Cuba: क्यूबा में सरकार के विरोध में प्रदर्शन, 400 लोगों पर लगा प्रतिबंध

क्यूबा(Cuba) में प्रदर्शन कर रहें लोगों में से 400 लोगो  पर सरकार ने प्रतिबंध लगा दिया है.  अटॉर्नी जनरल के कार्यालय(attorney general’s office) के अनुसार जिन 300 लोगों को मंजूरी मिली थी उन में से पांच से पच्चीस साल तक की सज़ा सुनाई जा चुगी है. 

सरकार ने कितनो को दी थी मंजूरी

Aljazeera के ख़बर के अनुसार, क्यूबा(Cuba) सरकार ने सिर्फ 381 लोगों को विरोध प्रदर्शन करने की मंजूरी दी थी. क्यूबा(Cuba) की राजधानी हवाना(Havana) में जुलाई 2021 में लोगों ने सड़को पर उतर कर जोरदार विरोध प्रदर्शन किया था. ख़बरों की माने तो ये विरोध प्रदर्शन का कारण बढ़ती महंगाई, चिकित्सा सुविधा न मिलना और COVID-19 के दौरान बिगड़ते हालातों को मद्देनज़र रखते हुए लोगो ने सड़को पर प्रदर्शन किया था.

अटॉर्नी जनरल के कार्यालय(attorney general’s office) ने  एक अधिकारिक बयान जारी करते हुए कहा की, सोमवार को सवीकृत लोगो में 381 में से 297 लोगों को देशद्रोह, तोड़फोड़, सार्वजनिक अव्यवस्था के अपराधो को मद्देनज़र रखतें हुए पाँच से पच्चीस साल की सज़ा सुनाई है. सरकार की तरफ़ से पहले ही चेतावनी दी गई थी की जो भी अपने प्रतिबंधों का उल्लंघन करेगा उसको सख्त से सख्त सज़ा दी जाएगी.

क्या हुआ था जुलाई 2021 में

बता दें की, 11 जुलाई 2021 को क्यूबा(Cuba) में सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन शुरू हुआ था. इस प्रदर्शन के कारणों में कोरोना वायरस, आर्थिक स्थिति और इंटरनेट सेवाएं शामिल थीं. ना सिर्फ क्यूबा(Cuba) बल्कि चिली(Chile), अर्जेंटीना(Argentina) और मियामी(Miami) के लोग भी क्यूबा(Cuba) सरकार के विरोध में प्रदर्शन कर रहें थे.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, साल 2020 में क्यूबा के हालात इतने गंभीर हो गए थे की लोगो के खाने को खाना तक नहीं बचा था. क्यूबा(Cuba) की अर्थव्यवस्था 10.9 प्रतिशत तक सिकुड़ गई थी. उसके अगले साल यानी साल 2021 में ये अर्थव्यवस्था दो प्रतिशत और सिकुड़ गई थी. क्यूबा(Cuba) के हेल्थ सिस्टम की दुनिया भर में मिसाल दी जाती थी लेकिन कोरोना महामारी के कारण यहाँ की व्यवस्था भी तहस नहस हो गई थी.

Leave a Reply