September 25, 2022
Spread the love

पांच बार की चैंपियन मुंबई के लिए आईपीएल का 15वां सीजन बेहद निराशाजनक रहा है | मुंबई इंडियंस आईपीएल 2022 में लगातार सात मैच हारकर शर्मनाक रिकॉर्ड अपने नाम कर चुकी है। रोहित शर्मा की अगुआई में टीम को अभी भी पहली जीत की तलाश है। चेन्नई के खिलाफ गुरुवार को भी उसे जीते हुए मुकाबले में आखिरी गेंद पर हार का सामना करना पड़ा। मुंबई के अलावा चेन्नई की स्थिति ख़राब है और उसे सात मैच में दो जीत ही नसीब है। आईपीएल इतिहास की दो सबसे सफल टीमें इस वक्त अंक तालिका में आखिरी दो पायदान पर काबिज हैं | मुंबई प्लेऑफ की राह से अब लगभग बाहर हो गयी है तो वहीं चेन्नई के लिए भी चीजें आसान नहीं होंगी |

मुंबई की प्लेऑफ की संभावना ?

मु्ंबई की टीम लगातार सात मुकाबले हारकर प्लेऑफ की दौड़ से लगभग बाहर हो गई है। उसके अब नॉकआउट स्टेज में पहुंचने की उम्मीद ना के बराबर है। अगर वे अपने बाकी के सात मैच जीत भी जाते हैं तो भी उन्हें इसका अधिक फायदा नहीं होगा। उन्हें प्लेऑफ की रेस में पहुंचने के लिए सबसे पहले सभी मैच जीतने होंगे और वह भी बड़े अंतर से क्योंकि उनका रनरेट इस वक्त निगेटिव में है।

मुंबई की टीम अगर अपने बाकी के सभी मुकाबले बड़े अंतर से जीत भी जाती है तब भी उसे दूसरे टीमों के प्रदर्शन के भरोसे ही रहना होगा। सभी मैच जीतने की स्थिति में मुंबई के 14 अंक हो जाएंगे, लेकिन इस सीजन में 10 टीमें होने की वजह से यह प्लेऑफ के लिए काफी नहीं होगा। हालांकि वह अपनी जीत से दूसरी टीमों की उम्मीदों को झटका दे सकती है।

चेन्नई की भी नॉकआउट स्टेज में पहुंचना कठिन –

चार बार की चैंपियन चेन्नई ने अभी तक सात में दो मुकाबले जीते हैं और चार अंकों के साथ नौवें स्थान पर है। उसका रनरेट भी मुंबई की तरह ही निगेटिव में है। ऐसे में उसे बाकी के सात मैचों में कम से कम छह मुकाबले जीतने होंगे और वह भी बड़े अंतर से। रवींद्र जडेजा की कप्तानी वाली सीएसके अगर अपने बाकी के सभी सातों मैच जीत जाती है तो उस स्थिति में उसके 18 अंक हो जाएंगे और तब प्लेऑफ के लिए उसकी राह आसान हो सकती है। हालांकि, मौजूदा स्थिति और बाकी की टीमों के प्रदर्शन को देखते हुए चेन्नई के लिए जीत बेहद कठिन होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.