Joe Biden: अमेरिकी राष्ट्रपति Joe Biden ने पाकिस्तान को 45 करोड़ डॉलर के एफ-16 बेड़े के रखरखाव कार्यक्रम को दी मंजूरी

Joe Biden: रक्षा सुरक्षा सहयोग एजेंसी ने बुधवार को कहा कि संयुक्त राज्य अमेरिका (Joe Biden) ने पाकिस्तान को 450 मिलियन अमरीकी डालर की अनुमानित लागत के लिए एफ-16 केस फॉर सस्टेनमेंट और संबंधित उपकरणों की बिक्री को मंजूरी दी है.

पूर्व राष्ट्रपति के फैसले को मौजूदा राष्ट्रपति ने बदला

ANI से मिली जानकारी के मुताबिक, अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने पाकिस्तान को मंजूरी देने से इनकार कर दिया था. लेकिन मौजूदा राष्ट्रपति बिडेन (Joe Biden) ने पाकिस्तान को मंजूरी दे दी है. पाकिस्तान को पहली बड़ी सुरक्षा सहायता में बाइडेन प्रशासन ने पिछली सरकार द्वारा लिए गए निर्णय को उलट दिया.

2018 में, डोनल ट्रम्प ने पाकिस्तान को सभी रक्षा और सुरक्षा सहायता बंद कर दी. यह आरोप लगाते हुए कि इस्लामाबाद आतंकवाद के खिलाफ उसकी लड़ाई में भागीदार नहीं था. अमेरिकी रक्षा सुरक्षा सहयोग एजेंसी (डीएससीए) ने एक बयान में कहा की,

“विदेश विभाग ने 450 मिलियन अमरीकी डालर की अनुमानित लागत के लिए एफ -16 केस फॉर सस्टेनमेंट और संबंधित उपकरणों की पाकिस्तान सरकार को संभावित विदेशी सैन्य बिक्री को मंजूरी देने का दृढ़ संकल्प किया है. रक्षा सुरक्षा सहयोग एजेंसी ने आज इस संभावित बिक्री के बारे में कांग्रेस को सूचित करते हुए आवश्यक प्रमाणीकरण दिया.”

DSCA ने कहा कि पाकिस्तान सरकार ने डुप्लिकेट केस गतिविधियों को कम करके और अतिरिक्त निरंतर समर्थन तत्वों को जोड़कर पाकिस्तान वायु सेना F-16 बेड़े का समर्थन करने के लिए पूर्व F-16 निरंतरता और समर्थन मामलों को मजबूत करने का अनुरोध किया है.

एफ-16 विमान होगी अहम भागीदारी

रक्षा सहायता में शामिल होंगे एफ-16 विमान संरचनात्मक अखंडता कार्यक्रम में भागीदारी. इलेक्ट्रॉनिक लड़ाकू अंतर्राष्ट्रीय सुरक्षा सहायता कार्यक्रम, इंजन घटक सुधार कार्यक्रम और अन्य तकनीकी समन्वय समूह विमान और इंजन हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर संशोधन और समर्थन विमान और इंजन स्पेयर मरम्मत/वापसी भागों सहायक उपकरण और समर्थन उपकरण और वर्गीकृत और अवर्गीकृत सॉफ़्टवेयर और सॉफ़्टवेयर समर्थन.

हालांकि, अमेरिकी रक्षा एजेंसी ने यह कहना जारी रखा कि प्रस्तावित बिक्री में कोई नई क्षमता, हथियार या युद्ध सामग्री शामिल नहीं है. एजेंसी ने कहा, “यह प्रस्तावित बिक्री संयुक्त राज्य अमेरिका की विदेश नीति और राष्ट्रीय सुरक्षा उद्देश्यों का समर्थन करेगी. जिससे पाकिस्तान को आतंकवाद के खिलाफ चल रहे प्रयासों और भविष्य के आकस्मिक अभियानों की तैयारी में अमेरिका और सहयोगी बलों के साथ अंतःक्रियाशीलता बनाए रखने की अनुमति मिलेगी.”

अमेरिकी रक्षा एजेंसी ने कहीं ये बातें

बता दें की, अमेरिकी रक्षा एजेंसी ने आगे कहा की, प्रस्तावित बिक्री पाकिस्तान के F-16 बेड़े की निरंतरता को जारी रखेगी. जो अपनी मजबूत हवा से जमीन की क्षमता के माध्यम से आतंकवाद विरोधी अभियानों का समर्थन करने की पाकिस्तान की क्षमता में काफी सुधार करता है. पाकिस्तान को इन वस्तुओं और सेवाओं को अपने सशस्त्र बलों में समाहित करने में कोई कठिनाई नहीं होगी.”

डीएससीए ने यह भी कहा कि इस उपकरण और समर्थन की प्रस्तावित बिक्री से क्षेत्र में बुनियादी सैन्य संतुलन में कोई बदलाव नहीं आएगा. वैसे बता दें की, जानकार ऐसा मानते हैं की अमेरिका सिर्फ पाकिस्तान से दूर होने का दिखावा करता है. लेकिन असल में ऐसा नहीं है. असलियत में अमेरिका पाकिस्तान की कदम कदम पर मदद करता रहता है.

2 thoughts on “अमेरिकी राष्ट्रपति Joe Biden ने पाकिस्तान को 45 करोड़ डॉलर के एफ-16 बेड़े के रखरखाव कार्यक्रम को दी मंजूरी”

Leave a Reply