडल का स्वागत किया है. जैसे ही चीन को इस खबर का पता चला जिसमें चीन ने तुरंत पेलोसी की यात्रा की निंदा की. चेन के विदेश मंत्रालय ने कहा कि, यह ताइवान जलडमरूमध्य में शांति और स्थिरता को गंभीर रूप से नुकसान पहुंचाएगा.

इस यात्रा का चीन-अमेरिका की राजनीतिक नींव पर गंभीर प्रभाव पड़ा है. अमेरिका का यह फैसला चीन की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता का उल्लंघन करता है. आगे चीन से आए बयान में कहा गया की, “ये चालें, जैसे आग से खेलना, बेहद खतरनाक हैं. जो लोग आग से खेलते हैं वे इससे नष्ट हो जाएंगे.”

अमेरिका की हाउस स्पीकर नैन्सी पेलोसी के ताइवान जाने पर चीन और अमेरिका के रिश्तों में खट्टास और बढ़ गई है. चीन हमेशा से अमेरिका को चेताता आया है की वो कभी भी चीन और ताइवान के रिश्तों के मध्य न आए. लेकिन अमेरिका ने ताइवान की रक्षा का बेड़ा उठा रखा है.

चीन के विमान घुसे ताइवान के एयर डिफेंस जोन में

मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो, ताइवना के अधिकारियों का दावा है कि, चीन के 21 लड़ाकू विमान उसके एयर डिफेंस जोन में घुस गए हैं. ताइवान के रक्षा मंत्रालय ने ट्विटर पर एक बयान में कहा,  ‘पीएलए के 21 लड़ाकू विमान ताइवान के साउथवेस्ट एयर डिफेंस आइ़डेंटिफिकेशन जोन जोन में प्रवेश कर गए हैं.’

पेलोसी (Nancy Pelosi) का ये दौरा इस लिए अहम माना जा रहा है क्योंकि इसकी पहली वजह है की वो, अमेरिका के अगले राष्ट्रपति का दावेदार हैं. और इसके साथ ही लंबे समय से अमेरिका के किसी सीनियर अधिकारी ने ताइवान का दौरा नहीं किया है. पिछले 25 साल में ताइवान पहुंचने वाली वह अमेरिका की सबसे बड़ी नेता हैं.

3 thoughts on “स्पीकर Nancy Pelosi की ताइवान यात्रा पर अमेरिका से तिलमिलाया चीन”

Leave a Reply

Your email address will not be published.