September 29, 2022
Inflation: बांग्लादेश में जून में मुद्रास्फीति आठ साल के उच्च स्तर पर, 7.56 प्रतिशत पर पहुंची

Inflation: बांग्लादेश में जून में मुद्रास्फीति आठ साल के उच्च स्तर पर, 7.56 प्रतिशत पर पहुंची

Spread the love

Inflation: बांग्लादेश सांख्यिकी ब्यूरो (Bangladesh Bureau of Statistics) मंगलवार को प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, जून में बांग्लादेश की मुद्रास्फीति दर (Bangladesh’s Inflation Rate) बढ़कर 7.56 प्रतिशत हो गई है. जो आठ वर्षों में सबसे अधिक है. बता दें  की, इससे पहले मई में यह 7.42 फीसदी दर्ज किया गया था.

क्या कहा गया रिपोर्ट में

बांग्लादेश ब्यूरो ऑफ स्टैटिस्टिक्स की रिपोर्ट (Bangladesh Bureau of Statistics report), ढाका ट्रिब्यून ने कहा कि जून में इसने 0.14 प्रतिशत अंक की और छलांग लगाई है. बीबीएस द्वारा जारी उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) के अनुसार, देश में खाद्य मुद्रास्फीति जून में बढ़कर 8.37 प्रतिशत हो गई है. जबकि पिछले महीने यह 7.42 प्रतिशत थी. बता दें की, वित्त वर्ष 2012 के अंत में औसत मुद्रास्फीति (Inflation) दर 6.15 प्रतिशत थी. जो लक्ष्य से 0.85 प्रतिशत अधिक थी.

जानकारी के मुताबिक, बांग्लादेशी सरकार ने पिछले महीने 2022-23 वित्तीय वर्ष के लिए रिकॉर्ड लगभग 76.18 बिलियन अमेरिकी डॉलर राष्ट्रीय बजट की घोषणा की थी. और वित्तीय वर्ष के लिए औसत वार्षिक मुद्रास्फीति (Inflation) दर 5.6 प्रतिशत की घोषणा की थी.

यह आठ साल का उच्च स्तर गंभीर चिंता का विषय है क्योंकि कई लोग भोजन, किराए और उपयोगिताओं जैसी दैनिक आवश्यक चीजों के भुगतान के लिए संघर्ष कर रहे हैं. अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार में भी महंगाई अपने चरम पर है. कई देशों को भयंकर महंगाई का सामना करना पड़ रहा है. इस बीच, डॉलर के मुकाबले टका के मूल्य में भी गिरावट आई है. जिसको लेकर अब बांग्लादेश सरकार की चिंता बढ़ रही है. और वो लगातार इन हालातों को मॉनिटर कर रही है.

ग्रामीण परिवारों को हो रहा अधिक नुकसान

ANI से मिली जानकारी के मुताबिक, मूल्य वृद्धि शहरी उपभोक्ताओं की तुलना में ग्रामीण परिवारों को अधिक नुकसान पहुंचा रही है. ग्रामीण परिवारों के लिए गुज़ारा करना बेहद ही मुश्किल हो गया है. भारत के पड़ोसी देशों में दिनों मुसीबत आई हुई है. महंगाई की मार भारत के सभी पड़ोसी देश झेल रहें हैं. पाकिस्तान में महंगाई आसमान छू रही है. पाकिस्तान में कई बार लोगों द्वारा सरकार का विरोध करते देखा गया है.

हालाँकि, वहाँ पर पेट्रोल-डीजल को लेकर थोड़ी राहत सरकार ने दी है. उधर अगर बात करें श्रीलंका (Srilanka) की तो वहाँ पर 60 लाख से ज्यादा परिवार ऐसे हैं जिनको अपने अगले भोजन के बारे में नहीं पता होता. वहाँ के आर्थिक हालात सबसे ज्यादा दयनीय होते जा रहें है. वहीँ अगर बात करें बांग्लादेश (Bangladesh) की तो बांग्लादेश तो लेकर अर्थशास्त्रियों और अन्य विशेषज्ञों की चिंताएँ बढ़ गईं हैं.

विशेषज्ञों ने कहा है कि, “आवश्यक वस्तुओं की कीमत में कमी का कोई संकेत नहीं दिख रहा है. लोग गैर-आवश्यक उत्पादों की मांग में कटौती कर रहे हैं. जिसके दो से तीन महीने और जारी रहने पर विकास के गंभीर परिणाम होने की संभावना है.” कोविड -19 (Covid-19) आर्थिक (Economic) झटके के बाद बाजार में खाद्य और गैर-खाद्य दोनों तरह की वस्तुओं की मांग बढ़ रही है. कोरोना और रूस-यूक्रेन युद्ध की वजह से महंगाई की मार अब आम आदमी झेल रहा है. इसके चलते पेट्रोल-डीजल के दाम में बढौतरी भी हुई है.

1 thought on “Inflation: बांग्लादेश में जून में मुद्रास्फीति आठ साल के उच्च स्तर पर, 7.56 प्रतिशत पर पहुंची

Leave a Reply

Your email address will not be published.