Joe Biden और Macron ने कहा की, यूक्रेन में बर्बादी का ज़िम्मेदार सिर्फ रूस है

Joe Biden: अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन (Joe Biden) ने गुरुवार को व्हाइट हाउस में फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों की मेजबानी की है. 2017 में फ्रांस के राष्ट्रपति बनने के बाद मैक्रों की यह दूसरी अमेरिका यात्रा थी. बैठक का बड़ा मुद्दा रूस-यूक्रेन युद्ध और अमेरिकी सब्सिडी था. जिसे मैक्रॉन ने यूरोपीय देशों के खिलाफ अति आक्रामक करार दिया है.

Joe Biden ने कहीं ये बातें

इंडिया टुडे से मिली जानकारी के मुताबिक, संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति जो बिडेन (Joe Biden) और फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन ने गुरुवार को चीन की चुनौती पर समन्वय करने की कसम खाई और ताइवान स्ट्रेट पर स्थिरता का आह्वान किया है.

जारी संयुक्त बयान में कहा गया है, “संयुक्त राज्य अमेरिका और फ्रांस मानव अधिकारों के सम्मान सहित नियम-आधारित अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था के लिए चीन की चुनौती के संबंध में हमारी चिंताओं पर समन्वय करना जारी रखेंगे और जलवायु परिवर्तन जैसे महत्वपूर्ण वैश्विक मुद्दों पर चीन के साथ मिलकर काम करेंगे.”

यूरोप के साथ अच्छे संबंधों को पेश करते दिखे अमेरिकी राष्ट्रपति

बताया जा रहा है की, राष्ट्रपति जो बिडेन (Joe Biden) यूरोप के साथ अच्छे संबंधों को पेश करते दिखे. लेकिन रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ बातचीत शुरू करने के लिए दोनों नेताओं ने अलग-अलग शर्तें रखी थीं.

Joe Biden और Macron ने कहा की, यूक्रेन में बर्बादी का ज़िम्मेदार सिर्फ रूस है
Joe Biden और Macron ने कहा की, यूक्रेन में बर्बादी का ज़िम्मेदार सिर्फ रूस है

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बिडेन (Joe Biden) ने मैक्रों के साथ एक संवाददाता सम्मेलन में कहा है की, “मुझे अपने शब्दों को बहुत सावधानी से चुनने दें. मैं श्रीमान पुतिन के साथ बात करने के लिए तैयार हूं, अगर वास्तव में उन्हें यह निर्णय लेने में दिलचस्पी है कि वह युद्ध को समाप्त करने का रास्ता तलाश रहे हैं. उन्होंने अभी तक ऐसा नहीं किया है.”

इस बात पर राष्ट्रपति मैक्रॉन ने व्यक्त की चिंता

राष्ट्रपति मैक्रॉन ने राष्ट्रपति बिडेन (Joe Biden) के मुद्रास्फीति न्यूनीकरण अधिनियम (IRA) पर चिंता व्यक्त की है. (यह एक बिल है जो अमेरिकी उत्पादों को बड़े पैमाने पर सब्सिडी देता है. और जलवायु संकट को दूर करने के लिए बनाया गया है.)

समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने राष्ट्रपति मैक्रॉन के हवाले से कहा, “फ्रांस अपनी अर्थव्यवस्था के लिए किसी तरह के अपवाद की मांग करने के लिए यहां नहीं आया था. हम यह साझा करने आए थे कि इस विनियमन (consequences) के परिणाम हमें कैसे प्रभावित करते हैं.”

यह बिल गैर-अमेरिकी कंपनियों को करता है हतोत्साहित

यूरोपीय नेताओं का कहना है कि अगस्त में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन द्वारा हस्ताक्षरित विधायी पैकेज (legislative package) गैर-अमेरिकी कंपनियों के लिए अनुचित है और यह उनकी अर्थव्यवस्थाओं के लिए एक गंभीर झटका होगा. क्योंकि यूरोप रूस के फरवरी में यूक्रेन पर आक्रमण के नतीजे से निपट रहा है.

यूरोपीय नेताओं का मानना ​​है कि बिल गैर-अमेरिकी कंपनियों को हतोत्साहित करता है और यूरोप की अर्थव्यवस्था को और आगे बढ़ाएगा. जो कि यूक्रेन के आक्रमण के बाद पहले से ही एक मुक्त गिरावट पर है. और अधिक जर्जर स्थिति में है.

 

Leave a Reply