September 25, 2022
Spread the love

एचसीएल (HCL) टेक्नोलॉजीज के सीईओ सी विजयकुमार (C Vijaykumar) बने भारत के सबसे अधिक वेतन पाने वाले सीआईओ (CEO) बने हैं. बता दें की, एचसीएल (HCL) टेक्नोलॉजीज लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी सी. विजयकुमार ने पिछले साल 123.13 करोड़ ($16.52 मिलियन) अर्जित किए हैं. भारतीय सॉफ्टवेयर सेवा फर्मों में सबसे अधिक वेतन पाने सीईओ बन गए हैं.

सी विजयकुमार पाते हैं सबसे ज्यादा वेतन

gadgetsnow की रिपोर्ट के मुताबिक, सी विजयकुमार ने वार्षिक आधार वेतन $ 2 मिलियन लिया है. जबकि उन्हें $ 2 मिलियन परिवर्तनीय वेतन (variable pay) में मिलता है.  $12.50 मिलियन का एक दीर्घकालिक प्रोत्साहन (LTI) है. जिसमें पिछले दो वर्षों से अर्जित आय शामिल है. उनका कुल मुआवजा $16.52 मिलियन हो गया है.  एचसीएल का कहना है की,

“सी. विजयकुमार को कंपनी से कोई पारिश्रमिक (remuneration ) नहीं मिला है. हालांकि, उन्हें एचसीएल अमेरिका इंक से 16.52 मिलियन अमरीकी डालर (123.13 करोड़ रुपये के बराबर) का पारिश्रमिक (remuneration ) मिला है. जो पूरी तरह से एक स्टेप-डाउन है.”

बता दें की, वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान उनके पारिश्रमिक में एलटीआई (LTI) के रूप में 12.5 मिलियन अमरीकी डालर की प्राप्ति के अलावा कोई बदलाव नहीं हुआ है. इसका भुगतान निश्चित अंतराल (दो साल के अंत में) के आधार पर किया जाता है.

यूएसआईबीसी के बोर्ड में हैं मेम्बर

एचसीएल (HCL) टेक्नोलॉजीज के सीईओ सी विजयकुमार (C Vijaykumar) सबसे ज्यादा वेतन पाने वाले सीईओ हैं. इसके साथ वो शीर्ष व्यापार संगठन अमेरिका-भारत व्यवसाय परिषद (यूएसआईबीसी) के वैश्विक बोर्ड में भी शामिल हो चुके हैं.

सीईओ सी विजयकुमार (C Vijaykumar) का जन्म 1967 में तमिल नाडू में हुआ था. बता दें की, रिपोर्ट्स के मुताबिक सी विजयकुमार (C Vijaykumar) के नेतृत्व में एचसीएल ने ग्रोथ की है.

सीईओ सी विजयकुमार से पहले मई में, इंफोसिस के सीईओ सलिल पारेख सुर्खियों में थे. इनके वेतन में 88% की वृद्धि हुई थी. इंफोसिस के सीईओ सलिल पारेख का वार्षिक मुआवजा बढ़कर 79.75 करोड़ रुपये हो गया था. और इनको भी नामी सीईओ में से एक माना जाता है.

विदेशी कंपनी में और भी है भारतीय मूल के सीईओ

भारत आईटी सेक्टर में तेज़ी से तरक्की कर रहा है. लेकिन इसके साथ ही साथ भारतीय मूल के सीईओ देश विदेश में अपना नाम कमा रहें हैं. इसमें सबसे पहला नाम सुंदर पिचाई का आता है. पिचाई ने 2004 में Google ज्वाइन की थी. उनकी संपत्ति को लेकर अनुमान लगाया गया है कि उनकी कुल संपत्ति लगभग INR 3300 करोड़ है. सत्या नडेला का नाम भी सुर्ख़ियों में रहता है.

बता दें की, सत्या नडेला ने 2014 में माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ के रूप में स्टीव बाल्मर की जगह ली थी. आज उनके पास 5900 करोड़ रुपए से ज्यादा की संपत्ति है. अजय पाल सिंह बंगा महाराष्ट्र के पुणे में जन्मे, 1981 में नेस्ले के साथ अपने करियर की शुरुआत की थी. जुलाई 2010 से 31 दिसंबर, 2020 तक, उन्होंने मास्टरकार्ड कंपनी के यूएसए के अध्यक्ष और सीईओ के रूप में कार्य किया. इनकी नेट वर्थ 7200 करोड़ है.

ख़बरों की माने तो, भारतीय मूल की अरबपति जयश्री उल्लाल ने IIFL वेल्थ हुरुन इंडिया रिच लिस्ट 2020 में दूसरा स्थान हासिल किया था. जयश्री उल्लाल Arista Networks की CEO और अध्यक्ष हैं. उनकी कुल संपत्ति लगभग 9100 करोड़ रुपए आंकी गई हैं.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.