September 26, 2022
Fuel Price Hike: बांग्लादेश में बढ़ती ईंधन की कीमतों की बीच हुआ विरोध प्रदर्शन

Fuel Price Hike: बांग्लादेश में बढ़ती ईंधन की कीमतों की बीच हुआ विरोध प्रदर्शन

Spread the love

दुनिया भर में इस वक़्त महंगाई अपने चरम पर है. भारत के सभी पड़ोसी देशो की हालत खस्ता है. इस बीच बांग्लादेश में बढ़ती ईंधन (Fuel Price Hike) की कीमतों ने हाहाकार मचा रखा है.

बंगलादेश में मचा हाहाकार

ANI से मिली जानकारी के मुताबिक, बांग्लादेश में बढ़ती ईंधन (Fuel Price Hike) की कीमतों ने हाहाकार मचा दिया है. ईंधन की कीमतों की वजह से बांग्लादेश  की जनता  अब सड़कों पर है. बता दें की, सरकार द्वारा देश में ईंधन की कीमतों में 50 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि के बाद पूरे बांग्लादेश में विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए हैं.

ढाका ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, शनिवार को शाहबाग में राष्ट्रीय संग्रहालय के सामने ईंधन की कीमतों में अचानक वृद्धि के विरोध में बांग्लादेश छात्र संघ सहित कई छात्र संगठनों ने रैलियां कीं. इस बीच प्रगतिशील छात्र संघ ने अलग से विरोध रैली निकाली.

प्रदर्शनकारियों में से एक ने ढाका ट्रिब्यून के हवाले से कहा की, “आम लोग पहले से ही जीवनयापन की लागत में वृद्धि से निपटने के लिए कठिनाई में हैं. सरकार की सार्वजनिक संपत्ति की लूट और कुप्रबंधन ने लोगों को इस पीड़ा की ओर अग्रसर किया.”

इसके अलावा, बढ़ती ईंधन की कीमतों की वजह से ढाका में कई बसें कथित तौर पर रविवार को यात्रियों से अधिक शुल्क ले रही हैं. बता दें की, बांग्लादेश जात्री कल्याण समिति (बीजेकेएस) ने हालांकि, ईंधन की बढ़ी हुई कीमत के कारण बस किराए में हालिया बढ़ोतरी को खारिज कर दिया और मांग की कि नया बस किराया उचित लागत विश्लेषण के बाद निर्धारित किया जाना चाहिए.

बढ़ती कीमतों के चलते होगी बिजली कटौती

अधिकारिक जानकारी की माने तो, बांग्लादेसी प्रकाशन ने कहा कि ढाका इलेक्ट्रिक सप्लाई कंपनी लिमिटेड (डेस्को) के तहत आने वाले क्षेत्रों के उपभोक्ताओं को आज तीन घंटे बिजली कटौती का सामना करना पड़ेगा.

शुक्रवार की रात, सरकार ने डीजल की कीमतों में Tk34 प्रति लीटर, ऑक्टेन में Tk46 प्रति लीटर और पेट्रोल में Tk44 प्रति लीटर की बढ़ोतरी की. शुक्रवार की रात फिलिंग स्टेशनों पर उमड़े लोगों के लिए यह तेज वृद्धि एक झटके के रूप में सामने आई.

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर साझा किए गए कई वीडियो में, हजारों लोगों को फिलिंग स्टेशनों पर भीड़ लगाते और अपने वाहन के टैंकों को भरने के लिए धक्का-मुक्की करते देखा गया. इस बीच, ढाका के मोहम्मदपुर, अगरगांव, मालीबाग और अन्य क्षेत्रों में कई फिलिंग स्टेशनों ने कथित तौर पर अपने परिचालन को निलंबित कर दिया गया.

बांग्लादेश के हालात श्रीलंका जैसे

बीते समय से श्रीलंका आर्थिक संकट से जूझ रहा है. श्रीलंका में हालात सामान्य होते अभी नज़र नहीं आ रहे है. इस बीच बांग्लादेश में भी पेट्रोल (Fuel Price Hike) की कीमतों में तेज़ी से उछाल आ रहा है. बांग्लादेश में भी महंगाई आसमान छू रही है.

बांग्लादेश में कई लोगों को डर है कि देश को श्रीलंका जैसे हालात का सामना करना पड़ सकता है. व्यापार घाटा बढ़ रहा है और विदेशी कर्ज का बोझ भी. बांग्लादेश ने वित्तीय वर्ष 2021-2022 के पहले नौ महीनों में 61.52 डॉलर (58.48 यूरो) कीमत के सामान का आयात किया था. पिछले साल इसी अवधि में किए आयात की तुलना में यह 43.9 फीसदी की बढ़ोत्तरी थी.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.