India-Iran के रिश्ते हैं बहुत माजबूत, ईरान के उप विदेशमंत्री ने की भारत की तारीफ

India-Iran: ईरान के उप विदेश मंत्री अली बघेरी ने कहा कि ईरान भारत (India-Iran) की ऊर्जा जरूरतों को पूरा करने के लिए तैयार है. ईरान के उप विदेश मंत्री अली बघेरी ने कहा है कि, “दोनों देश आर्थिक क्षेत्र में विभिन्न प्रकार के सहयोग का आनंद लेते हैं. वे भागीदार हैं और एक दूसरे को पूरा करते हैं.”

आगे उन्होंने कहा है की,  “उनकी अर्थव्यवस्थाएं पूरक हैं. ईरान के पास विशाल ऊर्जा संसाधन हैं. और इस प्रकार यह भारत को ऊर्जा आपूर्ति प्रदान कर सकता है. और इसकी ऊर्जा सुरक्षा में योगदान करने में मदद कर सकता है. दूसरी ओर, भारत खाद्य स्टेपल का एक प्रमुख प्रदाता है. यह ईरान की खाद्य सुरक्षा में योगदान दे सकता है.”

India ने Iran से बंद कर दिया है तेल आयात

समाचार एजेंसी से मिली जानकारी के मुताबिक, ईरान (India-Iran) के तेल पर अमेरिकी प्रतिबंधों से पहले, ईरान भारत (India-Iran) को तेल के प्रमुख आपूर्तिकर्ताओं में से एक था. भारत सरकार ने 2019 में ईरान से तेल आयात बंद कर दिया था.

भारत-ईरान (India-Iran) वाणिज्यिक संबंध (commercial ties) परंपरागत रूप से ईरानी कच्चे तेल के भारतीय आयात पर हावी थे. 2018-19 में भारत ने ईरान से 12.11 बिलियन अमेरिकी डॉलर का कच्चा तेल आयात किया था. हालाँकि, 2 मई, 2019 को महत्वपूर्ण कमी छूट (Significant Reduction Exemption) की अवधि समाप्त होने के बाद, भारत ने ईरान (India-Iran) से कच्चे तेल का आयात निलंबित कर दिया है.

India-Iran के रिश्ते हैं बहुत माजबूत, ईरान के उप विदेशमंत्री ने की भारत की तारीफ
India-Iran के रिश्ते हैं बहुत माजबूत, ईरान के उप विदेशमंत्री ने की भारत की तारीफ

इतना हुआ था India-Iran के बीच व्यापार

2019-20 के दौरान द्विपक्षीय व्यापार 4.77 बिलियन अमेरिकी डॉलर था. जो 2018-19 के 17.03 बिलियन अमेरिकी डॉलर के व्यापार की तुलना में 71.99 प्रतिशत कम था. बता दें की, दोनों देशों के बीच ऐतिहासिक संबंधों पर जोर देते हुए ईरानी मंत्री ने कहा कि ईरान और भारत (India-Iran) के बीच सहयोग अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था में बहुपक्षवाद (multilateralism) के लिए बुनियादी ढांचे को मजबूत करेगा.

विदेश मंत्री बघेरी ने कहा है की, “आर्थिक सहयोग में एक दुसरे की मदद करने के लिए तेहरान और दिल्ली के बीच सहयोग के विभिन्न क्षेत्र हैं. द्विपक्षीय आर्थिक सहयोग के अलावा, हम अन्य देशों विशेष रूप से हमारे क्षेत्र में मदद करने के मामले में व्यापक सहयोग कर सकते हैं.”

ईरान के उप विदेश मंत्री अली बघेरी ने कही ये बातें

ईरान के उप विदेश मंत्री अली बघेरी ने कहा कि, “भारत और ईरान दोनों मध्य, दक्षिण और पश्चिम एशियाई क्षेत्रों में अपने पड़ोसियों के साथ क्षेत्रीय सहयोग में सक्रिय भूमिका निभा सकते हैं.”

उन्होंने कहा, “दोनों अर्थव्यवस्थाएं आर्थिक और तकनीकी क्षमताओं का आनंद लेती हैं. वे अपने क्षेत्र के देशों की मदद कर सकते हैं. विशेष रूप से अफगानिस्तान से अमेरिका और नाटो बलों की वापसी के बाद. हम अफगानिस्तान की मदद कर सकते हैं.”

उन्होंने तीन प्रमुख तेल आपूर्तिकर्ताओं ईरान, रूस और वेनेजुएला पर प्रतिबंध लगाने के लिए अमेरिका और अन्य पश्चिमी शक्तियों को भी फटकारा है. उन्होंने आगे कहा की, ईरान के साथ भारत के संबंध अद्वितीय और ऐतिहासिक हैं. ईरान एक महत्वपूर्ण साझेदार और पड़ोसी है. पिछले साल द्विपक्षीय संबंधों में तेजी आई थी. विदेश मंत्री ने दो बार तेहरान का दौरा किया और ईरानी नेतृत्व के साथ रचनात्मक बैठकें कीं हैं.

One thought on “India-Iran के रिश्ते हैं बहुत माजबूत, ईरान के उप विदेशमंत्री ने की भारत की तारीफ”

Leave a Reply