September 25, 2022
Draupadi murmu: राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए एनडीए ने उम्मीदवार की घोषणा, द्रौपदी मुर्मू होंगी यशवंत सिन्हा के सामने

Draupadi murmu: राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए एनडीए ने उम्मीदवार की घोषणा, द्रौपदी मुर्मू होंगी यशवंत सिन्हा के सामने

Spread the love

Draupadi murmu: एनडीए (NDA) ने अपने उम्मीदवार की घोषणा कर दी है. बीजेपी की पार्लियामेंट्री बोर्ड (BJP Parliamentary Board Meeting) की मीटिंग में लगभग 20 नामों पर चर्चा की गई थी. लेकिन जो नाम सामने आया उसने सभी को चौंका कर रख दिया. द्रौपदी मुर्मू(Draupadi murmu) अब यशवंत सिन्हा(Yashwant Sinha) को राष्ट्रपति पद के चुनाव में सीधी टक्कर देंगी.

द्रौपदी मुर्मू ओडिशा से आनेवाली आदिवासी नेता हैं

द्रौपदी मुर्मू(Draupadi murmu) के नाम की चर्चा इस लिए भी बनी हुई है क्योंकि वो एक आदिवासी महिला हैं. जानकारी के लिए बता दें की, झारखंड(Jharkhand) की नौंवी राज्यपाल रह चुकीं द्रौपदी मुर्मू(Draupadi murmu) ओडिशा के रायरंगपुर से विधायक भी रह चुकी हैं. वह पहली ओडिया( नेता हैं जिन्हें राज्यपाल बनाया गया. इससे पहले BJP-BJD गठबंधन सरकार में साल 2002 से 2004 तक वह मंत्री भी रह चुकी हैं.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार द्रौपदी मुर्मू(Draupadi murmu) के अलावा दो महिला नेताओं की चर्चा चल रही थी. जिसमें छत्तीसगढ़(Chhattisgarh) की राज्यपाल अनुसुइया उइके( Anusuiya Uikey) और UP की राज्यपाल(Governer) आनंदीबेन पटेल(Anandiben Patel)  के नाम शामिल हैं. लेकिन फ़िलहाल तो BJP-NDA ने द्रौपदी मुर्मू(Draupadi murmu) के नाम पर ही मुहर लगायी है. बता दें अगर द्रौपदी मुर्मू ये चुनाव जीत जाती हैं तो भारत के इतिहास में पहली बार होगा कि कोई आदिवासी राष्ट्रपति बनेगा.

दुखों से भरा रहा है द्रौपदी मुर्मू का जीवन

द्रौपदी मुर्मू के नाम पर राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए मुहर तो लग गई है. लेकिन इन्होने जीवन में कई कठिनाइयों का सामना किया है. द्रौपदी मुर्मू का जीवन बहुत ही संघर्ष भरा रहा है. बता दें की,  20 जून 1958 को ओडिशा के मयूरभंज जिले के बैदापोसी गांव में जन्मीं द्रौपदी मुर्मू आदिवासी संथाल परिवार से ताल्लुक रखती हैं. उनके पिता का नाम बिरंची नारायण टुडू है.

द्रौपदी मुर्मू (Draupadi Murmu) की शादी श्याम चरण मुर्मू(Shyamcharan Murmu) से हुई थी. और दोनों के तीन बच्चे (दो बेटे और एक बेटी) हुए. लेकिन उन्होंने अपने पति और दोनों बेटो को खो दिया. उनकी सिर्फ एक बेटी बची जिसका नाम है उनकी इतिश्री. हालाँकि, उन्होंने अपने जीवन से कभी हर नहीं मानी. उन्होंने भुवनेश्वर के रामादेवी महिला कॉलेज से आर्ट्स में ग्रैजुएशन की डिग्री हासिल की.

इसके बाद उन्हें ओडिशा सरकार के सिंचाई और बिजली विभाग में एक जूनियर असिस्टेंट यानी कलर्क के रूप में नौकरी मिली. रिपोर्ट्स के मुताबिक, साल 1997 में ओडिशा के रायरंगपुर नगर पंचायत में एक पार्षद के रूप में अपना राजनीतिक करियर शुरू किया और फिर साल 2000 में वह ओडिशा सरकार में मंत्री बनीं.

 

1 thought on “Draupadi murmu: राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए एनडीए ने उम्मीदवार की घोषणा, द्रौपदी मुर्मू होंगी यशवंत सिन्हा के सामने

Leave a Reply

Your email address will not be published.