September 25, 2022
Bundelkhand Expressway: प्रधानमंत्री मोदी ने बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का किया उद्घाटन, 296 किलोमीटर लंबा है ये एक्सप्रेसवे

Bundelkhand Expressway: प्रधानमंत्री मोदी ने बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का किया उद्घाटन, 296 किलोमीटर लंबा है ये एक्सप्रेसवे

Spread the love

Bundelkhand Expressway: प्रधानमंत्री मोदी ने बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे (Bundelkhand Expressway) का उद्घाटन कर दिया है. बता दें की ये एक्सप्रेसवे 296 किलोमीटर लंबा है. 14,850 करोड़ से बना ये यूपी का छठा एक्सप्रेस-वे है.

प्रधानमंत्री ने 29 फरवरी, 2020 को बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे (Bundelkhand Expressway) का शिलान्यास किया था. इस एक्सप्रेसवे (Expressway) का काम 28 महीने के भीतर पूरा कर लिया गया है.

चित्रकूट और इटावा जो जोड़ेगा ये एक्सप्रेस-वे

ANI की ख़बर के मुताबिक, बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे (Bundelkhand Expressway)  चित्रकूट और इटावा को जोड़ेगा. पीएम मोदी (PM Narendra Modi) ने कहा कि, “जिस यूपी में रायबरेली रेल कोच फैक्ट्री, सिर्फ डिब्बों का रंग-रौगन करके काम चला रही थी. उस यूपी में अब इंफ्रास्ट्रक्चर (Infrastructure) पर इतनी गंभीरता से काम हो रहा है, कि उसने अच्छे-अच्छे राज्यों को भी पछाड़. ”

जालौन (Jalaun) में बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे के लोकार्पण के दौरान पीएम मोदी (PM Narendra Modi) के साथ सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) भी मौजूद रहे. इस एक्सप्रेसवे को प्रधानमंत्री ने एक बड़ी उपलब्धि बताया है. जानकारी के मुताबिक, ये एक्सप्रेसवे चार लेन (Four Lane) के साथ परिवहन सेवाओं की सुविधा प्रदान करेगा. इससे पहले पीएम ने यहां उड़ीसा के कलाकारों की बनाई झांकी भी देखी.

विपक्ष पर प्रधानमंत्री ने साधा निशाना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने विपक्ष पर भी निशान साधा है. उन्होंने कहा की, “हमारे देश में मुफ्त की रेवड़ी बांटकर वोट बटोरने का कल्चर लाने की कोशिश हो रही है. ये रेवड़ी कल्चर देश के विकास के लिए बहुत घातक है. इस रेवड़ी कल्चर से देश के लोगों को बहुत सावधान रहना है.” प्रधानमंत्री ने आगे कहा की, बुंदेलखंड को और बेहतर बनाने के लिए हमारी सरकार लगातार काम कर रही है.

बता दें की, चित्रकूट को लखनऊ-आगरा एक्सप्रेसवे से जोड़ने वाले फोर-लेन (Four Lane) एक्सप्रेसवे की आधारशिला मोदी (PM Modi) ने फरवरी 2020 में रखी थी. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे में  4 रेलवे ओवरब्रिज, 14 लंबे पल, 6 टोल प्लाजा, 7 रैंप प्लाजा, 266 छोटे पुल और 18 फ्लाईओवर (Flyover) हैं. अधिकारिक जानकारी के मुताबिक, बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे के आस पास 7 लाख पेड़ लगाए जाएंगे.

इतनी जगह से हो कर गुजरेगा ये एक्सप्रेसवे

बता दें की, मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ये एक्सप्रेसवे गई जिलों से हो कर निकलेगा. अब उत्तर प्रदेश में कुल 6 एक्सप्रेसवे हो गए हैं. प्रधानमंत्री मोदी ने जनता को विपक्ष से सावधान रहने की हिदायत दी है. इसके सस्थ ही बता दें की, ये एक्सप्रेसवे (Expressway) सात जिलों यानी चित्रकूट, बांदा, महोबा, हमीरपुर, जालौन, औरैया और इटावा से होकर गुजरता है.

ऐसा माना जा रहा है की इस एक्सप्रेसवे से आर्थिक सुधार भी आएगा. लोगों को आसानी होगी. जिसके चलते उत्तर प्रदेश में विकास दर बढेगा. जानकारों का मानना है की, इससे स्थानीय लोगों के लिए रोजगार के ढेरों अवसर सृजित होंगे. बता दें की, बांदा (Banda) और जालौन जिलों में इस एक्सप्रेसवे के पास औद्योगिक कॉरिडोर (industrial corridor) बनाने का काम पहले ही शुरू हो चुका है.

टूरिज्म सर्किट बनाने के लिए भी प्रधानमंत्री मोदी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को दिए दिशा निर्देश. उनका कहना है की, “यूरोप के कई देश ऐसे हैं, जहां पर किले देखने का बहुत बड़ा टूरिज्म सेक्टर बनता है. आज मैं योगी सरकार से कहूंगा यहां टूरिज्म सर्किट बनाएं.”

1 thought on “Bundelkhand Expressway: प्रधानमंत्री मोदी ने बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का किया उद्घाटन, 296 किलोमीटर लंबा है ये एक्सप्रेसवे

Leave a Reply

Your email address will not be published.