September 25, 2022
Karnataka सरकार ने लिया बड़ा फैसला, 34,432 करोड़ रुपये के निवेश प्रस्तावों को दी मंजूरी

Karnataka सरकार ने लिया बड़ा फैसला, 34,432 करोड़ रुपये के निवेश प्रस्तावों को दी मंजूरी

Spread the love

Karnataka: कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई की अध्यक्षता वाली कर्नाटक (Karnataka) राज्य उच्च स्तरीय मंजूरी समिति ने 34,432.46 करोड़ रुपये के कुल निवेश के साथ 18 परियोजनाओं को मंजूरी दी है. समिति की 59वीं बैठक में मंजूरी मिली. परियोजनाओं से 48,850 लोगों के लिए रोजगार के अवसर पैदा होने की उम्मीद है.

कर्नाटक सरकार ने इन चीजों को दी मंजूरी

ANI से मिली अधिकारिक जानकारी के मुताबिक, कर्नाटक (Karnataka) राज्य उच्च स्तरीय मंजूरी समिति ने 34,432.46 करोड़ रुपये के कुल निवेश के साथ 18 परियोजनाओं को मंजूरी दी है. ये कर्नाटक राज्य के लिए एक बड़े तोहफे के रूप में उनको मिला है.

बता दें की, परियोजनाओं में टोयोटा से एक और मौजूदा इकाइयों से 10 अतिरिक्त निवेश प्रस्तावों सहित 8 नए औद्योगिक प्रतिष्ठान शामिल हैं. बैठक के बाद बोलते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, “इथेनॉल, एयरोस्पेस, सेमीकंडक्टर्स, मशीन निर्माण, स्टील और ऑटोमोबाइल सेक्टर के उद्योग निवेश के लिए आगे आए हैं और उन्हें मंजूरी दे दी गई है.”

जिन प्रमुख परियोजनाओं को मंजूरी दी गई है. उनमें टोयोटा किर्लोस्कर मोटर प्राइवेट लिमिटेड (3661 करोड़ रुपये), ट्रूल्स बायोएनेर्जी लिमिटेड-इथेनॉल प्लांट शामिल हैं. जिनकी कीमत 1856 करोड़ है.

मिली जानकारी के मुताबिक, सेमीकंडक्टर क्षेत्र के उद्योगों में, राज्य ने एप्लाइड मैटेरियल्स इंडिया (1573 करोड़ रुपये) को मंजूरी दी है. अन्य स्वीकृतियों में कार्ल ज़ीस इंडिया प्राइवेट द्वारा चिकित्सा उपकरण और तमाशा लेंस शामिल थे.

स्वीकृतियों में ये भी है शामिल

बता दें की, स्वीकृतियों में एमवी फोटोवोल्टिक पावर लिमिटेड (सौर पैनल, 232 करोड़ रुपये), श्री रेणुका शुगर्स (इथेनॉल, 775 करोड़ रुपये), चिदानंद बसवप्रभु कोरे कॉप (इथेनॉल 270 करोड़ रुपये) भी शामिल हैं.

बैठक में वृहद एवं मध्यम उद्योग मंत्री मुरुगेश निरानी, ​​जल संसाधन मंत्री गोविंद करजोल, चीनी मंत्री शंकर पाटिल मुनेनकोप्पा, उद्यान मंत्री मुनीरत्न और वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे. 34,432 करोड़ रुपये के निवेश की वजह से कर्नाटक को एक नै राह मिलेगी.

कर्नाटक सरकार और कर्नाटक राज्य अपनी एक अलग पहचान रखतें हैं. वहां पर हो रहे विकास के लिए जनता मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई को भगवान मानती है. इसके पहले भी सरकार कई निवेश परियोजनाओं का एलान कर चुगी है.

जानकारी के लिए बता दें की, इसके पहले कर्नाटक सरकार ने शुक्रवार को 3,829.46 करोड़ रुपये की 61 औद्योगिक परियोजनाओं को मंजूरी दी थी. इससे 19,510 लोगों के लिए रोजगार के अवसर सृजित होने की बात सरकार ने साझा की थी.

सियासी रूप से भी कर्नाटक सरकार रुख है अलग

जानकारी के लिए बता दें की, अभी हाल ही में मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई के विपक्षी नेता और  राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी भाजपा पर निशाना साधा था. कर्नाटक में हत्या की घटनाओं से तनाव को लेकर और योगी मॉडल को लेकर उन्होंने कहा था की, भाजपा को राज्य के लिए आपदा है.

बता दें की, उन्होंने कहा, ‘अगर एक हजार मोदी भी कर्नाटक आ जाएंगे, तो उनका मॉडल काम नहीं करने वाला.’ उन्होंने उत्तर प्रदेश से जुड़ी बुलडोजर की खबरों का भी जिक्र किया और सरकार को चेतावनी दी थी. इसके आगे उन्होंने कहा की, ‘अगर वे उस कल्चर को कर्नाटक में लेकर आएंगे, तो भाजपा को राज्य से उखाड़कर बाहर फेंक दिया जाएगा.’

जानकारी के लिए बता दें की, ये विवाद इसलिए हुआ था क्योंकि, मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने गुरुवार को कहा कि अगर स्थिति की मांग हुई तो उत्तर प्रदेश में चल रही सरकार के ”योगी मॉडल” को राज्य में अशांति फैलाने की कोशिश कर रहे राष्ट्र विरोधी और सांप्रदायिक तत्वों से निपटने के लिए अपनाया जा सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.