September 25, 2022
Emmanuel macron
Spread the love

इस बार 2022 के फ्रांस चुनाव में हिजाब, मुस्लिम प्रवासियों को शरण देने, बढ़ती महंगाई और जलवायु परिवर्तन जैसे मुद्दे काफी हावी रहे। खबरों के मुताबिक इमैनुएल मैक्रों ने विपक्षी मरीन ले पेन से 16 फीसदी ज्यादा वोट हासिल किए हैं। इमैनुएल मैक्रों का दोबारा राष्ट्रपति बनना लगभग तय है।

चुनाव में वर्तमान राष्ट्रपति मैक्रों ने 58.2% वोट हासिल किए, जबकि उनकी प्रतिद्वंदी मरीन ले पेन को महज 42.4% वोट मिले हैं।

इमैनुएल मैक्रों का परिचय-

पिछले केवल पांच वर्षों में, मौजूदा राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने राजनीति में खुद को युवा नौसिखिया की छवि से हटाकर एक प्रमुख वैश्विक नेता के रूप में खुद को स्थापित किया है, जो यूरोपीय संघ में महत्वपूर्ण निर्णय लेते हैं। वह यूक्रेन में रूस द्वारा थोपे गए युद्ध को समाप्त करने के प्रयासों में गहराई से जुड़े रहे हैं।

पिछले कई जनमत सर्वेक्षणों में फ्रांसीसी नागरिक राष्ट्रपति के तौर पर उनकी प्रशंसा करते हैं और उन्हें कोविड-19 महामारी और यूक्रेन संघर्ष जैसे प्रमुख वैश्विक संकटों का सामना करने के लिए राष्ट्रपति पद के लिए सबसे योग्य मानते हैं | इससे पहले मैक्रो 2014 से 2016 तक ओलांद की सरकार में अर्थव्यवस्था मंत्री नियुक्त किए गए थे |

कौन है मैरीन ली पेन ?

दक्षिणपंथी नेता मैरीन ली पेन फ्रांस के राष्ट्रपति पद की होड़ में तीसरी बार मैदान में उतरी हैं। वह अपने पिता ज्यांन मैरी की तरह ही उत्साही और तेजतर्रार नेता हैं। उनके पिता ने भी पांच बार राष्ट्रपति पद के लिए अपनी किस्मत आजमाई थी मगर उसमे कभी सफल नहीं हुए। मैरीन ली पेन पेशे से वकील हैं। उन्होंने अपनी पार्टी नेशनल फ्रंट का नाम बदलकर नेशनल रैली कर दिया था और अपने पिता को विवादित बयान देने के कारण 2015 में पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया था।

मैरीन ली पेन

मैक्रों जीत के बाद समर्थकों को किया धन्यवाद

राष्ट्रपति का दूसरा कार्यकाल जीतने के बाद इमैनुएल मैक्रों ने एफिल टॉवर ग्राउंड में समर्थकों को संबोधित किया। उन्होंने अपने समर्थकों का धन्यवाद दिया। उन्होंनें कहा कि धन्यवाद प्यारे दोस्तों, सबसे पहले धन्यवाद। आप सभी ने अगले पांच वर्षों के लिए मुझ पर अपना विश्वास जताया। मुझे पता है कि मैं आपका ऋणी हूं और बोले मैं एक निष्पक्ष समाज चाहता हूं, महिलाओं और पुरुषों के बीच समानता हो। आने वाले वर्ष निश्चित रूप से कठिन होंगे, लेकिन वे ऐतिहासिक होंगे और हमें  नई पीढ़ियों के लिए एक साथ मिलकर काम करना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.