BRICS summit: चीन की मेजबानी में होने जा रहा BRICS सम्मलेन , चीन दिखाएगा अपना शासन मॉडल

BRICS Summit: चीन (China) गुरुवार को 14वें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन (BRICS summit) की मेजबानी करेगा. विश्लेषकों का कहना है की ब्रिक्स शिखर सम्मेलन (BRICS summit) के जरिए चीन (China) अपने शासन और विकास मॉडल को बढ़ावा देगा. बता दें की, इस सम्मलेन में भारत (India) के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) भी हिस्सा लेंगे.

भारत समेत अन्य देश भी होंगे शामिल

Aljazeera की रिपोर्ट के मुताबिक, भारत समेत अन्य देश भी 14वें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन (BRICS summit) में शामिल होंगे. इन देशों में ब्राजील (Brazil) रूस (Russia) और दक्षिण अफ्रीका(South Africa) जैसे देश शामिल हैं. बता दें की, चीनी राष्ट्रपति (President) शी जिनपिंग (Xi Jinping) वैश्विक विकास के लिए एक “नए युग” की शुरुआत करने वाले शिखर सम्मेलन (BRICS summit) के हिस्से के रूप में आपसी चिंता के मुद्दों पर चर्चा करेंगे.

ये चर्चा वीडियो लिंक के माध्यम से होगी. बीजिंग (Beijing) में शिखर सम्मेलन (BRICS summit) से पहले, चीनी राज्य मीडिया ने ब्रिक्स (BRICS )की प्रशंसा की है. चीनी राज्य मीडिया के अनुसार  पांच उभरती अर्थव्यवस्थाओं के लिए वो बहुत खुश हैं क्योंकि इन देशों ने “गैर-पश्चिमी शैलियों, रूपों और सिद्धांतों के साथ बहुपक्षीय सहयोग” को बढ़ावा दिया है.

शी जिनपिंग ने कहीं बड़ी बातें

BRICS में (Brazil, Russia, India, China and South Africa) देश शामिल हैं. चीनी राष्ट्रपति (President) शी जिनपिंग (Xi Jinping) ने BRICS को लेकर कुछ बड़ी बाते भी कहीं हैं. उनका कहना है की, “शीत युद्ध की मानसिकता और ब्लॉक टकराव को अस्वीकार करने और सभी के लिए सुरक्षा के वैश्विक समुदाय के निर्माण के लिए मिलकर काम करेंगे हम.”

इसके अलावा उन्होंने कहा की, ” अपने पर्याप्त मतभेदों के बावजूद, पांच देशों के नेता संयुक्त राज्य अमेरिका (USA) के नेतृत्व वाले उदारवादी आदेश से एक निश्चित दूरी बनाए रखते हैं.” 2022 शिखर सम्मेलन बीजिंग को अपने द्रष्टीकोण को बढ़ावा देने के लिए एक समय पर मंच प्रदान करता है कि अंतरराष्ट्रीय संबंधों को कैसे संचालित किया जाना चाहिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published.