Earthquake: अफगानिस्तान में बिगड़े हालात, 6.1 तीव्रता के भूकंप ने देश के 280 लोगों की ली जान

Earthquake: कहीं इस वक़्त गर्मी कहर बरपा रही है तो कही बारिश और बाढ़ से लोग त्रस्त हैं. लेकिन अफगानिस्तान(Afganistan) में आये भूकंप(Earthquake) ने सभी को हिला कर रख दिया है. रिपोर्ट्स के मुताबिक अफगानिस्तान में भूकंप से मरने वालो की संख्या 1000 है तो वहीँ 1500 लोग घायल भी हैं.

भूकंप ने हिलाया सबको, लोगो में दहशत का माहौल

अफगानिस्तान(Afganistan) के आंतरिक मंत्रालय के अधिकारी सलाहुद्दीन अयूबी(Salahuddin Ayubi) ने कहा कि,”अधिकांश मौतों की पुष्टि पूर्वी अफगान प्रांत पक्तिका में हुई, जहां 1000 लोग मारे गए थे और 1500 से अधिक घायल हुए थे.

“यूरोपियन मेडिटेरेनियन सीस्मोलॉजिकल सेंटर(European‑Mediterranean Seismological Centre) ने बताया कि इस भूकंप(Earthquake) का असर 500 किलोमीटर तक के दायरे में था. इस वजह से अफगानिस्तान के साथ पाकिस्तान और भारत में भूकंप(Earthquake) का झटके महसूस किए गए.

अफगानिस्तान सरकार के प्रवक्ता बिलाल करीमी ने ट्वीट(Tweet) किया- “दुर्भाग्य से, कल रात (स्थानीय समायानुसार) पक्तिका प्रांत के चार जिलों में भीषण भूकंप आया. जिसमें हमारे सैकड़ों देशवासी मारे गए और घायल हो गए और दर्जनों घर तबाह हो गए हैं.” भूकंप के झटके तो कई जगह महसूस किए गए हैं. फिलहाल तो, राहत की बात यह है कि पाकिस्तान(Pakistan) में आए भूकंप(Earthquake) में किसी जान-माल के नुकसान की खबर नहीं है. इसके अलावा देर रात मलेशिया(Malaysia) में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए. भूकंप की तीव्रता यहां 5.1 रही.

सुबह अफगानिस्तान(Afganistan) की सरकारी न्यूज एजेंसी के रिपोर्टर अब्दुल वाहिद रायन(Abdul wahid rayan) ने ट्वीट कर बताया था कि पक्तिका प्रांत के बरमल, जिरुक, नाका और ज्ञान जिलों में मरने वालों की संख्या 1000 तक पहुंच गई है.

जानकारी के लिए बता दें की, रिक्टर स्केल पर 2.0 से कम तीव्रता वाले भूकंप को माइक्रो कैटेगरी में रखा जाता है और यह भूकंप महसूस नहीं किए जाते. रिक्टर स्केल पर माइक्रो कैटेगरी के 8,000 भूकंप दुनियाभर में रोजाना दर्ज किए जाते हैं.

Hamza Azhar Salam ने साझा किया भूकंप का विडियो…

 

One thought on “Earthquake: अफगानिस्तान में बड़ी तबाही, 6.1 तीव्रता के भूकंप ने 1000 लोगों की ली जान”

Leave a Reply

Your email address will not be published.