September 25, 2022
Gotabaya Rajapaksa: श्रीलंका के राष्ट्रपति आवास छोड़कर भागे, गुस्साई भीड़ ने राष्ट्रपति भवन पर बोला धावा

Gotabaya Rajapaksa: श्रीलंका के राष्ट्रपति आवास छोड़कर भागे, गुस्साई भीड़ ने राष्ट्रपति भवन पर बोला धावा

Spread the love

Gotabaya Rajapaksa: भारत (India) के पड़ोसी देश श्रीलंका (Srilanka) के हालात इन दिनों बहुत गंभीर चल रहे हैं. जबसे श्रीलंका को आर्थिक संकट ने घेरा है तब से श्रीलंका में खाने तक के लाले पड़ गए हैं. बता दें की, श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे के भागने की खबर आ रही है. न्यूज एजेंसी ANI ने रक्षा सूत्रों के अनुसार जानकारी दी है कि प्रदर्शनकारियों के डर से श्रीलंका के राष्ट्रपति भाग गए हैं. प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रपति के आवास को भी घेर लिया है. और धावा बोल दिया है.

राष्ट्रपति भवन छोड़ भागे Gotabaya Rajapaksa

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, उस वक़्त राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे (Gotabaya Rajapaksa) वहीं मौजूद थे. लेकिन स्थिति बिगड़ते देख, वो राष्ट्रपति भवन छोड़ कर भाग गए है. प्रशासन के द्वारा प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए टियर गैस का इस्तेमाल किया गया. बता दें की, श्रीलंका अभी भी आर्थिक संकट से जूझ रहा है. श्रीलंका के हालात बहुत ज्यादा ख़राब हैं.

श्रीलंका में अभी भी ये हाल है की स्कूल और सभी सरकारी दफ्तर बंद है. फ्यूल की भी किल्लत है. और इसके साथ ही लोगों के खाने पीने के भी लाले लगे हुए हैं. एक रिपोर्ट के मुताबिक, श्रीलंका में आज भी 60 प्रतिशत आबादी ऐसी है जो एक समय के भोजन के लिए सोचती है. उसको खुद नहीं पता की अगला खाना कैसे आएगा और क्या आएगा. कुछ परिवारों के हालात तो ये हो गए हैं की उनको चावल और सॉस खा कर ही अपनी रात गुजारनी पड़ रही है.

पुलिस ने मामला कंट्रोल करने की कोशिश की

बता दें की, श्रीलंका (Sri Lanka) में खाने की चीजें बेहद महंगी हो गई हैं. श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे (Gotabaya Rajapaksa) पर लोगों का गुस्सा फूट रहा है. पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को मौके से हटाने के लिए आंसू गैस के गोले भी छोड़े, लेकिन प्रदर्शनकारी डटे रहे. प्रदर्शनकारियों ने बैरिकेड तोड़ दिया और राष्ट्रपति भवन में घुस गए.

मिली जानकारी के मुताबिक, पूरे श्रीलंका (Srilanka) में विरोध रैली को देखते हुए शुक्रवार से ही अनिश्चतकालीन (Emergency) समय के लिए कर्फ़्यू लगाया गया था. सेना और पुलिस को हाइअलर्ट (Highalert) पर रखा गया था. कुछ प्रदर्शनकारी चहारदीवारी फांदकर और अन्य मुख्य द्वार से राष्ट्रपति भवन में घुसे. प्रदर्शनकारी सरकार विरोधी नारे लगाते हुए तेजी से किलेनुमा भवन में घुस गए.

पुलिस ने चलाई गोलियां फिर भी नहीं रुके लोग

प्रदर्शनकारियों ने कोलंबो के सरकारी जिले में राष्ट्रपति पद के विरोधी नारे लगाए और राजपक्षे (Gotabaya Rajapaksa) के घर जाने के लिए कई पुलिस बैरिकेड्स तोड़ दिए. एक व्यक्ति ने दावा किया कि पुलिस द्वारा हवा में गोलियां चलाने के बावजूद, क्रोधित भीड़ ने राष्ट्रपति भवन को घेरना जारी रखा. बता दें की, भारत ने भी अपने पड़ोसी देश की सहायता की है.

22 मिलियन आबादी वाला द्वीप सात दशकों में सबसे बड़ी वित्तीय अस्थिरता का सामना कर रहा है. जिसके परिणामस्वरूप एक गंभीर विदेशी मुद्रा की कमी है. जिसकी वजह से  ईंधन, भोजन और दवा के आयात पर प्रतिबंध लग गया है. राजपक्षे (Gotabaya Rajapaksa) के भी इस्तीफ़े की माँग तेज़ी से उठ रही थी. लेकिन उन्होंने इस्तीफ़ा नहीं दिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.