Balochistan में दर्ज किए गए 24 घंटों में 2,434 Malaria के मामले

Balochistan: पाकिस्तान में विनाशकारी बाढ़ के बाद, पिछले 24 घंटों में बलूचिस्तान (Balochistan) के छह जिलों से लगभग 2,434 मलेरिया के मामले सामने आए हैं. क्योंकि देश के कई प्रांतों में बीमारियाँ तेज़ी से फैली हैं. पिछले कई समय से पाकिस्तान भयंकर बाढ़ और बारिश का सामना कर रहा है. जिसके चलते कई प्रांतों मी भयंकर बीमारियाँ फ़ैल रहीं हैं.

Balochistan के स्वास्थ्य विभाग की तरफ से आया बयान

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून से मिली जानकारी के मुताबिक, स्वास्थ्य विभाग बलूचिस्तान (Balochistan) के मीडिया कोऑर्डिनेटर वसीम बेग ने बुधवार को कहा कि नसीराबाद, जाफराबाद, सोहबतपुर, झाल मगसी, सिबी और काची में हजारों मामले सामने आए हैं.

स्वास्थ्य विभाग द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के अनुसार, नसीराबाद में एक दिन में 2,434 मलेरिया के मामले सामने आए हैं. बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में 1,621 चिकित्सा शिविर लगाए गए हैं. पाकिस्तान में जबसे बाढ़ आई है तबसे कई संक्रमित रोगों ने जन्म लिया है.

बलूचिस्तान (Balochistan) के सबसे अधिक प्रभावित प्रांत में दस्त, त्वचा संक्रमण और मलेरिया के कई मामले रोज़ सामने आ रहें हैं.  बलूचिस्तान और सिंध में वायरल बीमारियों ने हमला किया है. क्योंकि बाढ़ ने दो प्रांतों में तबाही मचाई और कई प्रांतों में पाकिस्तान में लोगों के लिए स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं पैदा कर दीं हैं.

सरकार और स्थानीय संगठनों की मदद से लोगों तक भोजन और दवा पहुंचाई जा रही है. लेकिन फिर भी अभी कई ऐसी जगह हैं जहाँ लोगों तक दवा और मदद पहुँचाना मुश्किल हो रहा है. जिसकी वजह से लोगों की जान भी अब जाने लगी हैं.

जनता है सरकार से नाखुश

एक सर्वे के अनुसार, जनता सरकार से खुश नहीं है. Dawn अखबार की रिपोर्ट के अनुसार, तीन बाढ़ प्रभावित प्रांतों के 14 जिलों के 38 आपदा प्रभावित इलाकों में यह सर्वे किया गया है. सर्वे में बताया गया है की, प्राकृतिक आपदा के प्रति सरकार की प्रतिक्रिया से अधिकांश पाकिस्तानी नाखुश हैं.

सर्वे के अनुसार, अधिकांश इलाके राज्य संस्थानों के प्रदर्शन से नाखुश हैं. सर्वे में कहा गया है कि 92 फीसदी स्थानों पर लोग बाढ़ के कारण अपने गाँव और पड़ोस के गाँव छोड़ने को मजबूर हैं. छह सप्ताह की बाढ़ के बाद, 15 स्थानों के कई परिवार सड़कों पर खुले आसमान के नीचे और बिना टेंट के रहने को मजबूर हैं.

20 लाख घर हो गए हैं तबाह

Dawn की रिपोर्ट में बताया गया है की, पाकिस्तानी बाढ़ में 1700 से ज्यादा लोग मारे गए हैं और 20 लाख घर तबाह हो गए हैं. भारत के पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान का आधा हिस्सा पानी में डूब गया है. पाकिस्तान में कई इलाके ऐसे हैं जहाँ लोग आज भी खुले आसमान के नीचे रहने को मजबूर हैं.

पाकिस्तान में भयंकर मानवीय और विकास संकट पैदा हो गया है. बाढ़ की वजह से  पशुधन, फसल, घर, नौकरियों को नुकसान पहुंचा है. बाढ़ की वजह से स्कूल भी बंद करने पड़े हैं.

एशियाई विकास बैंक के आंकड़ों के अनुसार, पाकिस्तान पहले ही गरीबी का सामना कर रहा है. ऐसे बाढ़ और बारिश ने पाकिस्तान की कमर तोड़ रखी है. हाल ही में संयुक्त राष्ट्र के महासचिव  ने पाकिस्तान का दौरा किया था और जनता की हर संभव मदद का आश्वासन भी दिया था.

Leave a Reply