India: भारत में बिजली, भारी बारिश से हुई 36 लोगों की मौत

India: इस वक़्त बाढ़ और बारिश ने दुनिया भर में कहर बरपा रखा है. उत्तरी भारत (India) में पिछले 24 घंटों में खतरनाक मौसम ने कम से कम 36 लोगों की जान ले ली है. जिनमें 12 लोग बिजली गिरने से मारे गए हैं. राहत आयुक्त रणवीर प्रसाद ने कहा कि पूरे उत्तरी राज्य उत्तर प्रदेश में लगातार बारिश के दौरान घर गिरने से 24 लोगों की मौत हो गई है.

भारी बारिश ने मचाई तबाही

ANI से मिली जानकारी के मुताबिक, 15 वर्षीय मोहम्मद उस्मान, प्रयागराज शहर में अपने दोस्त की छत पर थे. जब शुक्रवार शाम को बिजली गिरी. बिजली गिरने से उनकी तुरंत मौत हो गई. उसका दोस्त अजनान बिजली गिरने की वजह से  घायल हो गया और उसका एक अस्पताल में इलाज चल रहा है.

उस्मान के पिता मोहम्मद अयूब ने कहा, “जैसे ही मेरे बेटे ने छत पर पैर रखा वो बिजली की चपेट में आ गया और मेरे बेटे की मौत हो गई.” अधिकारियों ने कहा कि राज्य में पिछले पांच दिनों में बिजली गिरने से 39 लोगों की मौत हो गई है. जिससे राज्य सरकार को नए दिशानिर्देश जारी करने पड़े हैं कि लोग आंधी के दौरान अपनी सुरक्षा कैसे कर सकते हैं.

वैसे तो मौसम वैज्ञानिकों का मानना है की जून से सितंबर तक चलने वाले भारत (India) के मानसून के मौसम के दौरान बिजली गिरना आम बात है. कर्नल संजय श्रीवास्तव, जिसका संगठन लाइटनिंग रेजिलिएंट इंडिया कैंपेन भारतीय मौसम विभाग के साथ काम करता है. उन्होंने कहा कि वनों की कटाई, पानी की कमी और प्रदूषण सभी जलवायु को खराब और दूषित करने में योगदान करते हैं. जिससे अधिक बिजली गिरती है.

ग्लोबल वार्मिंग के कारण गिरती है बिजली

सेंटर फॉर साइंस एंड एनवायरनमेंट की महानिदेशक सुनीता नारायण ने कहा कि ग्लोबल वार्मिंग के कारण अब कई जगह बिजली इतना गिरती है. सेंटर फॉर साइंस एंड एनवायरनमेंट की महानिदेशक सुनीता नारायण का कहना है की, तापमान में 1 डिग्री सेल्सियस की वृद्धि से बिजली 12 गुना बढ़ जाती है. बादलों में एक अरब वोल्ट तक बिजली होती है और जब वे टकराते हैं तो बिजली गिरती है. और इसकी वजह से इमारतों को भारी नुकसान पहुंचा सकता है.

पिछले एक साल में पूरे भारत में बिजली गिरने की घटनाओं में 34 प्रतिशत की वृद्धि हुई है. जिससे बिजली से मरने वालों की संख्या में भी इजाफा हुआ है. सरकारी आंकड़ों के अनुसार, संयुक्त राज्य अमेरिका (USA) में 45 लोगों की हर साल बिजली गिरने से मौत होती है. वहीँ भारत में हर साल बिजली गिरने से लगभग 2,500 लोग मारे जाते हैं.

बिजली गिरने से हाथियों की हुई मौत

पिछले साल, भारत के पूर्वोत्तर राज्य असम (India’s northeastern state of Assam) में 18 जंगली एशियाई हाथियों का एक झुंड मृत पाया गया था. उनके मरने का कारण बिजली गिरना बताया जाता है. जानकार बताते हैं कि शहरी क्षेत्रों में बिजली के झटके भी आम होते जा रहे हैं.

बिजली गिरना अब भारत में आम समस्या बनती जा रही है. ऐसी एक मामला सामने आया था जिसमें एक फैजुद्दीन नामक व्यक्ति ने बताया था की बारिश के मौसम में वो अपने दोस्तों के साथ घुमने गए थे जिसमें बिजली गिरने से उनके तीन दोस्तों की मौत तुरंत ही हो गई थी.

Leave a Reply