September 29, 2022
Chandigarh University case: सांसद किरण खेर ने विश्वविद्यालय की भयावह घटना की कड़ी निंदा की

Chandigarh University case: सांसद किरण खेर ने विश्वविद्यालय की भयावह घटना की कड़ी निंदा की

Spread the love

Chandigarh University case: चंडीगढ़ विश्वविद्यालय में एक छात्रावास द्वारा कई महिला छात्रों के आपत्तिजनक वीडियो रिकॉर्ड और साझा किए जाने के आरोपों की जांच के लिए केवल महिला पुलिस अधिकारियों वाली तीन सदस्यीय विशेष जांच दल (SIT) का गठन किया गया है.

सांसद किरण खेर ने कहीं ये बातें

ANI से मिली जानकारी के मुताबिक, चंडीगढ़ की सांसद किरण खेर ने आपत्तिजनक वीडियो के कथित लीक के बाद भड़के चंडीगढ़ विश्वविद्यालय (Chandigarh University case) में चल रहे विरोध प्रदर्शन पर प्रतिक्रिया दी है. चल रहे विरोध के बीच, किरण खेर ने ट्विटर पर इस घटना की निंदा की.

उन्होंने स्पष्ट किया कि विश्वविद्यालय (Chandigarh University case) उनके निर्वाचन क्षेत्र के अंतर्गत नहीं आता है. बल्कि यह पंजाब में है. इसका मतलब यह हुआ कि भगवंत मान के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार को इस संबंध में तेजी से कार्रवाई करनी चाहिए.”

किरण खेर ने लिखा,

“चंडीगढ़ विश्वविद्यालय में हुई भयावह घटना से मैं नैतिक रूप से आहत हूं. इस संस्थान के कारण मेरे शहर का नाम खराब हो रहा है. मैं स्पष्ट करना चाहती हूं कि यह पंजाब के खरड़ में स्थित है. मेरी हार्दिक चिंता है. इस घटना की शिकार बच्चियां और उनके माता-पिता के प्रति मैं संवेदना व्यक्त करती हूँ.”

बता दें की, डीजीपी पंजाब गौरव यादव का कहना है की, “पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान के निर्देश पर, वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी गुरप्रीत कौर देव की देखरेख में चंडीगढ़ विश्वविद्यालय मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय सभी महिला एसआईटी का गठन किया गया है. एक छात्र और दो अन्य लोगों को गिरफ्तार किया गया है. इलेक्ट्रॉनिक उपकरण जब्त और फोरेंसिक जांच के लिए भेजा.”

24 सितंबर तक छह दिनों के लिए कक्षाएं की गईं स्थगित

छात्रों के तीखे विरोध के बीच चंडीगढ़ विश्वविद्यालय के अधिकारियों ने 24 सितंबर तक छह दिनों के लिए कक्षाएं स्थगित कर दी हैं. प्रशासन द्वारा छात्रों की मांगों को स्वीकार किए जाने के बाद सोमवार तड़के करीब 1:30 बजे विरोध प्रदर्शन बंद कर दिया गया.

विश्वविद्यालय द्वारा आगे की कार्रवाई में दो छात्रावास वार्डन को निलंबित कर दिया गया है. सभी छात्रावास वार्डन का तबादला किया जा रहा है और छात्रावास के समय में भी बदलाव किया गया है.

मिली जानकारी के अनुसार, छात्रों द्वारा आरोप लगाया गया कि कई महिला छात्रावास की छात्राओं के निजी और आपत्तिजनक वीडियो इंटरनेट पर लीक होने के बाद शनिवार को आधी रात के बाद परिसर में बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए.

अब तक, अधिकारियों ने विश्वविद्यालय की छात्राओं के आपत्तिजनक वीडियो बनाने और प्रसारित करने से संबंधित तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. एक महिला छात्र एक 23 वर्षीय व्यक्ति  जिसका प्रेमी होने की अफवाह है.

हॉस्टल में 60 लड़कियों के नहाने के वीडियो हुए लीक

छात्रों का आरोप है कि हॉस्टल में करीब 60 लड़कियों के नहाने के वीडियो लीक हो गए. दूसरी ओर, विश्वविद्यालय ने एक बयान जारी किया कि एक वीडियो प्रसारित किया गया था. इसके अलावा, इसे कब्जा कर लिया गया और आरोपी द्वारा प्रसारित किया गया. उन्होंने कहा कि लड़की ने वीडियो बनाया था और इसे खुद हिमाचल प्रदेश में अपने दोस्त के साथ साझा किया था.

छात्रों ने मांग की कि जिन छात्राओं के वीडियो लीक होने का आरोप है. उनके बयान छात्रों के प्रतिनिधि के सामने दर्ज किए जाएं. उन्होंने प्रबंधन से माफी की भी मांग की. कई छात्रों ने व्यक्तिगत रूप से छात्रावास के वार्डन बदलने, छात्रावास में प्रवेश के समय में छूट और सुरक्षा मुद्दों सहित कई मुद्दों पर विश्वविद्यालय के अधिकारियों के सामने अपनी मांग रखी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.