Lula da Silva ने जेयर बोल्सोनारो को हराया बने ब्राज़ील के नए राष्ट्रपति

Lula da Silva: लूला डी सिल्वा रविवार को ब्राजील के नए राष्ट्रपति बने हैं. उन्होंने मौजूदा राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो को मतदान में हरा दिया है. बता दें की, लूला डी सिल्वा (Lula da Silva) को 50.9 प्रतिशत वोट मिले हैं जबकि बोल्सोनारो को 49.1 प्रतिशत.

Lula da Silva बने नए राष्ट्रपति

लाइव मिंट से मिली जानकारी के मुताबिक, इतिहास को देखें तो 1998 में फर्नांडो हेनरिक कार्डसो, 2006 में खुद लूला और 2014 में डिल्मा रूसेफ सभी ने चार साल का दूसरा कार्यकाल हासिल किया था. चुनावी अधिकारियों ने लूला (Lula da Silva) की जीत की घोषणा की, जिन्हें 51 फीसदी वोट मिले हैं. बता दें की, पहले जायर बोल्सोनारो मतदान में आगे चल रहे थे. लेकिन जैसे ही लूला डी सिल्वा (Lula da Silva) ने उन्हें एक बार पछाड़ा फिर उनके जीतने का रास्ता साफ़ होता चला गया.

Lula da Silva ने जेयर बोल्सोनारो को हराया बने ब्राज़ील के नए राष्ट्रपति
Lula da Silva ने जेयर बोल्सोनारो को हराया बने ब्राज़ील के नए राष्ट्रपति

बोल्सोनारो ने 2 अक्टूबर को पहले दौर के मतदान में बेहतर प्रदर्शन किया था. लेकिन फ़िलहाल तो वो चुनाव हार गए हैं. इस साल 156 मिलियन लोगों ने वोट डाला है. 76 वर्षीय लूला (Lula da Silva) ने बोल्सोनारो को पद से हटाने के लिए कड़ी मेहनत की है.

[पहले भी इतने समय तक के लिए रह चुगे हैं Lula da Silva राष्ट्रपति

उन्होंने आखिरी बार 2003-2010 तक राष्ट्रपति के रूप में कार्य किया था. बोल्सोनारो कंजर्वेटिव लिबरल पार्टी की तरफ से चुनाव लड़ा था. उन्होंने खनन बढ़ाने, सार्वजनिक कंपनियों का निजीकरण करने और ऊर्जा की कीमतों को कम करने के लिए जनता के सामने अपनी बाते रखी थी.

ब्राज़ील के राष्ट्रपति लूला डी सिल्वा ने जीत के बाद अपने अधिकारिक बयान में कहा है की, “सबसे पहले, मैं उन सभी साथियों को धन्यवाद देना चाहता हूं जो यहां मेरे साथ हैं. हमारी लड़ाई सरकारी मशीनरी से थी. सिर्फ एक उम्मीदवार से नहीं, जिसने हमें यह चुनाव जीतने से रोकने की कोशिश की. वोट देने वाले सभी लोगों को मैं धन्यवाद देना चाहता हूं.”

सुर्ख़ियों में बने रहते हैं ब्राज़ील के राष्ट्रपति

ब्राज़ील के राष्ट्रपति लूला डी सिल्वा (Lula da Silva) काफी समय से सुर्ख़ियों में छाए हुए हैं. उन पर कई गंभीर आरोप भी लगे हैं. उन्हें 2017 में सरकारी तेल कंपनी पेट्रोब्रास में व्यापक ऑपरेशन कार वॉश जांच के चलते भ्रष्टाचार और मनी लॉन्ड्रिंग के लिए दोषी ठहराया गया था.

लेकिन दो साल के बाद सुप्रीम कोर्ट के एक न्यायाधीश ने मार्च 2021 में लूला की सजा को रद्द कर दिया था. जिसके बाद से वो चुनाव लड़ने के लिए एलिजिबल हो गए थे. अब खबर आ रही है की, इस बीच बोल्सोनारो ने बिना सबूत के मतदान प्रणाली पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने कहा वो अपनी हार को स्वीकार करते हैं. लेकिन उनको मतदान प्रणाली पर गहरा शक है.

AFP के अनुसार, लूला गहरी गरीबी में पले-बड़े हैं. बताया जाता है की, राष्ट्रपति लूला डी सिल्वा किसानों के परिवार में पैदा हुए आठ बच्चों में से सातवें थे. उन्होंने बहुत गरीबी सामना किया है. उन्होंने 14 साल की उम्र राष्ट्रपति लूला डी सिल्वा ने मूंगफली भी बेचीं हैं. जानकारों का कहना है की शायद इसलिए जनता उनसे जादा जुड़ाव रखती है.

One thought on “Lula da Silva ने जेयर बोल्सोनारो को हराया बने ब्राज़ील के नए राष्ट्रपति”

Leave a Reply