September 26, 2022
Iran कार आयात पर वर्षों से चले आ रहे प्रतिबंध को कर रहा ख़त्म

Iran कार आयात पर वर्षों से चले आ रहे प्रतिबंध को कर रहा ख़त्म

Spread the love

Iran: चार साल से अधिक समय के बाद, पहली विदेशी निर्मित कारों को महीनों के भीतर ईरान (Iran) में आयात किए जाने की उम्मीद है. इस उम्मीद के साथ कि इस कदम से एकाधिकार और सामर्थ्य के मुद्दों से परेशान अराजक बाजार में मदद मिल सकती है.

सड़क वाहनों के आयात को दी गई मंजूरी

अधिकारिक जानकारी के मुताबिक, पिछले हफ्ते राष्ट्रपति इब्राहिम रायसी की कैबिनेट ने आखिरकार विदेशी निर्मित सड़क वाहनों के आयात के लिए एक उप-कानून को मंजूरी दे दी. उनके प्रशासन द्वारा शुरू में आयात को हरी झंडी दिखाने के चार महीने से अधिक समय बाद दिखाई है.

रायसी के पूर्ववर्ती राष्ट्रपति हसन रूहानी ने जुलाई 2018 में आधिकारिक तौर पर पूरी तरह से निर्मित इकाई (सीबीयू) प्रारूप में आयात की जाने वाली कारों पर प्रतिबंध लगा दिया था. केवल पूरी तरह से नॉक-डाउन (सीकेडी) प्रारूप की अनुमति दी थी. जहां कारों को भागों में आयात किया जाता है.

बता दें की, यह निर्णय महीनों पहले विश्व शक्तियों के साथ देश के 2015 के परमाणु समझौते से संयुक्त राज्य अमेरिका द्वारा एकतरफा वापसी की प्रतिक्रिया थी. जिसके बाद सभी तरह के आर्थिक प्रतिबंधों की लहरें उठीं. जिससे मुद्रा संकट भी पैदा हो गया था.

चीनी वाहनों के सीकेडी आयात के लिए खुले दरवाज़े

जैसे ही प्रमुख पश्चिमी साझेदार ईरानी (Iran) बाजार से हट गए. इस कदम ने विभिन्न प्रकार के चीनी वाहनों के सीकेडी आयात के लिए भी दरवाजा खुला छोड़ दिया. जो कि बाजार में बाढ़ आ गई है.

लेकिन बाजार का एक बड़ा हिस्सा मुट्ठी भर स्थानीय वाहन निर्माताओं के नियंत्रण में रहता है. उनमें से प्रमुख राज्य द्वारा संचालित ईरान खोड्रो है. जो सबपर गुणों के साथ कार बनाने के लिए जिम्मेदार है. जो मुद्रा संकट और उसके बाद होने वाली प्रचंड मुद्रास्फीति के कारण तेजी से अप्रभावी हो गए हैं.

पुलिस अधिकारियों और विशेषज्ञों ने देश में घातक सड़क दुर्घटनाओं की अत्यधिक उच्च दर के लिए कुछ स्थानीय कारों को भी दोषी ठहराया है. विशेष रूप से अभी भी प्रचलित पुराने मॉडल जैसे ऑटोमेकर SAIPA का अब-डिमोशन किया गया है. जो मृत्यु के रथ के रूप में बदनाम हो गया.

सीकेडी (CKD) आयातित चीनी कारों में से कई औसत ईरानी के लिए भी अनुपलब्ध हैं. क्योंकि वे इसे उपभोक्ताओं के हाथों में अत्यधिक कीमतों पर बनाते हैं. अक्सर वास्तविक कीमतों से दोगुने से अधिक आयात पर लगाए गए उच्च टैरिफ के कारण स्थानीय उत्पादन की रक्षा और प्रोत्साहन के लिए प्रतीत होता है.

उच्च गुणवत्ता वाले वाहनों के लिए बाजार खुला

बता दें की, इस माहौल मे  कुछ लोगों को उम्मीद थी कि नए आयात के लिए उपनियम एक नीति के बारे में संकेत देगा. बाजार को बड़ी संख्या में उच्च गुणवत्ता वाले वाहनों के लिए खोल देगा.

लेकिन वाशिंगटन के प्रतिबंधों के साथ अभी भी ईरान की विदेशी मुद्रा आय धाराओं को निचोड़ा जा रहा है. और सामर्थ्य एक महत्वपूर्ण मुद्दा बना हुआ है. सरकार ने ऐसे नियम तैयार किए हैं. जिनका उद्देश्य लक्जरी आयात को दूर करना है.

कैबिनेट-अनुमोदित उपनियम में कहा गया है कि सेंट्रल बैंक ऑफ ईरान के माध्यम से आयात के लिए केवल 1 बिलियन यूरो ($ 1 बिलियन) आवंटित किया जाएगा. और सभी आयातित कारों को 20,000 यूरो के मूल्य पर कैप किया जाना चाहिए. जिसमें 10,000 यूरो से कम मूल्य की कारें होंगी. औसत उपभोक्ता को लाभ पहुंचाने के लिए सर्वोच्च प्राथमिकता दी गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.