Chinese Mobile Ban: चीन के 12 हजार से कम कीमत वाले मोबाइल फ़ोन को बैन करने जा रहा भारत

Chinese Mobile Ban: भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा मोबाइल मार्केट है. सस्ते मोबाइल फोन और खिलौनों के मामले में चाइनीज मार्केट ने हमेशा बाजार लूटा है.  भारत अपने लड़खड़ाते घरेलू उद्योग को किकस्टार्ट करने के लिए चीनी स्मार्टफोन निर्माताओं (Chinese Mobile Ban) को 12,000 रुपये ($ 150) से कम कीमत के डिवाइस बेचने से प्रतिबंधित करना चाहता है.

क्यों करने जा रहा भारत ऐसा

ANI से मिली जानकारी के मुताबिक, चीन की Xiaomi Corp सहित कई ब्रांडों को झटका लगने वाला है. मामले से परिचित लोगों के अनुसार, इस कदम का उद्देश्य दुनिया के दूसरे सबसे बड़े मोबाइल बाजार के निचले हिस्से से चीनी (Chinese Mobile Ban) दिग्गजों को बाहर निकालना है.

यह Realme और Transsion जैसे उच्च-मात्रा वाले ब्रांडों के बारे में बढ़ती चिंता के साथ मेल खाता है. भारत के प्रवेश स्तर के बाजार से बाहर होने से Xiaomi और उसके साथियों को नुकसान होगा, जिन्होंने हाल के वर्षों में विकास को चलाने के लिए भारत पर भरोसा किया है.

मार्केट ट्रैकर काउंटरप्वाइंट के अनुसार, 150 डॉलर से कम के स्मार्टफोन ने जून 2022 तक तिमाही के लिए भारत की बिक्री की मात्रा में एक तिहाई का योगदान दिया है. जिसमें चीनी कंपनियों का योगदान 80% तक था.

Xiaomi के शेयरों में आई गिरावट

अधिकारिक खबरों की माने तो,

सोमवार को हॉन्ग कॉन्ग में कारोबार के आखिरी मिनटों में Xiaomi के शेयरों में गिरावट दर्ज की गई. यह 3.6% फिसल गया, इस वर्ष उनकी गिरावट को 35% से अधिक तक बढ़ा दिया. लोगों ने कहा कि यह स्पष्ट नहीं है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार चीनी कंपनियों को अपनी प्राथमिकता बताने के लिए किसी भी नीति की घोषणा करेगी या अनौपचारिक चैनलों का उपयोग करेगी.

नई दिल्ली ने पहले ही देश में काम कर रही चीनी फर्मों, जैसे कि Xiaomi और प्रतिद्वंद्वियों ओप्पो और वीवो को अपने वित्त की जांच के अधीन कर दिया है. जिसके कारण कर की मांग और मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप लगे हैं.

सरकार ने पहले हुआवेई टेक्नोलॉजीज कंपनी और जेडटीई कॉर्प दूरसंचार उपकरणों पर प्रतिबंध लगाने के लिए अनौपचारिक साधनों का इस्तेमाल किया है. जबकि चीनी नेटवर्किंग गियर को प्रतिबंधित करने वाली कोई आधिकारिक नीति नहीं है.  वायरलेस कैरियर्स को विकल्प खरीदने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है.

ऐप्पल इंक या सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी नहीं पड़ेगा कोई प्रभाव

ऐसा बताया जा रहा है की, इस कदम से ऐप्पल इंक या सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी को प्रभावित नहीं होना चाहिए. क्योंकि उनके फोन की कीमत अधिक है. हालाँकि, Xiaomi, Realme और Transsion के प्रतिनिधियों ने टिप्पणी के अनुरोधों का जवाब नहीं दिया.

भारत के प्रौद्योगिकी मंत्रालय के प्रवक्ताओं ने भी ब्लूमबर्ग न्यूज की पूछताछ का फिलहाल कोई  जवाब नहीं दिया है. बता दें की, भारत ने 2020 की गर्मियों में चीनी फर्मों पर दबाव बढ़ा दिया जब एक विवादित हिमालयी सीमा पर दो परमाणु-सशस्त्र पड़ोसियों के बीच झड़प के बाद एक दर्जन से अधिक भारतीय सैनिकों की मौत हो गई थी.

तब से सरकार ने टेनसेंट होल्डिंग्स लिमिटेड के वीचैट और बाइटडांस लिमिटेड के टिकटॉक सहित 300 से अधिक ऐप्स पर प्रतिबंध लगा दिया था. क्योंकि दोनों देशों के बीच संबंध सही नही चल रहे थे. फ़िलहाल सरकार के इस फैसले पर चीन से कोई भी अधिकारिक बयान नहीं आया है.

One thought on “Chinese Mobile Ban: चीन के 12 हजार से कम कीमत वाले मोबाइल फ़ोन को बैन करने जा रहा भारत”

Leave a Reply