भारत के अधिकांश हिस्सों में तापमान अब तक उच्चतम स्तर पर पहुंचने के साथ, उन श्रमिकों के लिए संघर्ष कठिन हो गया है, जिन्हें चिलचिलाती गर्मी से निपटने के लिए सड़क पर रहना पड़ता है।

दयालु होने के लिए एक साफ़ मन चाहिए और उदाहरण के लिए इंदौर पुलिस कर्मियों का एक समूह इसमें बहुत आगे है। एक मानवीय सहायता के रूप में, इंदौर के कुछ पुलिस कर्मियों ने आपस में पैसे इकट्ठा करके एक ऑनलाइन फूड डिलीवरी फर्म के 22 वर्षीय कर्मचारी के लिए एक मोटरसाइकिल खरीदी। पुलिस ने उस लड़के को अपनी साइकिल पर लोगों के घरों तक खाने के पार्सल पहुंचाने के लिए कड़ी मेहनत करते देखा था।

सोमवार को विजय नगर थाना प्रभारी तहजीब काजी ने बताया कि रात्रि गश्त के दौरान उन्होंने देखा कि जय हल्दे नाम का एक लड़का भोपाल में खाने के पार्सल पहुंचाने के लिए साइकिल पर तेज गति से पसीना बहा रहा है.

उस व्यक्ति से बात करने के बाद उन्हें पता चला कि उसका परिवार आर्थिक समस्याओं का सामना कर रहा है और उसके पास मोटरसाइकिल खरीदने के लिए पैसे नहीं हैं |

विजय नगर पुलिस स्टेशन के काज़ी और कुछ अन्य कर्मियों ने मिलकर तब एक मोटरसाइकल शोरूम में प्रारंभिक भुगतान ( डाउनपेमेंट ) करने के लिए पैसे का योगदान दिया और जय हल्दे के लिए एक मोटरसाइकिल खरीदी।

तहजीब काजी ने कहा कि डिलीवरी मैन ने पुलिस से कहा था कि आप बाइक की पूरी रकम न दे वह बाकी रकम खुद किश्तों में भुगतान करेगा।

By Satyam

Leave a Reply

Your email address will not be published.