September 25, 2022
Independence Day: आज भारत ने रचा इतिहास, पहली बार मेड इन इंडिया तोप ने तिरंगे को दी सलामी

Independence Day: आज भारत ने रचा इतिहास, पहली बार मेड इन इंडिया तोप ने तिरंगे को दी सलामी

Spread the love

Independence Day: आज भारत अपना 75 वां स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) मना रहा है. भारत ने 15 अगस्त, 1947 को ब्रिटिश शासन के 200 वर्षों से भी अधिक समय से अपनी कड़ी मेहनत से स्वतंत्रता प्राप्त (Independence Day) की थी. आज 75 वर्ष बाद भारत ने इतिहास रच दिया है. आजादी के अमृत महोत्सव के मौके पर देश के नाम एक और उपलब्धि जुड़ गई है.

भारत के नाम जुड़ी एक और उपलब्धि

अधिकारिक जानकारी के मुताबिक, आज भारत के नाम एक और उपलब्धि जुड़ गई है. स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने लाल किले से भारतवासियों को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने स्वदेशी चीजों के इस्तेमाल पर जोर दिया है.

बता दें की, पहली बार राष्ट्रीय ध्वज को मेड इन इंडिया तोप के जरिए सलामी दी गई है. इस बात की अधिकारिक जानकारी देश के प्रधानमंत्री ने दी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण में इसका जिक्र किया. और उन्होंने कहा की, 75 साल के बाद लाल किले पर तिरंगे को सलामी देने का काम पहली बार मेड इन इंडिया (Made In India) तोप ने किया है.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा की,

“आजादी के 75 साल के बाद जिस आवाज को सुनने के लिए हमारे कान तरस रहे थे. आज 75 साल के बाद वो आवाज सुनाई दी है. आज देश की सेना के जवानों का हृदय से अभिनंदन करना चाहता हूं. मेरी आत्मनिर्भर की बात को संगठित स्वरूप में, साहस के स्वरूप में, सेना के जवानों और सेनानायकों ने जिस जिम्मेदारी के साथ कंधे पर उठाया, उनको आज मैं सैल्यूट करता हूं.”

वैसे बता दें की, ये तोप DRDO द्वारा बनाया गया है. डीआरडीओ द्वारा बनाई गई यह तोप हर मिनट 5 गोले दाग सकता है. यह तोप दिन और रात दोनों समय काम कर सकती है. आजादी के 75 वर्ष बाद आज भारत को स्वदेशी तोप दागने का ये सौभाग्य प्राप्त हुआ है.

प्रधानमंत्री ने 9वीं बार फहराया ध्वज

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज 9वीं बार लालकिले से तिरंगा फहराया है. जानकारी के लिए बता दें की, इसके पहले  पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने 10 बार लाल किले पर ध्वजारोहण किया था. इस बार प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में  एक गर्वीला राष्ट्र और एक आत्मनिर्भर राष्ट्र की बात कही. उन्होंने कहा की,

“किसी न किसी कारण से हमारे अंदर यह विकृति आई है. हमारे बोलचाल में, हमारे व्यवहार में, हमारे कुछ शब्दों में.. हम नारी का अपमान करते हैं. क्या हम स्वभाव से, संस्कार से, रोजमर्रा की जिंदगी में नारी को अपमानित करने वाली हर बात से मुक्ति का संकल्प ले सकते हैं.”

बता दें की, प्रधानमंत्री मोदी ने अपने भाषण में परिवारवाद और भाई-भतीजावाद का भी ज़िक्र किया. अधिकारिक खबर के मुताबिक, प्रधानमंत्री मोदी ने कहा की, “आज हम दो बड़ी चुनौतियों का सामना कर रहे हैं. भ्रष्टाचार और परिवारवाद या भाई-भतीजावाद. भ्रष्टाचार देश को दीमक की तरह खोखला कर रहा है. हमें इससे लड़ना है. हमें अपनी संस्थाओं की ताकत का एहसास करने के लिए, योग्यता के आधार पर देश को आगे ले जाने के लिए ‘परिवारवाद’ के खिलाफ जागरूकता बढ़ानी होगी.”

आज़ादी के लिए लड़ने वाले सभी देश प्रेमियों को प्रधानमंत्री ने नमन किया. बता दें की, मोदी जी ने आगे कहा की, आजादी की जंग लड़ने वाले और आजादी के बाद देश बनाने वाले डॉ. राजेंद्र प्रसाद हों, नेहरू जी हों, सरदार वल्लभ भाई पटेल, श्यामा प्रसाद मुखर्जी, लाल बहादुर शास्त्री, दीनदयाल उपाध्याय, जय प्रकाश नारायण, लोहिया, विनोबा भावे, नानाजी देशमुख, सुब्रमण्यम भारती ऐसे अनगिनत महापुरुषों को आज नमन करने का अवसर है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.