Brazil का लोकतंत्र पड़ा खतरे में, बढ़ रही अंतर्राष्ट्रीय चेतावनियां

Brazil: ब्राजील में लोकतंत्र पूरी तरह से खतरे में आ चुगा है. जिसको लेकर अब अंतर्राष्ट्रीय चेतावनियां बढ़ रही हैं. बता दें की, इस वक़्त ब्राज़ील (Brazil) में राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव (Election) चल रहे हैं. राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जायर बोल्सोनारो का कहना है की यदि वो चुनाव हार भी जाते हैं तब भी वो उन परिणामों को अस्वीकार कर देंगे. क्योंकि सर्वे में दिखाया गया था की उन्ही की सरकार बनेगी.

Brazil में है टेंशन का माहौल

अधिकारिक मीडिया से मिली जानकारी के मुताबिक, नेता जायर बोल्सोनारो का कहना है की अगर वो चुनाव हारते हैं फिर भी वो खुद को जीता हुआ ही घोषित करेंगे. क्योंकि सर्वे में परिणाम उनके आधीन थे. स्थाई मीडिया का कहना है की चुनाव ने देश में तेजी से ध्रुवीकरण किया है. बोल्सोनारो के समर्थकों ने अपने प्रतिद्वंद्वी को एक कम्युनिस्ट नेता मानते हैं तो वही लूला के समर्थक उन्हें दक्षिणपंथी कट्टरपंथी (right-wing Radical) मानते हैं.

मिली जानकारी के मुताबिक, अमेरिकी सीनेट (US Senate) ने बुधवार को देर रात ब्राजील में एक स्वतंत्र चुनाव का समर्थन करते हुए एक प्रस्ताव पारित किया था. और इसके साथ ही राजनीतिक हिंसा को भड़काने और चुनावी प्रक्रिया को कमजोर करने के प्रयासों की निंदा भी की थी.

ब्राज़ील (Brazil) के चुनाव में रविवार को हुए मतदान में बोल्सोनारो को लूला के खिलाफ खड़ा किया गया था. जायर बोल्सोनारो ने इस सप्ताह एक सर्वे में 13 प्रतिशत अंकों की बढ़त हासिल की थी. कई अन्य उम्मीदवार भी अध्यक्ष पद की मांग कर रहे हैं. अगर कोई भी बहुमत से नहीं जीतता है तो दूसरे दौर का मतदान 30 अक्टूबर को होगा.

लोकतंत्र को बचाने की चल रही लड़ाई

स्थाई मीडिया का कहना है की ब्राज़ील की जनता इस चुनाव को लोकतंत्र को बचाने की लड़ाई के रूप में देख रही है. ऐसा बताया जा रहा है की राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार बोल्सोनारो महीनों से निराधार आरोप लगा रहे है कि ब्राजील की इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग प्रणाली में धोखाधड़ी की गई है. उन्होंने आरोप लगाया है की हो सकता है इस वक़्त निष्पक्ष वोटिंग न हो.

उधर अन्य विशेषज्ञों ने भी चिंता जताई है कि बोल्सनारो के समर्थक बड़ी संख्या में सड़कों पर उतर सकते हैं. अगर वह फिर से चुने जाने में विफल रहे. और इसके साथ ही राजनीतिक हिंसा भड़क सकती है. अमेरिकन सीनेट के प्रस्ताव के प्रमुख अमेरिकी सांसद बर्नी सैंडर्स ने कहा कि अमेरिका ब्राजील में लोकतंत्र का समर्थन करता है.

अलोकतांत्रिक रूप से सत्ता में आने वाली सरकार को नहीं मिलेगी मान्यता

अमेरिकन सीनेट के प्रस्ताव के प्रमुख अमेरिकी सांसद बर्नी सैंडर्स ने एक बयान में कहा की, “संयुक्त राज्य अमेरिका के लिए अलोकतांत्रिक रूप से सत्ता में आने वाली सरकार को मान्यता देना अस्वीकार्य होगा. ब्राजील के लोगों के लिए यह जानना महत्वपूर्ण है कि हम उनके पक्ष में, लोकतंत्र के पक्ष में हैं.”

इस हफ्ते यूरोपीय सांसदों ने यूरोपीय संघ से राष्ट्रपति बोल्सोनारो और उनकी सरकार को स्पष्ट रूप आग्रह किया है की ब्राजील के संविधान का सम्मान किया जाना चाहिए और लोकतंत्र के नियमों को तोड़ने का प्रयास हमारे लिए अस्वीकार्य होगा.

 

Leave a Reply