IMF chief: राष्ट्रपति मुर्मू ने आईएमएफ प्रमुख से की मुलाकात, भारत के जी-20 अध्यक्ष पद पर जताया विश्वास

IMF chief: आईएमएफ की प्रबंध निदेशक क्रिस्टालिना जॉर्जीवा (IMF chief) ने शुक्रवार को राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से मुलाकात की और विश्वास व्यक्त किया कि भारत की अध्यक्षता के दौरान, जी -20 फोरम बहुपक्षवाद और वैश्विक शासन को मजबूत करने की दिशा में प्रयास करने की आकांक्षा के साथ आगे बढ़ेगा.

राष्ट्रपति मुर्मू ने कहीं ये बातें

ANI से मिली जानकारी के मुताबिक, जॉर्जीवा (IMF chief) का राष्ट्रपति भवन में स्वागत करते हुए राष्ट्रपति मुर्मू ने कहा कि दुनिया कोविड-19 महामारी के तीसरे वर्ष से गुजर रही है. उन्होंने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) और विश्व बैंक जैसे बहुपक्षीय संस्थानों ने कई कम आय वाले देशों को महत्वपूर्ण सहायता प्रदान की है.

इसके अलावा, उसने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा प्रणाली की स्थिरता को बनाए रखने में आईएमएफ को महत्वपूर्ण भूमिका निभानी है. राष्ट्रपति ने कहा कि भारत दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में से एक है.

भारत का स्टार्ट-अप पारिस्थितिकी तंत्र दुनिया में उच्च स्थान पर है. हमारे देश में स्टार्ट-अप की सफलता, विशेष रूप से यूनिकॉर्न की बढ़ती संख्या हमारी औद्योगिक प्रगति का एक चमकदार उदाहरण है. इससे भी अधिक खुशी की बात यह है कि भारत का विकास अधिक समावेशी होता जा रहा है और क्षेत्रीय विषमताएं भी कम हो रही हैं. आज के भारत का मूल मंत्र करुणा है.

भारत में 2023 में होने वाले जी-20 शिखर सम्मेलन के बारे में बोलते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि जी-20 में बहुपक्षीय सहयोग विविधता को ध्यान में रखते हुए समावेश और लचीलेपन (flexibility) के सिद्धांतों पर आधारित होना चाहिए.

जॉर्जीवा ने प्रधानमंत्री मोदी को दिया धन्यवाद

बता दें की, जॉर्जीवा ने गुरुवार को एक शानदार बैठक के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी धन्यवाद दिया और COVID-19 महामारी से भारत की मजबूत आर्थिक सुधार पर बधाई दी. जॉर्जीवा ने ट्विटर करते हुए लिखा की,

“एक शानदार मुलाकात के लिए @PMOIndia @narendramodi को धन्यवाद. महामारी से भारत के मजबूत आर्थिक सुधार और इसकी उल्लेखनीय प्रगति, विशेष रूप से डिजिटलीकरण में अविश्वसनीय सफलता के लिए बधाई.”

आईएमएफ प्रमुख ने प्रधानमंत्री मोदी के साथ बातचीत के दौरान भारत के डिजिटलीकरण की अविश्वसनीय सफलता की भी सराहना की और व्यापक आर्थिक और वित्तीय स्थिरता की रक्षा के लिए भारत के लिए पूर्ण समर्थन का आश्वासन दिया.

आईएमएफ प्रमुख ने ट्वीट किया, “जैसा कि भारत जी20 की कमान संभालता है. आप मैक्रोइकॉनॉमिक और वित्तीय स्थिरता की रक्षा, ऋण समाधान पर अग्रिम सहयोग और वित्तीय समावेशन को बढ़ावा देने के लिए @IMFNews के पूर्ण समर्थन पर भरोसा कर सकते हैं.”

जॉर्जीवा ने कहीं ये बातें

जॉर्जीवा ने एक मजबूत बहुपक्षीय प्रणाली को और मजबूत करने और आईएमएफ सुधारों को आगे बढ़ाने के लिए भारत के मजबूत नेतृत्व पर भी अहम योगदान दिया. IMF की प्रबंध निदेशक, क्रिस्टालिना जॉर्जीवा ने भारत की आगामी G20 प्रेसीडेंसी और इसके लिए IMF के समर्थन पर चर्चा करने के लिए केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से भी मुलाकात की.

बैठक के दौरान सीतारमण और आईएमएफ के प्रबंध निदेशक ने वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिए प्रमुख नकारात्मक जोखिम और भू-राजनीतिक स्थिति और सख्त वित्तीय स्थितियों के कारण सीमा पार प्रभाव पर चिंता साझा की. दोनों नेताओं ने माना कि खाद्य और ऊर्जा की कीमतों में वृद्धि और अंतरराष्ट्रीय ऋण के कारण वैश्विक मुद्रास्फीति में वृद्धि के प्रभाव ने कम आय वाले देशों को सबसे अधिक प्रभावित किया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.