Mahsa Amini: ईरान में 10 दिन बाद भी नहीं थमा सरकार और जनता के बीच संघर्ष, 50 से अधिक के मौत

Iran: महसा अमिनी (Mahsa Amini) की हिरासत में मौत के बाद से ईरान में प्रदर्शन उग्र होता जा रहा है. कहीं महिलाएं अपने बाल काट रहीं है तो कही हिजाब जला रहीं हैं. हाल ही की ख़बरों में पता चला है की, ईरान (Iran) की न्यायपालिका ने धरना प्रदर्शन को लेकर लोगों को सख्त चेतावनी दी थी. जिसके बाद से वहां की जनता ने न्यायपालिका की नाफ़रमानी करते हुए प्रदर्शन जारी रखा. 

ईरानियों ने न्यायपालिका की नाफ़रमानी 

WION से मिली जानकारी के मुताबिक, ईरान (Iran) में महसा अमिनी (Mahsa Amini) की मौत के बाद लोग सड़कों पर काफ़ी लंबे समय से उतरे हुए हैं. पुलिस हिरासत के बाद, महसा अमिनी की मौत से ईरान सरकार को भारी विरोध का सामना करना पड़ रहा है. बता दें कि महसा अमिनी को हिजाब पहनने से इनकार करने के बाद, पुलिस ने हिरासत में लिया था.

ईरानी के राष्ट्रपति द्वारा पहले रविवार को चेतावनी जारी करने के साथ न्यायपालिका प्रमुख घोलमहोसिंग मोहसेनी एजेई (Gholamhosseing Mohseni Ejei) ने एक बयान में दंगों को भड़काने वालों के खिलाफ बिना किसी नर्मी के कार्रवाई करने का फरमान जारी किया था. लेकिन इस फरमान के बावजूद भी प्रदर्शन बंद नहीं हुआ.

16 सितंबर को महसा अमिनी की मौत के बाद शुरू हुई सरकार के खिलाफ जनता की लड़ाई अभी तक ख़त्म नहीं हुई है. अब तक पत्रकारों और कार्यकर्ताओं सहित सैकड़ों प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया जा चुका है. अमिनी (Mahsa Amini) को उनकी मृत्यु से तीन दिन पहले नियमों को तोड़ने के लिए हिरासत में लिया गया था.

ईरान मानवाधिकार ने जारी किए ये आंकड़े

आधिकारिक टोल के अनुसार, प्रदर्शन शुरू होने के बाद से अब तक प्रदर्शनकारियों और सुरक्षाकर्मियों सहित लगभग 50 लोगों की मौत हो चुकी है. हालाँकि, ओस्लो (Oslo) में ईरान मानवाधिकार (Iran Human Rights) के अनुसार, रविवार शाम तक मरने वालों की संख्या कम से कम 57 थी.

मीडिया रिपोर्ट्स में ये भी साझा किया गया था की बीते दिनों से ईरान सरकार ने ईरान के कई इलाकों में इंटरनेट सेवा को पूरी तरह से बंद कर दिया है. सोशल मीडिया प्लेटफार्म जिसमें व्हाट्सएप, इंस्टाग्राम और स्काइप फेसबुक, ट्विटर और टिकटॉक शामिल है. सरकार का मानना है की इन सोशल मीडिया प्लेटफार्म की वजह से ईरान में दंगा और उग्र हो सकता है.

Mahsa Amini की मौत के बाद महिलाएं काट रहीं बाल और जला रहीं हिजाब

ईरान मानवाधिकार (Iran Human Rights) ने ऐसे कई विडियो साझा किए हैं जिनमें प्रदर्शनकारी ईरान के राष्ट्रपति की मौत की बात कर रहें हैं. और उनके खिलाफ नारे लगा रहें हैं. . ईरान मानवाधिकार के शेयर किए गए कुछ वीडियो में महिलाओं को सिर पर स्कार्फ़ उतारते और अधिकारियों पर चिल्लाते हुए दिखाया गया है. इतना ही नहीं, कई वीडियो में महिला प्रदर्शनकारियों को रैलियों के दौरान हिजाब जलाते और अपने बाल काटते हुए दिखाया गया है.

कई वीडियो में पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प होती दिखाई दे रही है. विरोध प्रदर्शन के दौरान, सुरक्षा बलों ने विरोध प्रदर्शन के दौरान लाइव बुलेट शॉट (live and Bullet shots) अर्थात गोली का इस्तेमाल किया है. जबकि प्रदर्शनकारियों ने कथित तौर पर पत्थर फेंके और पुलिस वाहनों और राज्य भवनों में आग लगा दी है.

3 thoughts on “Mahsa Amini: ईरान में 10 दिन बाद भी नहीं थमा सरकार और जनता के बीच संघर्ष, 50 से अधिक के मौत”

Leave a Reply