Lt General Asim Munir बने पाकिस्तान के नए सेनाध्‍यक्ष

Lt General Asim Munir: लेफ्टिनेंट जनरल असीम मुनीर (Lt General Asim Munir) बने पाकिस्तान के नए सेनाध्‍यक्षको गुरुवार को पाकिस्तान का नया सेना प्रमुख चुना गया है. मुनीर ने पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी, इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (ISI) में काम किया था. वह जनरल क़मर जावेद बाजवा की जगह लेंगे. जिनका कार्यकाल 29 नवंबर को समाप्त होने वाला है.

Lieutenant General Asim Munir ने ली जनरल क़मर जावेद बाजवा की जगह

पाकिस्तानी मीडिया से मिली जानकारी के मुताबिक, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने लेफ्टिनेंट जनरल असीम मुनीर (Lt General Asim Munir) बने पाकिस्तान के नए सेनाध्‍यक्षको नए सेना प्रमुख के रूप में नामित किया है. सूचना मंत्री मरियम औरंगज़ेब ने गुरुवार को ट्विटर पर नियुक्ति की घोषणा की है.

इस बीच, लेफ्टिनेंट जनरल साहिर शमशाद मिर्जा को ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ कमेटी (CJCSC) के अध्यक्ष के रूप में चुना गया है. पाकिस्तान की सेना ने अपने 75 साल के इतिहास के लगभग आधे से अधिक समय के लिए 220 मिलियन लोगों के देश पर सीधे शासन किया है.

Lt General Asim Munir बने पाकिस्तान के नए सेनाध्‍यक्ष
Lt General Asim Munir बने पाकिस्तान के नए सेनाध्‍यक्ष

लेफ्टिनेंट जनरल असीम मुनीर (Lt General Asim Munir) बने पाकिस्तान के नए सेनाध्‍यक्षजनरल क़मर जावेद बाजवा का स्थान लेंगे जो 29 नवंबर को सेना प्रमुख के रूप में अपना छह साल का कार्यकाल समाप्त कर रहे हैं. बताया जा रहा है की, पीएम शरीफ ने इससे पहले गुरुवार को एक कैबिनेट बैठक की थी. जहां उन्होंने शीर्ष सैन्य पद के लिए छह उम्मीदवारों की सूची में से लेफ्टिनेंट जनरल असीम मुनीर का चयन किया है.

रावलपिंडी में सेना मुख्यालय में तैनात थे जनरल मुनीर

मुनीर (Lt General Asim Munir) फिलहाल रावलपिंडी में सेना मुख्यालय में तैनात हैं. उन्होंने देश की प्रमुख खुफिया एजेंसी, इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (ISI) के प्रमुख के रूप में संक्षिप्त सेवा की है. रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ ने कहा कि मुनीर और शमशाद के नाम राष्ट्रपति आरिफ अल्वी के पास मंजूरी के लिए भेजे गए हैं. जो पाकिस्तान के सशस्त्र बलों के सर्वोच्च कमांडर भी हैं.

एक ट्वीट में, रक्षा मंत्री आसिफ ने आश्चर्य जताया कि क्या राष्ट्रपति अल्वी राजनीतिक सलाह या संवैधानिक और कानूनी सलाह पर ध्यान देंगे. एक ट्वीट में, रक्षा मंत्री आसिफ ने कहा की, “अब यह इमरान खान की परीक्षा है कि क्या वह उस संस्था को मजबूत करना चाहते हैं. जो देश की रक्षा करती है या इसे विवादास्पद बनाती है. यह राष्ट्रपति अल्वी के लिए भी एक परीक्षा है.”

ट्विटर पर औरंगज़ेब की घोषणा के तुरंत बाद, इमरान खान के पीटीआई के आधिकारिक हैंडल ने इसके प्रमुख को यह कहते हुए ट्वीट किया कि वह और राष्ट्रपति अल्वी दोनों संविधान और कानून के अनुसार कार्य करेंगे. सरकार ने इमरान खान पर राजनीतिक लाभ के लिए नए सेना प्रमुख की नियुक्ति को विवादास्पद बनाने का आरोप लगाया है.

सेना की रही है यह भूमिका

मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो, सेना ने ऐतिहासिक रूप से घरेलू और विदेशी राजनीति दोनों में एक बड़ी भूमिका निभाई है. और मुनीर की नियुक्ति पाकिस्तान के नाजुक लोकतंत्र, पड़ोसी भारत और तालिबान शासित अफगानिस्तान के साथ इसके संबंधों के साथ-साथ चीन या संयुक्त राज्य अमेरिका की ओर इसकी छवि को प्रभावित कर सकती है.

बुधवार को, निवर्तमान सेना प्रमुख बाजवा ने कहा कि भविष्य में सेना की राष्ट्रीय राजनीति में कोई भूमिका नहीं होगी. उन्होंने नकली और झूठे इमरान खान के दावों को खारिज कर दिया कि उनको मारने की कोई साजिश रची गई थी.

Leave a Reply