एंथोनी अल्बनीज की विपक्षी लेबर पार्टी ने ऑस्ट्रेलिया का आम चुनाव जीत लिया है, लेकिन अभी भी वोटों की गिनती जारी है| अभी मतगणना जारी है इसके बावजूद प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने शनिवार देर रात हार मान ली है |

मॉरिसन ने सिडनी में एक टेलीविजन भाषण में कहा आज रात मैंने विपक्ष के नेता और आने वाले प्रधान मंत्री एंथनी अल्बनीज़ से बात की है, और उनकी चुनावी जीत पर उन्हें बधाई दी है |

ऑस्ट्रेलियन ब्रॉडकास्टिंग कॉरपोरेशन (ABC) ने पहले ही भविष्यवाणी की थी कि मॉरिसन का मौजूदा लिबरल-नेशनल गठबंधन बहुमत की सरकार बनाने के लिए पर्याप्त सीटें नहीं जीत पायेगी।

ABC के अनुमानों से संकेत मिलता है कि लेबर पार्टी को 71 सीटें हासिल हुयी हैं।

पूर्ण बहुमत हासिल करने के लिए पार्टियों को कम से कम 76 सीटें जीतने की जरूरत है।

यह अभी भी स्पष्ट नहीं है कि क्या लेबर पार्टी अकेले जीत सकती है या इसके बजाय त्रिशंकु संसद में सबसे अधिक संख्या में सीटें हासिल करेगी।

अगर लेबर पार्टी बहुमत से जीत हासिल नहीं पाती है तो ऑस्ट्रेलिया में 2010 के बाद पहली बार त्रिशंकु संसद होगी।

ऑस्ट्रेलियाई चुनाव आयोग (एईसी) के अनुसार, ऑस्ट्रेलिया में मतदान अनिवार्य है और 17.2 मिलियन से अधिक लोगों ने मतदान के लिए नामांकन किया था।आयोग के अनुसार, मतदाताओं की रिकॉर्ड संख्या ने जल्दी मतदान केंद्रों पर या डाक मतपत्रों के माध्यम से अपना मत डाला, और शुक्रवार शाम तक कुल मतों में से आधे से अधिक वोट डाले जा चुके थे।

चुनाव में निर्दलीय उम्मीदवारों के उभरने से त्रिशंकु संसद की संभावना बढ़ गई है।

नोट: ऑस्ट्रेलिया चुनाव नतीजों में प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन की लिबरल पार्टी को करारी हार का सामना करना पड़ा है। एंथनी अल्बनेसी लेबर पार्टी ने जोरदार जीत हासिल की है। शनिवार देर रात लेबर पार्टी को 71 जबकि लिबरल पार्टी को 52 सीटें मिलीं। 10 सीटों पर निर्दलीयों ने जीत हासिल की है। इससे ये साफ है कि अल्बनेसी को निर्दलीय और अन्य छोटी पार्टियों के समर्थन से सरकार का गठन करना होगा।

By Satyam

Leave a Reply