पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था को सभालने में असफल वित्त मंत्री Miftah Ismail ने अपने पद से दिया इस्तीफा

Miftah Ismail: पाकिस्तान के वित्त मंत्री मिफ्ताह इस्माइल(Miftah Ismail) ने रविवार (25 सितंबर) को अपने पद से इस्तीफ़ा दे दिया है. उन्होंने नवाज शरीफ को वित्त मंत्री के रूप में अपना इस्तीफा सौंपा है.

बता दें की, लंदन में सत्तारूढ़ PML-N के नेताओं की बैठक में मिफ्ताह इस्माइल के इस्तीफे पर फैसला हुआ था. इस बैठक में नवाज शरीफ, प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ समेत उनकी कैबिनेट के कई दूसरे शीर्ष नेता शामिल थे.

कंगाल होते पाकिस्तान की हालत देख, वित्त मंत्री ने दिया इस्तीफ़ा

अधिकारिक मीडिया से मिली जानकारी के मुताबिक, पाकिस्तान के वित्त मंत्री मिफ्ताह इस्माइल (Miftah Ismail) ने पद से इस्तीफ़ा दे दिया है. एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने लिखा है कि आम चुनाव से पहले राजनीतिक जमीन फिर से हासिल करने के लिए पीएमएल-एन (PML-N) के वरिष्ठ नेता इशाक डार को नया वित्त मंत्री बनाया जाएगा.

वित्त मंत्री Miftah Ismail ने ट्विटर पर दिया इस्तीफ़ा 

यह घोषणा ऐसे समय में आई है जब पाकिस्तान विनाशकारी बाढ़ के चलते आर्थिक संकट से जूझ रहा है. मिफ्ताह इस्माइल पिछले 5 सालोँ में पाकिस्तान के पांचवें वित्त मंत्री हैं. इस्माइल को 6 माह से भी कम समय पद से इस्तीफ़ा पड़ा है. उनके इस्तीफे का कारण है पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था. जो लगातार अस्थिर बनी हुई है.

बता दें की, इस्माइल इस समय देश के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ के साथ लंदन में हैं और दोनों के इसी हफ्ते लौटने की उम्मीद है. हालांकि, पिछले हफ्ते वित्त मंत्री ने रॉयटर्स के साथ बातचीत में कहा था कि देश अपने वित्तीय ऋणों को जल्द से जल्द चुकाने की कोशिश करेगा.

सऊदी क्राउन प्रिंस ने पाकिस्तान को दिया आश्वासन

इसके अलावा बता दें की, मिफ्ताह इस्माइल(Miftah Ismail) ने यह भी कहा कि पिछले चार महीनों में उन्होंने अपनी क्षमता के अनुसार सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया और अपनी पार्टी के साथ-साथ देश के प्रति भी वफादार रहे हैं. इस्माइल ने आगे कहा कि देश कई अंतरराष्ट्रीय लेनदारों से ऋण राहत की मांग कर रहा था.

आगे उन्होंने बताया की, पाकिस्तान कतर और UAE से सहायता प्राप्त करेगा. और यह भी कहा कि सऊदी क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने प्रधानमंत्री को $ 1 बिलियन के निवेश का आश्वासन भी दिया.

अधिकारिक रिपोर्ट्स का कहना है की, अगस्त में पाकिस्तान ने आईएमएफ (IMF) से 1.2 बिलियन डॉलर की सहायता प्राप्त करने के बावजूद पाकिस्तान के केंद्रीय बैंक के पास मात्र 8.6 बिलियन डॉलर के रिज़र्व है जो देश के मात्र 45 दिनों के आयात के लिए पर्याप्त है.

बाढ़ और बारिश ने भी पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था को भारी चोट पहुँचाई है. बाढ़ से आई तबाही ने 1,500 से अधिक लोगों की जान ले ली और इसके चलते लगभग 20 बिलियन डॉलर की क्षति हुई. जिससे देश की परेशानियां और बढ़ गयी है .

अपनी सरकार को कोस रही जनता

पाकिस्तान की लोकल मीडिया के अनुसार महंगाई के कारण जनता अब अपनी ही सरकार से खफा है और कोस रही है. पाकिस्तान सरकार ने पाकिस्तान में बाढ़ से निपटने के लिए जो भी कदम उठाए हैं जनता उसे संतुष्ट नहीं है.

बाढ़ के चलते पाकिस्तान में लाखों लोग बेघर हो चुके हैं. पाकिस्तान की आवाम खुले आसमान के नीच रहने को मजबूर है. बाढ़ और भयंकर बारिश ने पाकिस्तान में फसल भी बर्बाद कर दी है. जिसकी वजह से आने वाले समय में खाद्य संकट भी पैदा सकता है.

2 thoughts on “पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था को सभालने में असफल वित्त मंत्री Miftah Ismail ने अपने पद से दिया इस्तीफा”

Leave a Reply