September 29, 2022
Monkeypox Infection: दिल्ली में मंकीपॉक्स का चौथा मामला आया सामने, अब देश में संक्रमितों की संख्या 9 हुई

Monkeypox Infection: दिल्ली में मंकीपॉक्स का चौथा मामला आया सामने, अब देश में संक्रमितों की संख्या 9 हुई

Spread the love

Monkeypox Infection: मंकीपॉक्स तेज़ी से देश में अपने पैर पसार रहा है. भारत में सबसे पहला मंकीपॉक्स (Monkeypox Infection) का मामला केरल (Kerala) में मिला था. राजधानी दिल्ली में एक 31 वर्षीय महिला को  मंकीपॉक्स के लिए सकारात्मक परीक्षण किया. अब भारत में संक्रमितों की संख्या नौ हो गई है.

मंकीपॉक्स का बढ़ रहा खतरा

ANI से मिली जानकारी के मुताबिक, भारत में महिलाओं में मंकीपॉक्स (Monkeypox Infection) का यह पहला मामला है. वैसे बता दें की, ये 31 वर्षीय महिला का दिल्ली के एक सरकारी अस्पताल में इलाज चल रहा है. इससे पहले मंगलवार को, दिल्ली में रहने वाले एक और 35 वर्षीय नाइजीरियाई व्यक्ति, जिसका कोई हालिया यात्रा इतिहास नहीं था.

उसने मंकीपॉक्स के लिए सकारात्मक परीक्षण किया है. मरीज को लोक नायक जयप्रकाश अस्पताल में भर्ती कराया गया है जो दिल्ली सरकार के अधीन आता है. भारत में अब तक 9 मंकीपॉक्स के मामले सामने आए हैं, जिनमें 5 केरल से और 4 दिल्ली से हैं.

अधिकारिक जानकारी की माने तो, देश में मंकीपॉक्स के मामलों की संख्या में वृद्धि के मद्देनजर, केंद्र सरकार के तीन अस्पतालों में ऐसे संक्रमणों के इलाज के लिए आइसोलेशन रूम चालू कर दिए गए हैं.

इन अस्पतालों में हैं आइसोलेशन रूम

आधिकारिक जानकारी ने एएनआई को बताया, “मंकीपॉक्स के मरीजों के इलाज के लिए केंद्र सरकार के तीन प्रमुख अस्पतालों यानी सफदरजंग अस्पताल, आरएमएल अस्पताल और लेडी हार्डिंग अस्पताल में आइसोलेशन रूम चालू हैं.”

सरकारी और निजी अस्पतालों में आइसोलेशन रूम तैयार करने को लेकर दिल्ली सरकार ने मंगलवार को आधिकारिक बयान जारी किया. लोक नायक जय प्रकाश नारायण (एलएनजेपी) अस्पताल में 20 आइसोलेशन रूम, जबकि गुरु तेग बहादुर अस्पताल (जीटीबी) अस्पताल में 10 और डॉ बाबा साहेब अंबेडकर अस्पताल में 10 आइसोलेशन रूम बनाए गए हैं.

विशेष रूप से, दिल्ली सरकार ने निजी अस्पतालों को मंकीपॉक्स के रोगियों के लिए आइसोलेशन रूम बनाने का भी निर्देश दिया है. ये तीन अस्पताल कैलाश दीपक अस्पताल, पूर्वी दिल्ली हैं. एमडी सिटी अस्पताल, उत्तरी दिल्ली और बत्रा अस्पताल और अनुसंधान केंद्र, दक्षिण दिल्ली में तुगलकाबाद.

इन लोगों का अंतर्राष्ट्रीय इतिहास है

जानकारी मिली है की, भारत में अब तक मंकीपॉक्स के 9 मामले सामने आए हैं. जिनमें से 5 केरल से हैं. जिनका अंतरराष्ट्रीय यात्रा का इतिहास है और चार दिल्ली से हैं. जिनका हाल ही में कोई यात्रा इतिहास नहीं है.

सोमवार को, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय में संयुक्त सचिव ने संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में कार्यकारी निदेशक और आईएचआर केंद्र बिंदु डॉ हुसैन अब्दुल रहमान को पत्र लिखकर अनुरोध किया कि वे यह सुनिश्चित करने के लिए स्क्रीनिंग तेज करें कि मंकीपॉक्स रोग के लक्षण प्रदर्शित करने वाले व्यक्ति नहीं हैं.

रोग संचरण के जोखिम को कम करने के लिए उड़ान में चढ़ने की अनुमति दी गई. देश में मंकीपॉक्स के बढ़ते मामलों के मद्देनजर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने मंगलवार को नागरिकों को घबराने का आश्वासन नहीं दिया और कहा कि संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए राज्य सरकारों के सहयोग से जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है.

संसद के चल रहे मानसून सत्र के दौरान मंगलवार को राज्यसभा में बोलते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा है की, “मंकीपॉक्स से डरने की जरूरत नहीं है. राज्य सरकारों के सहयोग से जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है. हमने भारत सरकार की ओर से नीति आयोग के एक सदस्य की अध्यक्षता में एक टास्क फोर्स का भी गठन किया है.”

Leave a Reply

Your email address will not be published.