Islamic Jihad के चलते ईरान ने इजराइल को धमकाया और कहा, 'इजरायल को भुगतना होगा अंजाम...'

Islamic Jihad: इजरायल और फिलिस्तीन के बीच लगातार तनाव जारी है. दोनों एक दूसरे पर रॉकेट बरसा रहे हैं. बता दें की, इजरायल के गाजा पर हमले के बाद ईरान ने चेतावनी दी है.

ईरान इजराइल फिर आमने सामने

ANI से मिली जानकारी के मुताबिक, “ऑपरेशन ब्रेकिंग डॉन” रविवार को अपने तीसरे दिन में प्रवेश कर गया है. इजरायली सेना द्वारा गाजा पट्टी में अब तक दर्जनों फिलीस्तीनी इस्लामिक जिहाद (Islamic Jihad)  लक्ष्यों को निशाना बनाया गया है.

इसका जिहाद (Islamic Jihad) ने रॉकेटों की बौछार से जवाब दिया है. हताहतों की संख्या अपेक्षाकृत बनी हुई. इस बीच सवाल ये उठ रहा है की, क्या हमास जो जिहाद से बहुत बड़ा और मजबूत संगठन है. मैदान में शामिल होगा और स्थिति युद्ध में बदल जाएगी.

गाजा के साथ इजरायल की सीमा पर कई दिनों के तनाव के बाद, इजरायल के रक्षा बलों ने शिन बेट (सुरक्षा सेवाओं) पर कार्रवाई करते हुए ईरान समर्थित इस्लामिक जिहाद द्वारा आसन्न हमलों के बारे में जानकारी दी है.

बता दें की, शुक्रवार को एक पूर्व-खाली हड़ताल शुरू की जिसमें तैसिर अल-जबारी, उत्तरी गाजा में जिहाद का शीर्ष नेता मारा गया है. एक इजरायली मिसाइल ने फिलिस्तीन टॉवर अपार्टमेंट की इमारत को ध्वस्त कर दिया.  मलबे के नीचे अल-जबरी को दफन कर दिया.

450 से अधिक दागे गए रॉकेट

अधिकारिक जानकारी की माने तो, जिहाद ने आस-पास के इजरायली शहरों में 450 से अधिक रॉकेट दागकर प्रतिक्रिया व्यक्त की, जिनमें से अधिकांश को इजरायल के आयरन डोम डिफेंस सिस्टम द्वारा इंटरसेप्ट किया गया था. अब तक, इस्लामिक जिहाद के रॉकेटों से कोई बड़ा हताहत या नुकसान नहीं हुआ है.

IRGC के मेजर-जनरल होसैन सलामी ने एक बयान में कहा, “आज, सभी इजराइल विरोधी जिहादी ताकतें एक साथ मिल कर यरुशलम को आजाद कराने और फिलिस्तीनी लोगों के अधिकारों को बनाए रखने के लिए काम कर रही हैं.”

गाजा में स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, रविवार दोपहर तक फिलीस्तीनी पक्ष में, छह बच्चों और चार महिलाओं सहित 31 फिलिस्तीनी थे. जबकि अन्य 260 लोग घायल हो गए थे. संयुक्त राष्ट्र ने यह भी बताया है कि कम से कम 31 परिवार बेघर हो गए हैं.

इजरायल की ओर से, इस्लामिक जिहाद द्वारा दागे गए रॉकेटों से कोई मौत नहीं हुई थी. लेकिन कई इजरायली नागरिकों को चोटों के लिए इलाज किया गया था.  उनमें से ज्यादातर नाबालिग थे. रॉकेट से बचने के लिए हजारों इजरायली बम आश्रयों या सुरक्षित कमरों में शरण लिए हुए थे. जिन क्षेत्रों में रॉकेट गिरे, वहां सैकड़ों आग लग गई.

पांच रॉकेट लांचरों को बनाया गया निशाना

मिली जानकारी के मुताबिक, इजरायली विमानों और टैंकों ने पांच रॉकेट लांचरों को निशाना बनाया और नष्ट कर दिया, साथ ही छह हथियार उत्पादन कार्यशालाओं, कई इस्लामिक जिहाद अवलोकन पदों और सुरंगों को इजरायल पर हमले शुरू करने के लिए आतंकवादी समूह द्वारा खोदा गया है.

इसके अलावा, इज़राइल ने इस्लामिक जिहाद के 20 सदस्यों को गिरफ्तार किया है जो गाजा के बाहर, हेब्रोन, रामल्लाह और वेस्ट बैंक के अन्य क्षेत्रों में सक्रिय थे. हमास के राजनीतिक प्रमुख इस्माइल हनीयेह ने मौजूदा संघर्ष के लिए इजरायल को जिम्मेदार ठहराया और जोर देकर कहा कि इजरायल लड़ाई की पूरी जिम्मेदारी लेता है.

बता दें की, यह उल्लेखनीय है कि उसने इजरायल के खिलाफ जवाबी कार्रवाई की धमकी नहीं दी. और मिस्र के मध्यस्थों के साथ टेलीफोन कॉल में उन्होंने शत्रुता को समाप्त करने के लिए उनके हस्तक्षेप के लिए कहा है.

One thought on “Islamic Jihad के चलते ईरान ने इजराइल को धमकाया और कहा, ‘इजरायल को भुगतना होगा अंजाम…’”

Leave a Reply

Your email address will not be published.