पाकिस्तान के Khyber Pakhtunkhwa में हुआ ब्लास्ट, 5 लोगों की हुई मौत

Khyber Pakhtunkhwa: स्वात के बारा बंदाई इलाके में मंगलवार को हुए एक विस्फोट में शांति समिति के एक सदस्य दो पुलिस अधिकारियों और उनके सुरक्षा गार्ड सहित कम से कम पांच लोगों की मौत हो गई है.

शांति समिति के सदस्य इदरीस खान के वाहन को बनाया गया निशाना

स्थाई मीडिया से मिली जानकारी के मुताबिक, एआरवाई न्यूज के अनुसार, एक सड़क किनारे बम हमले ने शांति समिति के सदस्य इदरीस खान के एक वाहन को निशाना बनाया. जो कबाल तहसील स्वात के पूर्व ग्राम रक्षा परिषद (Aman Committee) के अध्यक्ष थे.

घटना की सूचना मिलते ही सुरक्षा बल क्षेत्र में पहुंच गए और मुख्यमंत्री ने विस्फोट की सूचना के बाद प्रांतीय राजधानी में सुरक्षा कड़ी करने के लिए आईजीपी को भी निर्देश दिया. एआरवाई न्यूज ने बताया कि एक बयान में मुख्यमंत्री महमूद खान ने संबंधित अधिकारियों से एक रिपोर्ट तलब की है.

अभी तक किसी भी समूह ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है. जांच चल रही है. एक अन्य हालिया घटना में प्रांत (Khyber Pakhtunkhwa) में एक बम विस्फोट में एक ठेकेदार की मौत हो गई. द न्यूज इंटरनेशनल के मुताबिक सोमवार को दक्षिण वजीरिस्तान में बिरमिल तहसील के आजम वारसाक इलाके में धमाका हुआ. इसमें कहा गया है कि मोहम्मद अनवर सुलीमानखेल के रूप में पहचाने जाने वाले ठेकेदार कथित तौर पर अपनी कार से घर जा रहे थे जब विस्फोट हुआ.

जिला पुलिस अधिकारी ने मामले की पुष्टि

जिला पुलिस अधिकारी (DPO) खानजेब खान मोहमंद ने हमले की पुष्टि की. डॉन अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक प्रांत में एक अलग घटना (Khyber Pakhtunkhwa) में डेरा इस्माइल खान जिले के चश्मा रोड पर ताज कॉलोनी में एक मदरसे पर अज्ञात लोगों द्वारा ग्रेनेड फेंके जाने से दो छात्र और एक शिक्षक घायल हो गए.

सदर पुलिस थाने के अधिकारियों के हवाले से प्रकाशन ने कहा कि विस्फोट में दो छात्र और एक शिक्षक घायल हो गए. प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, ग्रेनेड फटने से मदरसा और आसपास की इमारतों की खिड़की के शीशे टूट गए.

हाल ही में हुई थी पुलिस कर्मी की मौत

बता दें की, पाकिस्तान के आंतरिक मंत्री ने एक हमले की पहचान की है जिसमें राजधानी इस्लामाबाद में एक पुलिसकर्मी की मौत हो गई थी. एक रात पहले एक सुरक्षा चौकी पर बंदूक हमले में मारे गए पुलिस अधिकारी के अंतिम संस्कार में मंगलवार को बोलते हुए, आंतरिक मंत्री शेख रशीद अहमद ने कहा था कि हमलावरों ने लक्षित हमले में पुलिस अधिकारियों पर गोलियां चलाईं थीं.

उन्होंने कहा था की, “यह डकैती या डकैती का मुद्दा नहीं था. यह विशुद्ध रूप से आतंकवाद का मुद्दा है.” इस्लामाबाद में पुलिस अधिकारियों ने एक बयान में कहा कि हमले में दो पुलिस अधिकारी भी घायल हो गए. बयान में कहा गया था कि हमलावरों के शुरुआती विस्फोट के बाद हुई गोलीबारी में दो हमलावर मारे गए.

एएफपी समाचार एजेंसी ने तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान सशस्त्र समूह के हवाले से हमले की जिम्मेदारी ली थी. एएफपी ने एक बयान में समूह के हवाले से कहा, “हमें इन नायकों पर गर्व है और हमारे लड़ाके उनके नक्शेकदम पर चलते रहेंगे.”

टीटीपी ने अपनी स्थापना के बाद से देश भर में आत्मघाती हमलों, बमबारी और लक्षित बंदूक हमलों को अंजाम देते हुए पाकिस्तान की सरकार और नागरिकों के खिलाफ युद्ध छेड़ा. जिसमें पाकिस्तान के इतिहास के कुछ सबसे घातक हमले भी शामिल थे.

One thought on “पाकिस्तान के Khyber Pakhtunkhwa में हुआ ब्लास्ट, 5 लोगों की हुई मौत”
  1. […] पाकिस्तान में हिंदू और ईसाई समूहों की स्थिति सामान्य रूप से खराब है, लेकिन इन समुदायों की महिलाएं अधिकारियों, राजनीतिक समूहों, धार्मिक दलों, सामंती ढांचे और मुस्लिम बहुसंख्यक के भेदभावपूर्ण रवैये की सबसे बुरी शिकार हैं. […]

Leave a Reply

Your email address will not be published.