Pakistan के Mastung जिले में हुआ Bomb Blast, 3 लोगों की हुई मौत

Bomb Blast: बलूचिस्तान के मस्तुंग जिले में शुक्रवार को बम ब्लास्ट (Bomb Blast) हो गया. जिसमें 3 लोगों की मौत हो गई है और 6 लोग घायल हो गए हैं. मस्तुंग उपायुक्त सुल्तान बुगती ने कहा कि यह घटना मस्तुंग जिले के काबू इलाके में उस समय हुई जब एक स्थानीय नेता के वाहन के पास बम विस्फोट हुआ.

Mastung जिले में हुआ Bomb Blast

Dawn से मिली जानकारी के मुताबिक, पाकिस्तान (Pakistan) के Mastung जिले की सहायक आयुक्त दश्त फरीदा तरीन ने डॉन को बताया की, स्थानीय सरदार मीर शाह नवाज बंगुलज़ई का वाहन भी चपेट में आ गया है. लेकिन राहत की खबर यह है की वो वहान में मौजूद नहीं थे.

सहायक आयुक्त दश्त फरीदा तरीन ने कहा की, “Bomb Blast रिमोट से किया गया जिसमें 2 वाहन ब्लास्ट हो गए .” उन्होंने बताया की एक वाहन में शव ले जाया जा रहा था वो भी बम ब्लास्ट में ब्लास्ट हो गया.

Pakistan के Mastung जिले में हुआ बम ब्लास्ट, तीन की लोगों की हुई मौत
Pakistan के Mastung जिले में हुआ Bomb Blast 3 लोगों की हुई मौत

बता दें की, इस बीच पाकिस्तान (Pakistan) के बलूचिस्तान के मुख्यमंत्री मीर अब्दुल कुदूस बिजेंजो ने घटना पर दुख व्यक्त किया और पीड़ित परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की. मुख्यमंत्री के गृह सलाहकार मीर जिया लांगोव ने एक बयान में मस्तुंग के उपायुक्त (deputy commissioner) से घटना की रिपोर्ट मांगी है.

30 सितंबर को बलूचिस्तान के कोहलू जिले के मुख्य बाजार में हुए एक Bomb Blast में कम से कम एक व्यक्ति की मौत हो गई और 20 अन्य घायल हो गए थे. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा की,

“कोहलू के मुख्य बाजार में स्थित भीड़भाड़ वाले इलाके में एक मिठाई की दुकान पर धमाका हुआ. अब तक 20 लोग घायल हुए हैं और सभी को जिला अस्पताल में भर्ती किया गया है.”

Pakistan में Bomb Blast में 57 लोगों की हुई थी मौत

इस साल में मार्च के महीने में पाकिस्तान (Pakistan) में बड़ा Bomb Blast हुआ था. अफ़ग़ानिस्तान की सीमा से लगे प्रांत में नमाज़ के दौरान भीड़-भाड़ वाली शिया मस्जिद में एक शक्तिशाली आत्मघाती विस्फोट हुआ था. जिसमें कम से कम 57 लोग मारे गए और लगभग 200 अन्य घायल हो गए थे.

एक बचाव अधिकारी ने कहा कि, “धमाका पेशावर के किस्सा ख्वानी बाजार इलाके में जामिया मस्जिद में उस समय हुआ जब नमाजी जुमे की नमाज अदा कर रहे थे. अफगानिस्तान की सीमा से लगे खैबर-पख्तूनख्वा के पेशावर में किसी भी समूह ने तत्काल विस्फोट की जिम्मेदारी नहीं ली थी. हालांकि, इस्लामिक स्टेट और सांप्रदायिक आतंकवादी समूहों (sectarian militant groups) ने पहले शियाओं को निशाना बनाकर किए गए घातक हमलों की जिम्मेदारी ली है.

पेशावर हमले में दो आतंकवादी थे शामिल

लेडी रीडिंग हॉस्पिटल (एलआरएच) के प्रवक्ता मोहम्मद आसिम ने पुष्टि की थी कि मार्च महीने में पेशावर में हुए  Bomb Blast में कम से कम 57 लोग मारे गए थे जबकि 200 घायल हो गए थे.

खैबर-पख्तूनख्वा सरकार के प्रवक्ता बैरिस्टर मोहम्मद अली सैफ ने कहा था कि विस्फोट एक आत्मघाती हमला था. उन्होंने कहा कि हमले में दो आतंकवादी शामिल थे.

पेशावर के एसएसपी हारून रशीद खान ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि विस्फोट एक आत्मघाती विस्फोट था. उन्होंने कहा कि दो हमलावर थे लेकिन उनमें से केवल एक आत्मघाती हमलावर (suicide bomber) था. एक मौके पर मौजूद व्यक्ति ने दूसरे व्यक्ति को, काले कपड़े पहने हमलावर के रूप पहचान की.

Leave a Reply