Kerala: भारत में दिखने लगा Monkeypox का ख़तरा, केरल में मिला पहला केस

Kerala: कोरोना वायरस (Covid-19) ने जो महामारी पूरी दुनिया में मचाई थी अभी उसे अभी कोई भूला नहीं है. अब मंकीपॉक्स (Monkeypox) दुनिया भर में तबाही मचा रहा है. इसी बीच अब मंकीपॉक्स (Monkeypox) का पहला मामला भारत (India) में भी मिला है. ये मामला केरल (Kerala) में मिला है. केरल के स्वास्थ्य मंत्री वीना जार्ज (Veena George) ने न्यूज एजेंसी ANI से बताया कि कुछ दिन पहले पीड़ित शख्स यूएई (UAE) गया था.

केरल में मिला मंकीपॉक्स का पहला मामला

ANI से मिली जानकारी के मुताबिक, केरल में मंकीपॉक्स का पहला मामला सामने आने से सरकार की भी चिंताएँ बढ़ गई हैं. केरल (Monkeypox In Kerala) के कोल्ल्म (Kollam) जिले में मंकीपॉक्स (Monkeypox) का ये पहला मामला सामने आया है. केरल के स्वास्थ्य मंत्री वीना जार्ज (Veena George) का कहना है की, जिस शख्स में मंकीपॉक्स (Monkeypox) के लक्षण दिखें हैं वो हालही में UAE से वापस आया है.

स्वास्थ्य मंत्री वीना जार्ज (Veena George) का कहना है की जब उस पीड़ित शख्स का टेस्ट करवाया गया तो वो पॉजिटिव निकला. इसके साथ ही  उन्होंने कहा कि उनके नजदीकी संपर्कों की भी पहचान की गई है. जिनमें उनके पिता, मां, एक टैक्सी चालक, एक ऑटो चालक और बगल की सीटों के 11 साथी यात्री शामिल हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Ministry of Health & Family Welfare) ने कोल्लम (Kollam) जिले में मंकीपॉक्स का मरीज मिलने के बाद एक मल्टी डिसिप्लिनरी टीम को केरल भेजा है.

अलर्ट मोड में केंद्र सरकार

केंद्र सरकार को जब इस मामले का पता चला तब केंद्र सरकार ने राज्य की सहायता के लिए एक टीम भेजी है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जिसमें राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र (एनसीडीसी) के विशेषज्ञ शामिल हैं. केंद्र सरकार ने सभी राज्य सरकारों को अलर्ट (Alert) में रहने के लिए कहा है. ऐसा बताया जा रहा है की मंकीपॉक्स (Monkeypox) के मामले अफ्रीका से बहर बहुत कम ही पाए गए हैं.

केंद्र सरकार मई में पहले से इसको लेकर अलर्ट जारी कर चुगा है. भारत सरकार स्थिति की सावधानीपूर्वक निगरानी कर रही है. केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव (Union Health Secretary) ने राज्यों को चिट्ठी लिखकर मंकीपॉक्स (Monkeypox) के लिए बनी गाइडलाइंस का पालन करने के लिए कहा है. मिली जानकारी के मुताबिक, इससे पहले पश्चिम बंगाल (West Bengal) के कोलकाता (Kolkata) में भी मंकीपॉक्स का संदिग्ध मामला सामने आया था. हालांकि, बाद में उसकी टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आई थी.

WHO ने भी दी हिदायत

ANI की ख़बर के मुताबिक, WHO ने कुछ दिन पहले ही एक बैठक के बाद कहा था कि मंकीपॉक्स फिलहाल अंतर्राष्ट्रीय चिंता का विषय नहीं है. बता दें की, WHO के महानिदेशक इस बीमारी को लेकर आईएचआर (IHR) की बात से सहमत हैं. हालाँकि, मंकीपॉक्स को लेकर WHO ने सतर्कता बरतने के लिए कहा है. लेकिन इसको विश्व स्तर की बीमारी नहीं घोषित किया है.

कुछ समय पहले डब्ल्यूएचओ (WHO) के महानिदेशक टेड्रोस एडनाम घेब्येयियस (Tedros Adhanom Ghebreyesus) ने मंकीपाक्स (Monkeypox) को लेकर अपनी चिंता जरूर जाहिर की थी. उनका कहना था की ये बीमारी ज्यादा तर देशों में न फैले इस लिए हमको पहले से इस पर सख्ति बरतनी पड़ेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.