September 25, 2022
IAEA ने दी चेतावनी, कहा यूक्रेन के परमाणु संयंत्र में ब्लैकआउट से सुरक्षा को है बड़ा खतरा

IAEA ने दी चेतावनी, कहा यूक्रेन के परमाणु संयंत्र में ब्लैकआउट से सुरक्षा को है बड़ा खतरा

Spread the love

IAEA: यूक्रेन के ज़ापोरिज्जिया परमाणु ऊर्जा संयंत्र के पास नई गोलाबारी के कारण एक ब्लैकआउट ने साइट की सुरक्षा से समझौता किया है. संयुक्त राष्ट्र परमाणु निगरानी ने चेतावनी दी है. संयंत्र के ऑपरेटर को जोड़ने से एकमात्र शेष रिएक्टर को बंद करने पर विचार किया जा रहा है.

अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी ने चिंता व्यक्त करते हुए कहीं ये बातें

मिली अधिकारिक जानकारी के मुताबिक, अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (IAEA) के प्रमुख राफेल ग्रॉसी ने शुक्रवार को ट्वीट किया, “गोलाबारी ने एरेनहोडर में पूरी तरह से ब्लैकआउट कर दिया है और पास के ज़ापोरिज्जिया संयंत्र के सुरक्षित संचालन से समझौता कर लिया है.”

उन्होंने आगे कहा की, “यह पूरी तरह से अस्वीकार्य है. यह बर्दाश्त नहीं किया जा सकता. पूरे क्षेत्र में सभी गोलाबारी को तत्काल समाप्त करनी चाहिए.” उन्होंने कहा, “केवल यह ऑपरेटिंग कर्मचारियों की सुरक्षा सुनिश्चित करेगा और एनर्जोदर और बिजली संयंत्र को बिजली की स्थायी बहाली की अनुमति देगा.”

Zaporizhzhia संयंत्र यूरोप की सबसे बड़ी परमाणु ऊर्जा (IAEA) सुविधा है. यह मार्च में रूसी सैनिकों द्वारा कब्जा कर लिया गया था और हाल के हफ्तों में गोलाबारी की गई है. यूक्रेन और रूस ने एक-दूसरे को हमलों के लिए दोषी ठहराया है. जिससे परमाणु आपदा की आशंका बढ़ गई.

ग्रॉसी ने कहा कि उन्हें शुक्रवार को साइट पर आईएईए के कर्मचारियों से गोलाबारी के बारे में पता चला. उन्होंने कहा कि एनर्जोदर के थर्मल पावर प्लांट में स्विचयार्ड की गोलाबारी से शहर में पूरी तरह से बिजली ब्लैक-आउट हो गई है. जहां ज़ापोरिज्जिया परमाणु ऊर्जा संयंत्र स्थित है.

शेष ऑपरेटिंग रिएक्टर को बंद करने का हो रहा विचार

एनरहोदर में रहने वाले संयंत्र संचालकों और अन्य लोगों को तेजी से गंभीर परिस्थितियों का सामना करना पड़ा, एक महत्वपूर्ण जोखिम के साथ संयंत्र में पर्याप्त आवश्यक कर्मचारी नहीं होंगे. उन्होंने कहा कि बढ़ी हुई और निरंतर गोलाबारी को देखते हुए विश्वसनीय ऑफसाइट पावर को फिर से स्थापित करने की बहुत कम संभावना थी.

उन्होंने आगे कहा की, “परिणामस्वरूप, आईएईए समझता है कि ऑपरेटर अब ऑफसाइट बिजली की बहाली में विश्वास नहीं कर रहा है. केवल शेष ऑपरेटिंग रिएक्टर को बंद करने पर विचार कर रहा है.”

हाल के दिनों में संयंत्र ने शीतलन और अन्य सुरक्षा कार्यों के लिए आवश्यक शक्ति के लिए इस रिएक्टर पर भरोसा किया है. ग्रॉसी ने चेतावनी दी, “पूरा बिजली संयंत्र तब महत्वपूर्ण परमाणु सुरक्षा और सुरक्षा कार्यों को सुनिश्चित करने के लिए आपातकालीन डीजल जनरेटर पर पूरी तरह निर्भर होगा.” रूस ने कहा कि उसने ग्रॉसी के आह्वान का समर्थन किया है.

IAEA में इसके राजदूत मिखाइल उल्यानोव ने ट्विटर पर कहा, “हम #IAEA के महानिदेशक की अपील और मांग का समर्थन करते हैं कि Enerhodar शहर और #ZNPP को तुरंत बंद किया जाना चाहिए.” आईएईए ने मंगलवार को ज़ापोरिज्जिया परमाणु ऊर्जा संयंत्र के आसपास एक सुरक्षा क्षेत्र स्थापित करने का आह्वान करते हुए कहा कि मौजूदा स्थिति अस्थिर थी.

आईएईए ने पिछले सप्ताह एक 14-व्यक्ति टीम को साइट पर भेजा था. सुविधा की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए स्थायी आधार पर दो सदस्य वहां रहते हैं. कीव ने बुधवार को परमाणु आपदा की आशंका के बीच क्षेत्र को खाली करने के लिए संयंत्र में और आबादी के लिए एक अंतरराष्ट्रीय मिशन स्थापित करने का आह्वान किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.