पाकिस्तान में जल्दी चुनाव को लेकर पूर्व पीएम इमरान खान के आह्वान पर उनकी पार्टी PTI द्वारा निकाले गए इस्लामाबाद मार्च के दौरान हिंसा भड़क उठी। सुरक्षा बलों के साथ टकराव में छह की मौत होने और कई जवानों के घायल होने की खबर है। मेट्रो स्टेशन भी फूंक दिया गया। गुरुवार को इमरान ने शहबाज सरकार को 6 दिन का अल्टीमेटम दिया है। उन्होंने कहा कि यदि सरकार ने इस दौरान चुनाव की घोषणा नहीं की तो पूरा देश इस्लामाबाद कूच करेगा।

पूर्व पीएम इमरान खान की इस्लामाबाद रैली को रोकने के दौरान पुलिस व PTI कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़प हो गई | इसके बाद शहबाज शरीफ सरकार ने इस्लामाबाद में सेना तैनात कर रेड जोन घोषित कर दिया। सरकार ने रैली पर रोक लगा दी थी, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने अधिकारियों को निर्देश थे कि आजादी मार्च के लिए PTI को वैकल्पिक स्थान उपलब्ध कराएं।

शहबाज सरकार को बताया “बाहर से लायी सरकार” (Imported goverment )

गुरुवार सुबह इमरान खान ने इस्लामाबाद के जिन्ना एवेन्यू में अपनी पार्टी के हजारों समर्थकों को संबोधित किया। उन्होंने संघीय सरकार को छह दिन का अल्टीमेटम दिया। खान ने कहा कि यदि ‘आयातित सरकार’ ने 6 दिन में चुनाव का एलान नहीं किया तो वे पूरे देश की जनता के साथ फिर इस्लामाबाद कूच करेंगे। उन्होंने आरोप लगाया कि उनकी पार्टी के के विरोध मार्च को रोकने के लिए सरकार ने गिरफ्तारी व छापों का सहारा लिया। पूर्व पीएम ने मामले का संज्ञान लेने के लिए पाक सुप्रीम कोर्ट के प्रति आभार जताया।

इमरान खान ने बताया कि वह 30 घंटे का सफर कर खैबर पख्तूनख्वा से इस्लामाबाद पहुंचे हैं। Down news के अनुसार छह दिन के अल्टीमेटम के बाद इमरान खान व उनके हजारों समर्थक बेनी गाला स्थित पूर्व पीएम के आवास की ओर लौट गए। बुधवार देर रात वह अपने समर्थकों के साथ इस्लामाबाद के पास स्थित डी-चौक पहुंचे थे। उन्होंने वहीं धरने का एलान किया था। तड़के उन्होंने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा था ‘हम जेहाद करने निकले हैं, सियासत करने नहीं।’

By Satyam

Leave a Reply