राष्ट्रपति Erdogan ने कहा की, इराक और सीरिया पर हो सकता है जमीनी हमला

Erdogan: राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगन (Erdogan) ने सोमवार को कहा कि तुर्की सेना चल रहे हवाई अभियानों के अलावा उत्तरी सीरिया और इराक में जमीनी अभियान शुरू कर सकती है. तुर्की मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, राष्ट्रपति (Erdogan) ने इस विषय पर चल रही चर्चाओं का संकेत दिया और सेना को भविष्य में संभावित अभियान के बारे में सूचित कर दिया गया है.

Erdogan ने दोनों देशों को किया आगाह

तुर्की मीडिया रिपोर्टों से मिली जानकारी के मुताबिक, राष्ट्रपति एर्दोगन (Erdogan) उत्तरी इराक और उत्तरी सीरिया में आतंकवादियों को खत्म करने के लिए एक जमीनी सैन्य अभियान शुरू कर सकते हैं. बताया जा रहा है की, रक्षा मंत्रालय और तुर्की के उच्च पदस्थ सैन्य अधिकारियों के बीच एक बैठक के बाद निर्णय लिया जाएगा.

राष्ट्रपति एर्दोगन (Erdogan) ने संवाददाताओं से कहा है की, “इसमें कोई संदेह नहीं है कि यह अभियान केवल एक हवाई अभियान तक ही सीमित है.” रक्षा मंत्रालय ने कहा कि तुर्की वायु सेना ने रविवार को सीरिया और इराक दोनों में कुर्द ठिकानों पर रणनीतिक हमले किए हैं. ऑपरेशन में कुल 89 लक्ष्यों को कथित तौर पर नष्ट कर दिया गया है.

जवाबी कार्रवाई में तुर्की ने किया ऐसा

बता दें की, ऑपरेशन दक्षिणी तुर्की में गजियांटेप पर मिसाइल हमलों के जवाब में शुरू किया गया था. हमलों के बाद, रक्षा मंत्रालय ने एक F-16 लड़ाकू विमान की एक तस्वीर पोस्ट की, जिसमें लिखा था “पेबैक टाइम! DHA समाचार एजेंसी ने बताया कि F-16 ने दक्षिणी तुर्की में मालट्या और दियारबाकिर में हवाई क्षेत्रों से उड़ान भरी, जबकि बैटमैन से ड्रोन लॉन्च किए गए.

राष्ट्रपति Erdogan ने कहा की, इराक और सीरिया पर हो सकता है जमीनी हमला
राष्ट्रपति Erdogan ने कहा की, इराक और सीरिया पर हो सकता है जमीनी हमला

आंतरिक मंत्री सुलेमान सोयलू ने शनिवार को कहा, “पहली सूचना के अनुसार, हमारे तीन नागरिकों की जान चली गई. जिसमें एक नागरिक, एक शिक्षक और एक बच्चा शामिल है. यह एक रिहायशी इलाके में मोर्टार से दागे जाने के कारण मारे गए हैं.”

PKK की इस हरकत के बाद तुर्की के राष्ट्रपति का आया बयान

ब्रिटिश स्थित निगरानी समूह सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स ने कहा कि उत्तरी और पूर्वोत्तर सीरिया में रात भर की गई छापेमारी में कम से कम 31 लोगों की मौत हो गई है.

तुर्किये के राष्ट्रपति की यह टिप्पणी इराक और सीरियाई सीमाओं पर अवैध ठिकाना बनाने वाले कुर्दिस्तान वर्कर्स पार्टी (PKK)/वाईपीपी के खिलाफ ऑपरेशन क्लॉ-स्वॉर्ड, एक क्रॉस-बॉर्डर हवाई अभियान शुरू करने के बाद आई है. पीकेके (PKK) ने 1984 से तुर्की में सशस्त्र विद्रोह का मुकाबला किया था. तब से अब तक इस संघर्ष में हजारों लोग मारे जा चुके हैं.

फीफा विश्व कप 2022 के उद्घाटन समारोह में पहुँचे थे राष्ट्रपति एर्दोगन

राष्ट्रपति एर्दोगन हाल ही में रविवार को फीफा विश्व कप 2022 के उद्घाटन समारोह में भाग लेने के बाद कतर की यात्रा से लौटे हैं. राजधानी शहर दोहा में उन्होंने मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फतह अल सिसी और संयुक्त अरब अमीरात के प्रधानमंत्री शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम से कतरी अमीर शेख तमीम बिन हमद अल थानी द्वारा आयोजित एक विशेष स्वागत समारोह में मुलाकात की है.

AFP के अनुसार, इस कार्यक्रम में फिलिस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास, जॉर्डन के किंग अब्दुल्ला और कुवैत के क्राउन प्रिंस शेख मिशाल अल अहमद अल जबेर अल सबाह ने भी भाग लिया था.

Leave a Reply