September 29, 2022
Lenskart : ओनडेज को खरीदेगा भारतीय आईवियर रिटेलर लेंसकार्ट

Lenskart : ओनडेज को खरीदेगा भारतीय आईवियर रिटेलर लेंसकार्ट

Spread the love

Lenskart: मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, सॉफ्टबैंक ग्रुप द्वारा समर्थित भारत (India) का सबसे बड़ा आईवियर रिटेलर लेंसकार्ट (Lenskart) एक जापानी (Japanese) आईवियर चेन ओनडेज (Owndays) में लगभग 75% हिस्सेदारी खरीद रहा है. लेंस्कार्ट ने कई देशों में अपनी हिस्से दारी करली है.

अपनी chain को विस्तारित कर रहा Lenskart

बता दें की, रिटेलर लेंसकार्ट (Lenskart) ने भारत, सिंगापुर, थाईलैंड, ताइवान, फिलीपींस, इंडोनेशिया, मलेशिया और जापान सहित एशिया के 13 बाजारों में इसे लेकर क्षेत्र का सबसे बड़ा ओमनी-चैनल आईवियर व्यवसाय बनने के लिए जापानी आईवियर ब्रांड ओनडेज (Owndays) में बहुमत हिस्सेदारी हासिल कर ली है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, लेंस्कार्ट कंपनी ने कहा कि ओनडेज (Owndays) के सह-संस्थापक  सीईओ (CEO) शुजी तनाका (Shuji Tanaka) और सीओओ टेक उमियामा (Umiyama)  शेयरधारक बने रहेंगे और प्रबंधन टीम का नेतृत्व करेंगे जबकि ब्रांड स्वतंत्र रूप से काम करना जारी रखेगा.

मौजूदा शेयरहोल्डर छोड़ देंगे कंपनी

बता दें की, एल कैटरटन एशिया (L Catterton Asia) और मित्सुई एंड कंपनी (Mitsui & Company) प्रिंसिपल इन्वेस्टमेंट सहित जापानी रिटेलर के मौजूदा प्रमुख शेयरधारक बाहर निकल जाएंगे. लेंसकार्ट के को-फाउंडर और ग्रुप सीईओ पीयूष बंसल (Peeyush Bansal) ने कहा है की, “OWNDAYS के साथ हम आईवियर को लोकतांत्रिक बनाने के करीब एक कदम आगे बढ़ रहें हैं.”

इसके साथ ही उन्होंने  कहा की, “मैं शुजी-सान और टेक-सान को पांच साल से अधिक समय से जानता हूं और OWNDAYS के साथ उनके द्वारा बनाए गए फेमस ब्रांड और ग्राहक अनुभव का प्रशंसक रहा हूं. एक क्रांतिकारी बदलाव लाने के लिए जैसे कि दुनिया को आईवियर में जरूरत है. हमें समान विचारधारा वाले और पूरक संस्थापकों के साथ काम करने की जरूरत है.”

रिपोर्ट्स के मुताबिक, इससे पहले मई में आईवियर रिटेलर लेंसकार्ट (Lenskart) की सहायक कंपनी नेसो ब्रांड्स ने केकेआर, सॉफ्टबैंक, अल्फा वेव ग्लोबल और टेमासेक से 10 करोड़ डॉलर जुटाए थे. लेंसकार्ट (Lenskart) डायरेक्ट-टू-कंज्यूमर स्पेस में शुरुआती यूनिकॉर्न में से एक रहा है और वर्तमान में इसका मूल्य 4.3 बिलियन डॉलर है

Leave a Reply

Your email address will not be published.