September 29, 2022
Israel: ईरान ने हमले की योजना बना रहे इजराइल सेल के संदिग्ध सदस्य को किया गिरफ्तार

Israel: ईरान ने हमले की योजना बना रहे इजराइल सेल के संदिग्ध सदस्य को किया गिरफ्तार

Spread the love

Israel: ईरान (Iran) का कहना है कि उसके ख़ुफ़िया बलों ने मध्य ईरानी शहर इस्फ़हान में एक बड़े आतंकवादी बमबारी अभियान को अंजाम देने की कथित रूप से योजना बनाने से कुछ घंटे पहले एक इज़राइली (Israel) सेल के संदिग्ध सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया है.बता दें की, ईरान के खुफिया मंत्रालय ने शनिवार रात एक संक्षिप्त बयान में कहा कि उसने अपनी राष्ट्रीयताओं का खुलासा किए बिना, इजरायल की जासूसी एजेंसी मोसाद के आदेशों के तहत काम करने वाले अनिर्दिष्ट व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है.

ईरान की तरफ से आया ये अधिकारिक बयान

Aljazeera से मिली जानकारी के मुताबिक, ईरान की तरफ से आए आधिकारिक बयान में ये कहा गया की, “नेटवर्क के सदस्यों ने अत्याधुनिक परिचालन और संचार उपकरण और शक्तिशाली विस्फोटकों का इस्तेमाल किया है. और कुछ पूर्व-निर्धारित संवेदनशील क्षेत्रों और लक्ष्यों में एक अभूतपूर्व तोड़फोड़ और आतंकवादी अभियान चलाना चाहते थे.”

बता दें की, रविवार को, ईरान (Iran) की सर्वोच्च राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद से संबद्ध एक आउटलेट नॉरन्यूज़ ने कहा कि, “गिरफ्तार समूह इस्फ़हान में एक अनिर्दिष्ट संवेदनशील केंद्र को उड़ाने की राह पर था. जिसमें अन्य चीजों के अलावा देश की मुख्य परमाणु सुविधाएं हैं.” मिली जानकारी के मुताबिक, इस्फ़हान में नटानज़ परमाणु सुविधाओं को 2020 और 2021 में दो बड़े तोड़फोड़ हमलों द्वारा लक्षित किया गया था. जिसकी ईरान ने परमाणु आतंकवाद (nuclear terrorism) के रूप में निंदा की थी.

रिपोर्ट्स की माने तो, आउटलेट ने कहा, “इस नेटवर्क के लिए झटका देश के अंदर या बाहर ईरान के खुफिया तंत्र के सबसे जटिल संचालन में से एक के परिणामस्वरूप महसूस किया गया था.” इसके अलावा नोरन्यूज़ के अनुसार, समूह ने महीनों तक एक अनाम अफ्रीकी देश में प्रशिक्षण लिया था. जहां इसके सदस्यों ने ऑपरेशन का अनुकरण किया. और फिर पड़ोसी इराक के कुर्द क्षेत्र के माध्यम से ईरान में प्रवेश किया गया.

अंतिम अंजाम के कुछ घंटो पहले ही किया गया गिरफ्तार

अधिकारिक बयान की माने तो, आतंकवादी पहले से ही उच्च प्रभाव वाले विस्फोटक लगाए थे और अंतिम अभियान को अंजाम देने से कुछ ही घंटे दूर थे जब उन्हें गिरफ्तार किया गया था. ऐसा बताया जा रहा है की,  यह खबर कट्टर दुश्मन इजरायल (Israel) के साथ तेज तनाव के बीच आई है. जिसने ईरान को किसी भी कीमत पर परमाणु हथियार हासिल करने से रोकने का वादा किया है. क्योंकि मार्च से 2015 के परमाणु समझौते को बहाल करने के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका के साथ अप्रत्यक्ष वार्ता रुकी हुई है.

अपने हिस्से के लिए, ईरान ने लगातार यह सुनिश्चित किया है कि वह कभी भी परमाणु बम की तलाश नहीं करेगा. यह कहते हुए कि अगर इजरायल हमला करता है तो वह जवाब देने का अधिकार सुरक्षित है. ईरानी अधिकारियों ने पिछले महीने यह भी घोषणा की थी कि मोसाद के साथ काम करने के संदेह में अप्रैल में गिरफ्तार किए गए तीन लोगों ने कुछ ईरानी परमाणु वैज्ञानिकों को मारने की योजना बनाई थी.

जानकारी के मुताबिक, ईरान ने बदला लेने की कसम खाकर मई में तेहरान शहर में इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड कॉर्प्स (IRGC) के कर्नल हसन सैय्यद खोदेई की हत्या का आरोप लगाया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.