September 26, 2022
Jawzjan: अफगानिस्तान के प्रांत जावजान में 4,000 लोग हैज़ा के हुए शिकार

Jawzjan: अफगानिस्तान के प्रांत जावजान में 4,000 लोग हैज़ा के हुए शिकार

Spread the love

अफगानिस्तान के प्रांतीय सार्वजनिक अस्पताल के एक वरिष्ठ अधिकारी गौसुद्दीन (Ghawsuddin Anwari) अनवारी ने कहा की, “अक्चा (Aqcha) जिले में 1,000 लोग हैजा से प्रभावित हुए हैं.

जबकि प्रांत की राजधानी शिबरघन (Shiberghan) में 3,000 अन्य लोग इस बीमारी से संक्रमित हो गए हैं.” बता दें की, हैज़ा तेजी से फैलने के बावजूद अब तक प्रांत (Jawzjan) में किसी की मौत नहीं हुई है. लेकिन मामले अभी भी बढ़ रहे हैं.

अफगानिस्तान में फैला हैज़ा

ANI की खबर के अनुसार, अफगानिस्तान के प्रांत जावजान (Jawzjan) में 4 हज़ार लोग हैज़ा से संक्रमित हो गए हैं. अधिकारिक जानकारी की माने तो ज्यादातर मरीज अक्चा (Aqcha) जिले के हैं. जहां साफ पानी की कमी है. प्रांत के स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि 100 बिस्तरों वाला एक अस्पताल हैजा से प्रभावित रोगियों को समर्पित किया गया है. और इसमें जरूरत पड़ने पर 500 रोगियों को भर्ती करने की क्षमता है.

बता दें की, हेलमंद प्रांत (Helmand province) में हैजा (cholera) से कम से कम 20 बच्चों की मौत हो गई है. दक्षिणी कंधार प्रांत (southern Kandahar province) में एक सप्ताह में महिलाओं और बच्चों सहित 180 लोग इस बीमारी से संक्रमित हुए. मामलों को देखते हुए, डॉक्टरों ने नागरिकों से एहतियाती उपाय करने और हैजा और दस्त जैसे संक्रमणों को रोकने का आग्रह किया है. टोलो न्यूज ने बताया कि काबुल के संक्रामक रोग अस्पताल के एक चिकित्सक मोहम्मद नईम अकबरी ने कहा कि अन्य मौसमी बीमारियों में सर्दी, मलेरिया और खसरा शामिल हैं.

डॉ अब्दुलरहमान जवाद ने कहा है की, ‘साल के इस मौसम में डायरिया के मामले बढ़े हैं. काबुल के (संक्रामक रोगों) अस्पताल में लगभग 1,000 से 1,500 लोगों को लाया जाता है और हर डॉक्टर एक दिन में लगभग 50 से 60 रोगियों का दौरा करता है. डॉक्टरों ने कहा कि गर्म मौसम और व्यक्तिगत स्वच्छता के प्रति असावधानी के कारण मौसमी बीमारियों में वृद्धि हुई है.

पानी में रखनी है सफ़ाई

डॉ अब्दुलरहमान जवाद ने हिदायत दी है की, “हैज़ा से बचने के लिए लोगों को अशुद्ध पानी नहीं पीना चाहिए. उन्हें सब्जियों को धोना चाहिए और उन्हें पांच मिनट के लिए नमकीन पानी में भिगोना चाहिए. स्थानीय मीडिया ने बताया कि कई बच्चों के अचानक संक्रमित होने के बाद उनके माता-पिता उन्हें काबुल अस्पताल में इलाज के लिए ले गए.”

एक स्थानीय जुहल ने बताया की, “मेरे बेटे को बीमार हुए कुछ समय हो गया है. उसे ठंड लग गई है.” इससे पहले, शनिवार को अफगानिस्तान (Afganistan) में हाल ही में हैजा जैसे प्रकोप में 600 से अधिक लोग संक्रमित पाए गए थे और लगभग 15 लोगों की मौत हो गई थी. बता दें की, स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि गंभीर दस्त और जी मिचलाने वाली यह बीमारी दश्त, गिरो ​​जॉय, टाक, शिना और अन्य क्षेत्रों के छोटे गांवों में पिछले एक हफ्ते से फैल रही है.

अफगानिस्तान में इतनी बड़ी संख्या में हैज़ा के मरीज़ मिलने में हाहाकार मच गया है. जिसकी वजह से अब वहां की सरकार ने कई एतियात कदम उठाये हैं. स्वस्थ्य अधिकारीयों का कहना है सफाई का सबसे ज्यादा ध्यान रखना है. क्योंकि गंदगी की वजह से ऐसी बीमारियाँ ज्यादा फ़ैल रहीं हैं. इसकी रोकथाम ज्यादा ज़रूरी हो गयी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.