September 25, 2022
China: चाइनीज कॉम्पनीय हुई शर्मसार, बांग्लादेश मे टैक्स चोरी करने की रिपोर्ट आई सामने

China: चाइनीज कॉम्पनीय हुई शर्मसार, बांग्लादेश मे टैक्स चोरी करने की रिपोर्ट आई सामने

Spread the love

चीन(China) कंपनी को एक फिर से शर्मसार होना पड़ा। मीडिया रिपोर्ट्स की माने को चीन(China) बांग्लादेश मे टैक्स(Tax) की चोरी कर रही है। इन सभी मामलों के चलते चीनी कॉम्पनियों को खराब छवि का सामना करना पड़ रहा है। इसके पहले बांग्लादेश की इकोनॉमी को तबाह करने के लिए चीन बिल्कुल नई तरह की साजिश रच चुगा था। चीनी कंपनियां यहां फर्जी दस्तावेजों के जरिए बांग्लादेश सरकार को हर साल करीब 11 अरब रुपए का नुकसान पहुंचा रही हैं।

चीनी कॉम्पनियों ने कैसे बांग्लादेश के लिए बुना जाल

बांग्लादेश लाइव न्यूज की माने तो, फेक डॉक्यूमेंट्स वाली चीन की साजिश का खुलासा ‘बांग्लादेश लाइव न्यूज’ चैनल ने किया है। इसकी एक रिपोर्ट के मुताबिक, कई चीनी(China) कंपनियां जाली दस्तावेजों की साजिश में शामिल हैं। कई नकली प्रोडक्ट्स बनाए जा रहे हैं और इन्हें बांग्लादेश के बंदरगाहों के जरिए दूसरे देशों में भेजा जा रहा है। इन प्रोडक्ट्स के एक्सपोर्ट के लिए भी फेक डॉक्यूमेंट्स का इस्तेमाल किया जाता है। कुछ साल में यह ट्रेंड तेजी से बढ़ा है। बांग्लादेश सरकार ने इस साजिश को पकड़ लिया, लेकिन सीनियर अफसरों की मिलीभगत की वजह से कोई कार्रवाई नहीं हो सकी।

बता दें की, बांग्लादेश की इकोनॉमी को तबाह करने के लिए चीन बिल्कुल नई तरह की साजिश रच रहा था। चीनी(China) कंपनियां यहां फर्जी दस्तावेजों के जरिए बांग्लादेश सरकार को हर साल करीब 11 अरब रुपए का नुकसान पहुंचा रही हैं। बांग्लादेश दुनिया के ज्यादातर देशों को रेडीमेड गारमेंट्स एक्सपोर्ट करता है। माना जा रहा है कि चीन अब बांग्लादेश से यह मुकाम छीनने के लिए ही इस साजिश को अंजाम दे रहा है। हालांकि, जो फर्जी डॉक्यूमेंट्स बनाए जा रहे हैं, उनमें पासपोर्ट से लेकर बर्थ सर्टिफिकेट भी शामिल हैं।

नकली प्रोडक्टस भी बना रहा ड्रैगन

फेक डॉक्यूमेंट्स वाली चीन(China) की साजिश का खुलासा ‘बांग्लादेश लाइव न्यूज’ चैनल ने किया है। इसकी एक रिपोर्ट के मुताबिक, कई चीनी(China) कंपनियां जाली दस्तावेजों की साजिश में शामिल हैं। कई नकली प्रोडक्ट्स बनाए जा रहे हैं और इन्हें बांग्लादेश के बंदरगाहों के जरिए दूसरे देशों में भेजा जा रहा है। इन प्रोडक्ट्स के एक्सपोर्ट के लिए भी फेक डॉक्यूमेंट्स का इस्तेमाल किया जाता है। ‘वर्ल्ड कस्टम ऑर्गनाइजेशन’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, दुनिया में 3.5% फेक डॉक्यूमेंट्स और नकली प्रोडक्ट्स का हर साल इस्तेमाल किया जाता है। इनमें से 65% चीन से आते हैं।

ग्लोबल अलायंस फॉर टैक्स जस्टिस के मुताबिक, चीन(China) की इन हरकतों या कहें साजिश की वजह से बांग्लादेश सरकार को हर साल करीब 11 अरब भारतीय रुपए का नुकसान उठाना पड़ रहा है। इसके अलावा नेशनल सिक्योरिटी से जुड़े खतरे भी सामने हैं। कई मल्टीनेशनल कंपनियां और अमीर लोग भी टैक्स से बचने के लिए फेक डॉक्यूमेंट्स का सहारा लेते हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.