Colombia और वेनेजुएला ने तीन साल के ब्रेक के बाद अपने राजनयिक संबंध किए बहाल

Colombia: कोलंबिया और वेनेजुएला ने तीन साल के ब्रेक के बाद पूर्ण राजनयिक संबंध बहाल कर दिए हैं. कोलंबिया (Colombia) के नए राजदूत अरमांडो बेनेडेटी रविवार को वेनेजुएला की राजधानी कराकस पहुंचे हैं.

उप विदेश मंत्री रैंडर पेना रामिरेज़ ने बेनेडेटी का किया स्वागत

ANI से मिली जानकारी के मुताबिक, एक दूत ने ट्वीटर पर लिखा की, “वेनेजुएला के साथ संबंध कभी नहीं तोड़े जाने चाहिए थे. हम भाई हैं और एक काल्पनिक रेखा हमें अलग नहीं कर सकती.” वेनेजुएला के उप विदेश मंत्री रैंडर पेना रामिरेज़ ने बेनेडेटी का स्वागत किया, और उन्होंने ट्वीट किया कि “हमारे ऐतिहासिक संबंध हमें अपने लोगों की खुशी के लिए मिलकर काम करने के लिए बुलाते हैं.”

बता दें की, कोलंबिया (Colombia) के नए वामपंथी राष्ट्रपति गुस्तावो पेट्रो और वेनेजुएला के समाजवादी राष्ट्रपति निकोलस मादुरो ने 11 अगस्त को घोषणा की कि उन्होंने राजनयिक संबंधों को बहाल करने की योजना बनाई है, जो 2019 में टूट गए थे. काराकस ने उस साल की शुरुआत में बोगोटा के साथ संबंध तोड़ लिए थे.

जब वेनेजुएला के विपक्ष के सदस्यों ने भोजन और दवा से लदे ट्रकों के साथ कोलंबियाई क्षेत्र से पार करने की कोशिश की थी. इन्होंने सीमा को भी बंद कर दिया, यह कहते हुए कि सहायता ने संयुक्त राज्य अमेरिका के समर्थन से विपक्ष द्वारा किए गए तख्तापलट के प्रयास को विफल कर दिया.

दोनों देशों में दूतावास और वाणिज्य दूतावास बंद कर दिए गए और पड़ोसियों के बीच उड़ानें बंद कर दी गईं थीं. कोलंबिया के पूर्व राष्ट्रपति इवान ड्यूक ने 2019 में मादुरो के फिर से चुनाव को मान्यता नहीं दी और इसके बजाय विपक्षी नेता जुआन गुएडो के दावे का समर्थन किया कि वह वेनेजुएला के अंतरिम राष्ट्रपति हैं.

ऐसे आई है संबंधों में गर्माहट

बता दें की, अगस्त की शुरुआत में पेट्रो के कार्यालय संभालने के बाद से संबंधों में गर्माहट आई है. कोलंबिया के पहले वामपंथी राष्ट्रपति पेट्रो ने कहा कि वह मादुरो को मान्यता देंगे और कई मुद्दों पर वेनेज़ुएला सरकार के साथ काम करेंगे.  जिसमें देशों के बीच झरझरा सीमा पर विद्रोही समूहों से लड़ना शामिल है.

मादुरो ने पूर्व विदेश मंत्री फेलिक्स प्लासेनिया को भी बोगोटा में राजदूत नियुक्त किया है. राजदूतों के आदान-प्रदान के अलावा, सामान्यीकरण प्रक्रिया में दोनों देशों के बीच 2,000 किलोमीटर (1,200 मील) से अधिक की सीमा को पूरी तरह से फिर से खोलना शामिल होगा. जो 2015 से वाहनों के लिए बड़े पैमाने पर बंद है.   हालांकि यह पैदल चलने वालों के लिए खुला है. काराकस और बोगोटा ने भी सैन्य संबंधों को बहाल करने के इरादे की घोषणा की है.

1822 में कोलंबियाई संघ को मिली थी मान्यता

जानकारी के लिए बता दें की, वेनेजुएला ने प्रभावी रूप से कोलंबिया गणराज्य के हिस्से के रूप में 1819 तक स्पेन से अपनी स्वतंत्रता प्राप्त की, और संयुक्त राज्य अमेरिका ने 1822 में कोलंबियाई संघ को मान्यता दी थी.

1830 में वेनेजुएला के कोलंबिया से अलग होने के बाद, संयुक्त राज्य अमेरिका ने 1835 में वेनेजुएला के साथ राजनयिक संबंधों को मान्यता दी और स्थापित किया. संयुक्त राज्य अमेरिका ने 28 फरवरी, 1835 को निकोलस डी.सी. मोलर को न्यू यॉर्क में वेनेजुएला के कौंसल के रूप में एक निष्पादक जारी करके वेनेजुएला को मान्यता दी. वेनेजुएला 1830 में कोलंबियाई संघ से स्वतंत्र हो गया था.

Leave a Reply