Monkeypox : मंकीपॉक्स को सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल किया गया घोषित

Monkeypox : मंकीपॉक्स के तेज़ी से फैलने की ख़बरे अब सामने आने लगी हैं. बता दें की जिस तरह कोरोना वायरस ने तबाही मचाई थी मंकीपॉक्स (Monkeypox) को भी उसी तरह का वायरस माना जा रहा है. विश्व स्वास्थ्य नेटवर्क (WHN) द्वारा मंकीपॉक्स को सार्वजनिक आपातकाल के रूप में नामित करना इस ओर इशारा करता है कि यह प्रकोप किसी एक देश या क्षेत्र तक सीमित नहीं है.

Monkeypox अब एक देश या सीमा तक नहीं है सीमित

कोविड -19 (Covid-19) खतरे के खिलाफ गठित वैज्ञानिकों के एक गठबंधन ने मंकीपॉक्स (Monkeypox) के प्रकोप को वैश्विक चिंता का सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल घोषित किया है. ANI की रिपोर्ट के मुताबिक, विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) के प्रमुख द्वारा घोषणा किए जाने के कुछ दिनों बाद आया है कि 32 गैर-स्थानिक देशों में मंकीपॉक्स (Monkeypox) वायरस (Virus) के फैलने की वजह से अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य विनियम आपातकालीन समिति बुलाई गई है.

ANI की ख़बर के मुताबिक, विशेषज्ञ 23 जून को यह आकलन करने के लिए मिलेंगे कि क्या निरंतर प्रकोप अंतर्राष्ट्रीय चिंता के सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल का प्रतिनिधित्व करेंगे. यह प्रकोप किसी एक देश या क्षेत्र तक सीमित नहीं है. बल्कि ये अब तेज़ी से हर जगह फ़ैल रहा है. बता दें की, 58 देशों में 3,417 पुष्ट मंकीपॉक्स के मामलों की पुष्टि हुई है. इसके साथ ही, कई महाद्वीपों में सप्ताह दर सप्ताह मामले तेज़ी से बढ़ रहें हैं.

यह वायरस कई बार अफ्रीका से और देशों में फैलाता था.  2003 के वसंत में, संयुक्त राज्य अमेरिका (USA) में मंकीपॉक्स (Monkeypox) के मामलों की पुष्टि हुई थी. बता दें की, यह वायरस चार स्टेजों में फैलता है जिसमें हर स्टेज पर अलग-अलग लक्षण देखने को मिलते हैं.

स्टेज 1- लक्षण अपर रेस्पिरेटरी सिस्टम से जुड़े होते हैं और काफी हद तक बुखार जैसे लगते हैं. स्टेज 2- स्किन पर थोड़ी संख्या में कुछ गांठ दिखनी शुरू हो जाती हैं. स्टेज 3- इस स्टेज में लिम्फैडेनोपैथी हाथों, पैरों, चेहरे, मुंह या प्राइवेट पार्ट्स पर होने वाले दानों या चकत्ते में बदल सकती है. स्टेज 4- दाने या चकत्ते उभर कर बडे़ दाने हो जाते हैं या कुछ ऐसे पस्ट्यूल में बदल जाते हैं जिनमें मवाद भरी होती है.

 

Leave a Reply