Gujarat Assembly Election 2022 में पहले चरण के लिए प्रचार थमा, 1 दिसंबर को होगा मतदान

Gujarat Assembly Election 2022: गुजरात की कुल 182 सीटों में से 89 सीटों पर पहले चरण के चुनाव (Gujarat Assembly Election 2022) के लिए मंगलवार शाम को प्रचार थम गया है. गुजरात में विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए एक दिसंबर को मतदान होने के साथ ही आरोप-प्रत्यारोप के साथ राजनीतिक दलों का लंबा अभियान समाप्त हो गया. बची 93 सीटों के लिए मतदान पांच दिसंबर को होगा.

Gujarat Assembly Election 2022 के लिए सभी राजनीतिक पार्टियाँ लगा रहीं है ज़ोर

NDTV से मिली जानकारी के मुताबिक, सत्तारूढ़ भाजपा राज्य में अपने 27 साल के कार्यकाल का विस्तार करना चाह रही है. जबकि कांग्रेस सत्ता में आने के लिए ‘एंटी-इनकंबेंसी’ की सवारी करने की उम्मीद कर रही है. आम आदमी पार्टी, जो 2017 के विधानसभा चुनावों में अपना खाता नहीं खोल सकी थी.

अब पंजाब के बाद एक और राज्य में अपनी पैठ बनाना चाह रही है. जिसके पार्टी प्रमुख अरविंद केजरीवाल 90 से अधिक सीटों के साथ सरकार (Gujarat Assembly Election 2022) बनाने का दावा कर रहे हैं. ANI से बात करते हुए, गुजरात के मुख्य निर्वाचन अधिकारी, पी भारती ने कहा कि गुरुवार को पहले चरण के मतदान के लिए सभी तैयारियां कर ली गई हैं.

19 जिलों में होगा मतदान

आगे उन्होंने कहा की, “एक दिसंबर को मतदान होगा. सभी इंतजाम कर लिए गए हैं. 19 जिलों में मतदान (Gujarat Assembly Election 2022) होगा. मतदान कर्मियों को प्रशिक्षण दिया जा चुका है. 50 फीसदी मतदान केंद्रों पर वेबकास्टिंग की जाएगी.”

Gujarat Assembly Election 2022 में पहले चरण के लिए प्रचार थमा, 1 दिसंबर को होगा मतदान
Gujarat Assembly Election 2022 में पहले चरण के लिए प्रचार थमा, 1 दिसंबर को होगा मतदान

गुजरात के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि कड़ी सुरक्षा के बीच शांतिपूर्ण चुनाव (Gujarat Assembly Election 2022) सुनिश्चित करने के लिए केंद्रीय अर्धसैनिक बलों को तैनात किया गया है. उन्होंने कहा, “केंद्रीय अर्धसैनिक बलों को भी तैनात किया गया है. कुल 2,39,76,760 मतदाता पहले चरण के मतदान में मतदान करेंगे.”

पीएम मोदी ने की हैं कई चुनावी रैलियां

बता दें की,  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भाजपा के लिए वोट मांगने के लिए कई चुनावी रैलियां कीं हैं. जबकि भारत जोड़ो यात्रा का नेतृत्व कर रहे राहुल गांधी ने भी कुछ समय के लिए गुजरात के लिए प्रचार किया है.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया ने आम आदमी पार्टी को वोट देने की अपील करने के लिए बार-बार चुनावी राज्य का दौरा किया है. मतदान एक और पांच दिसंबर को होगा जबकि मतगणना आठ दिसंबर को होगी.

इसके अलावा बता दें की, इस सप्ताह निर्धारित सात और रैलियों के साथ, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस बार अपने गृह राज्य गुजरात में 27 चुनाव प्रचार रैलियां की हैं. जो कि उनकी 2017 की 34 की संख्या के बराबर है.

BJP इतने समय से बनाए है पकड़

इस संख्या की दो तरह से व्याख्या की जा रही है. जबकि भाजपा इस बार तीन-तरफ़ा लड़ाई के बावजूद कहती है कि उसे राज्य पर लगभग तीन दशकों की अपनी पकड़ बनाए रखने का भरोसा है. एक तो यह कि बीजेपी को मुकाबला दिख रहा है. जैसा कि पिछली बार हुआ था. जब उसे कांग्रेस से काफी अच्छी टक्कर मिली थी.

प्रधानमंत्री मोदी अपने अंतिम प्रयास में 1 दिसंबर को पहले दौर के मतदान के दिन तीन रैलियों को संबोधित करेंगे. उन क्षेत्रों में जहां 5 दिसंबर को दूसरे दौर में मतदान होगा. इनमें से पहला पंचमहल जिले के कलोल में होगा. उसके बाद छोटा उदयपुर का बोडेली और फिर हिम्मतनगर शामिल है.

Leave a Reply