Nepal में 'बिकिनी किलर' Charles Sobhraj को 19 साल बाद मिली जेल से रिहाई

Nepal: फ्रेंच सीरियल किलर चार्ल्स शोभराज (Charles Sobhraj), जिसे ‘बिकनी किलर’ के नाम से भी जाना जाता है, को शुक्रवार (23 दिसंबर) को नेपाली जेल से रिहा कर दिया गया है. AFP की एक रिपोर्ट के मुताबिक, शोभराज को फ्रांस डिपोर्टेशन से पहले इमिग्रेशन डिटेंशन सेंटर में ट्रांसफर किया जा रहा था.

शोभराज (Charles Sobhraj) के वकील ने हालांकि कहा कि उनका मुवक्किल अस्पताल में इलाज कराना चाहता है. गोपाल शिवकोटि चिंतन ने कहा, “एक बार जब उन्हें इमिग्रेशन में ले जाया जाएगा. तो यह तय किया जाएगा कि अगला कोर्स क्या होगा. उन्हें दिल की बीमारी है. इसलिए वह गंगालाल अस्पताल में इलाज कराना चाहते हैं.

Nepal में ‘बिकिनी किलर’ को मिली रिहाई

इंडिया टुडे से मिली जानकारी के मुताबिक, जेल अधिकारियों और उनके वकील ने कहा कि फ्रांसीसी सीरियल किलर चार्ल्स शोभराज (Charles Sobhraj). जो 1970 के दशक में पूरे एशिया में युवा विदेशियों की कई हत्याओं के लिए जिम्मेदार था. उसको शुक्रवार को जेल से रिहा कर दिया गया है.

उनके वकील गोपाल शिवकोटि चिंतन ने गुरुवार को संवाददाताओं को बताया कि शुरुआत में उनकी रिहाई के बाद, उन्हें नेपाल के आव्रजन विभाग में ले जाने की उम्मीद है. नेपाल के सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को शोभराज को रिहा करने का आदेश दिया है. बताया जा रहा है की, वह 2003 से देश में आजीवन कारावास की सजा काट रहा था.

Charles Sobhraj ने जेल की 95 प्रतिशत अवधि पूरी कर ली है

अदालत ने कहा है कि शोभराज ने अपनी जेल की 95 प्रतिशत अवधि पूरी कर ली है. और उसे रिहाई के 15 दिनों के भीतर फ्रांस भेज दिया जाना चाहिए. शोभराज,(Charles Sobhraj) जिनके जीवन को नेटफ्लिक्स के ‘द सर्पेंट’ में क्रॉनिक किया गया था. उसे गुरुवार को रिलीज़ होने की उम्मीद थी. लेकिन रिलीज़ से पहले की प्रक्रियाओं को पूरा करने में समय लगा. जिसमें स्वास्थ्य जांच भी शामिल थी.

Nepal में 'बिकिनी किलर' Charles Sobhraj को 19 साल बाद मिली जेल से रिहाई
Nepal में ‘बिकिनी किलर’ Charles Sobhraj को 19 साल बाद मिली जेल से रिहाई

स्थाई मीडिया की माने तो, शीर्ष अदालत ने शोभराज (Charles Sobhraj) को आदेश दिया था. शोभराज की 2017 में दिल की सर्जरी हुई थी. 1970 के दशक में नेपाल में दो उत्तरी अमेरिकियों की हत्या के लिए तीन-चौथाई से अधिक सजा काटने के बाद स्वास्थ्य आधार पर बुधवार को रिहा कर दिया गया है. लेकिन साथ ही यह भी कहा जा रहा है की, काठमांडू की जेल से उनकी रिहाई गुरुवार को कानूनी और तार्किक मुद्दों से रुकी रही.

भारतीय पिता से जन्में थे शोभराज

शोभराज (Charles Sobhraj) के वकील चिंतन ने कहा कि शोभराज ने उनसे कहा कि उनका एक और रात जेल में रहने का मन नहीं है. फ्रांस के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने AFP को बताया कि नेपाल में उसका दूतावास स्थिति की निगरानी कर रहा है. फ्रांस के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा की, “अगर निष्कासन का अनुरोध उन्हें अधिसूचित किया जाता है. तो फ्रांस को इसे स्वीकार करने की आवश्यकता होगी. क्योंकि शोभराज एक फ्रांसीसी नागरिक हैं.”

शोभराज साइगॉन में एक भारतीय पिता और एक वियतनामी मां से जन्मे. जिन्होंने बाद में एक फ्रांसीसी व्यक्ति से शादी की थी. शोभराज ने अपराध के जीवन की शुरुआत की थी. जो 1975 में थाईलैंड में समाप्त हो गया था.

 

 

 

Leave a Reply