रूस की धमकियों के चलते Britain नौसेना के नए जहाजों पर खर्च करेगा 4.9 अरब डॉलर

Britain: यूके के प्रधानमंत्री ऋषि सनक ने घोषणा की है कि देश बढ़ते रूसी खतरों के मुकाबले अपनी सुरक्षा बढ़ाने के लिए नौसेना के पांच नए जहाजों पर £ 4.2 बिलियन ($ 4.9 बिलियन) खर्च करेगा.

Britain की पीएम ने कहीं ये बातें

WION से मिली जानकारी के मुताबिक, ब्रिटेन (Britain) के पीएम ऋषि सुनक ने एक अधिकारिक बयान में कहा है की, “रूस के हमलों ने हम सभी को जोखिम में डाल दिया है. जैसा कि हम यूक्रेनी लोगों को उनकी जरूरत का समर्थन देते हैं. हम खुद को और अपने सहयोगियों की रक्षा के लिए ब्रिटेन को नौसेना के पांच नए जहाजों की सौगात दे रहें हैं.  इसमें ब्रिटिश (Britain) युद्धपोतों की अगली पीढ़ी का निर्माण शामिल है.”

अधिकारिक रिपोर्ट्स में कहा गया है की, यह खर्च एक कार्यक्रम का हिस्सा है. जिसके तहत तीन जहाजों का निर्माण पहले से ही चल रहा है. बयान में कहा गया है कि सभी आठ युद्धपोतों के 2030 के मध्य तक पूरा होने की उम्मीद है.

रूस की धमकियों के चलते Britain नौसेना के नए जहाजों पर खर्च करेगा 4.9 अरब डॉलर
रूस की धमकियों के चलते Britain नौसेना के नए जहाजों पर खर्च करेगा 4.9 अरब डॉलर

प्रधानमंत्री ऋषि सुनक इस वक़्त बाली में हैं

ब्रिटेन (Britain) के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक, जो इस वक़्त बाली में जी20 शिखर सम्मेलन में हिस्सा ले रहे हैं. उन्होंने आगे कहा है कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को शिखर सम्मेलन में विश्व नेताओं का सामना करने के लिए आना चाहिए था. क्योंकि रूस का यूक्रेन छोड़ना अंतरराष्ट्रीय संबंधों पर सबसे बड़ा प्रभाव डालेगा.

ब्रिटिश (Britain) प्रधानमंत्री ने शिखर सम्मेलन के उद्घाटन सत्र में अपने संबोधन में यूक्रेन पर आक्रमण और नागरिकों को निशाना बनाने की निंदा की है. इसमें रूसी विदेश मंत्री ने भी भाग लिया है. ब्रिटेन के पीएम ने कहा है की, “एक देश (यूक्रेन)  पास यह सब बदलने की शक्ति है.”

रूस के विदेश मंत्री के सामने पीएम ऋषि ने रूस की आलोचना की

आज उद्घाटन सत्र में ब्रिटेन (Britain) के पीएम सुनक ने रूस के विदेश मंत्री लावरोव का आमने-सामने सामना किया है. जो युद्ध शुरू होने के बाद पहली बार है. ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ने कहा है की, “पुतिन शासन ने घरेलू असंतोष को दबा दिया और केवल हिंसा के माध्यम से लोगों को प्रेषण किया है.”

ब्रिटेन (Britain) के पीएम ने आगे कहा है की, “यह उल्लेखनीय है कि पुतिन हमारे साथ यहां शामिल होने में सक्षम नहीं थे. हो सकता है कि अगर वह होते तो हम चीजों को सुलझा सकते थे. क्योंकि एकमात्र सबसे बड़ा अंतर जो कोई भी कर सकता है वह है रूस के लिए यूक्रेन से बाहर निकलना और इस बर्बर युद्ध को समाप्त करना.”

यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की ने शिखर सम्मेलन में अपने संबोधन में कहा कि यूक्रेन में युद्ध को समाप्त करने का समय आ गया है. लेकिन यह भी कहा कि यह केवल तभी संभव है. जब रूस यूक्रेन को पूरी तरह से छोड़ दे.”

प्रधानमंत्री सुनक ने आगे कहा है की, “यूक्रेन पर रूस के अवैध आक्रमण का हम सभी के ऊपर गहरा प्रभाव पड़ा है. उन्होंने वैश्विक स्तर पर इसके प्रभावों का भी ज़िक्र किया. और उन्होंने रूस की आलोचना भी की है.”

Leave a Reply