Colombia: कोलंबिया जेल में हुआ बड़ा हादसा, दर्जनों लोगों की हुई एक साथ मौत

कोलंबिया (Colombia) के तुलुआ (Tulua) की एक जेल में एक दंगे के दौरान आग लगने से कम से कम 49 लोगों की मौत हो गई और दर्जनों घायल हो गए. राष्ट्रीय जेल एजेंसी के प्रमुख जनरल टिटो कैस्टेलानोस (General Tito Castellanos) ने मंगलवार को कहा कि अधिकारी इस बात की जांच कर रहे हैं कि क्या कैदियों ने बचने के प्रयास के तहत अपने गद्दे में आग लगा दी थी या क्या दंगा किसी अन्य स्थिति को कवर करने के लिए उकसाया गया था.

तुलुआ की जेल में आग लगने का ये बड़ा मामला आया सामने

कोलंबिया (Colombia) के तुलुआ (Tulua) की एक जेल आग लगने से अब कई सवाल खड़े हो रहे हैं. लेकिन अभी यह तुरंत स्पष्ट नहीं था कि मरने वाले सभी कैदी थे या घटना के दौरान कोई भाग गया था या नहीं. जनरल टिटो कैस्टेलानोस (General Tito Castellanos) ने कहा की, यह एक दुखद और विनाशकारी घटना है, उन्होंने कहा, “आग और धुएं से 30 लोग घायल और प्रभावित हुए हैं.”

पुर्तगाल (Portugal) के दौरे पर आए कोलंबिया (Colombia) के निवर्तमान राष्ट्रपति इवान डुके (Ivan Duque) ने कहा कि घटना की जांच की जाएगी. राष्ट्रपति इवान डुके (Ivan Duque) ने कहा कि, “मैं [जनरल टिटो कैस्टेलानोस] के संपर्क में हूं और मैंने जांच को आगे बढ़ाने के निर्देश दिए हैं जो हमें इस भयानक स्थिति को स्पष्ट करने की अनुमति देते हैं.”

जनरल टिटो कैस्टेलानोस (General Tito Castellanos) ने कहा कि तुलुआ (Tulua) जेल में कुल 1,267 कैदी हैं और जिस सेल ब्लॉक में आग लगी थी  उसमें 180 कैदी थे. Aljazeera की ख़बर के अनुसार, कोलंबिया (Colombia) की जेलों में अत्यधिक भीड़भाड़ है. आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, देश भर में 81,000 कैदियों की क्षमता होने के बावजूद, वर्तमान में लगभग 97,000 कैद में हैं.

कोलंबिया (Colombia) के इतिहास में यह अबतक की सबसे बड़ी घटनाओं में से एक है. हालांकि यहां की जेलों में हिंसा आम बात है. 24 मार्च 2020 में भी पिकोटा में स्थित जेल में हिंसा हुई थी, जिसमे 24 कैदी मारे गए थे. ये मरीज कोरोना वायरस के प्रोटोकॉल को लेकर विरोध कर रहे थे.

Leave a Reply