Pakistan में आर्थिक संकट के चलते मॉल, रेस्टोरेंट होंगे जल्दी बंद

Pakistan: पाकिस्तान (Pakistan) इन दिनों अपने सबसे बुरे वक़्त से गुज़र रहा है. पाकिस्तान (Pakistan) के हालात ख़राब होते जा रहे हैं. बीते साल जिस तरह का आर्थिक संकट श्रीलंका में आया था. अब ऐसा माना जा रहा है की, पाकिस्तान (Pakistan) के भी हालात वैसे ही होने वाले हैं. एक तरफ पाकिस्तान आर्थिक संकट से जूझ रहा है. दूसरी तरफ अपने पड़ोसी मुल्क अफगानिस्तान से भी तनातनी बरक़रार रखे है.

Pakistan में अब आप रात 8:30 बजे के बाद नहीं जा पाएंगे मॉल

स्थाई मीडिया से मिली जानकारी के मुताबिक, पाकिस्तान (Pakistan) की सरकार ने ऊर्जा संरक्षण के उपायों का आदेश दिया है. जिसमें सभी मॉल और बाजारों को रात 8:30 बजे तक बंद करना शामिल है.

क्योंकि देश गंभीर शक्ति और आर्थिक संकट से जूझ रहा है. पाकिस्तान (Pakistan) के रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ ने मंगलवार को पत्रकारों से कहा कि कैबिनेट द्वारा सुझाए उपायों से देश को करीब 62 अरब पाकिस्तानी रुपये बचाने की उम्मीद है.

पाकिस्तान (Pakistan) खुद को नकदी के लिए फंसा हुआ है क्योंकि अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) कार्यक्रम के तहत आने वाले पैसे में देरी हुई है. पाकिस्तान का विदेशी मुद्रा भंडार अब मुश्किल से एक महीने के आयात को कवर कर रहा है. जिनमें से ज्यादातर ऊर्जा खरीद शामिल है.

Pakistan में आर्थिक संकट के चलते मॉल, रेस्टोरेंट होंगे जल्दी बंद
Pakistan में आर्थिक संकट के चलते मॉल, रेस्टोरेंट होंगे जल्दी बंद

पाकिस्तान के रक्षा मंत्री ने कहीं ये बातें

रक्षा मंत्री ने कहा कि तत्काल प्रभाव से लागू होने वाले अतिरिक्त उपायों में रात 10 बजे तक रेस्तरां और विवाह हॉल बंद करना शामिल है. उन्होंने कहा कि कुछ बाजार प्रतिनिधियों ने अधिक समय बाज़ार खोलने की बात सरकार के सामने रखी थी.

लेकिन सरकार ने फैसला किया कि बाज़ार पहले बंद करने की जरूरत है. आसिफ ने यह भी कहा कि पाकिस्तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने सभी सरकारी विभागों को बिजली की खपत 30 प्रतिशत तक कम करने का आदेश दिया है.

उपायों को लागू किया जा रहा है क्योंकि आईएमएफ (IMF) फंडिंग में 1.1 बिलियन डॉलर की देरी के बाद पाकिस्तान (Pakistan) डिफॉल्ट की आशंकाओं को दूर करने के लिए संघर्ष कर रहा है. एजेंसी द्वारा पाकिस्तान में आवश्यक नीति और सुधारों की समीक्षा को लेकर इस्लामाबाद का IMF के साथ मतभेद है.

इतना पैसा केंद्रीय बैंक के पास हैं

अन्य महत्वपूर्ण अंतर्राष्ट्रीय वित्तपोषण आईएमएफ कार्यक्रम से जुड़ा हुआ है. जिसका मतलब है कि 220 मिलियन लोगों का दक्षिण एशियाई राष्ट्र अपनी बाहरी वित्तपोषण आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए कठिन समय से जूझ रहा है.

पाकिस्तान (Pakistan) का कुल तरल विदेशी मुद्रा भंडार (liquid foreign exchange) पिछले महीने के अंत में 11.7 अरब डॉलर था. जिसमें से 5.8 अरब डॉलर केंद्रीय बैंक के पास हैं. यह 2022 की शुरुआत में उसके पास मौजूद विदेशी मुद्रा भंडार का आधा मूल्य है.

बिजली के बल्ब और जुलाई से पंखों के उत्पादन पर भी लगा प्रतिबंध

आसिफ ने कहा कि ऊर्जा संरक्षण योजना में फरवरी से अकुशल बिजली के बल्ब और जुलाई से पंखों के उत्पादन पर भी प्रतिबंध लगा दिया जाएगा. उन्होंने ने कहा कि देश भर में आधी स्ट्रीट लाइट भी बंद रहेंगी.

सरकार ने आयात और उच्च मुद्रास्फीति (high inflation) को नियंत्रित करके अर्थव्यवस्था को स्थिर करने का प्रयास किया है. पाकिस्तान (Pakistan) पिछले साल की विनाशकारी बाढ़ से उभर रहा है. बाढ़ और बारिश ने देश के एक तिहाई से अधिक को जलमग्न कर दिया और व्यापक तबाही और बड़े वित्तीय नुकसान का कारण बना है.

Leave a Reply