जम्मू-कश्मीर के अरनिया में BSF जवानों ने पाकिस्तान को मुंहतोड़ दिया जवाब

Arnia: सीमा सुरक्षा बलों (बीएसएफ) ने मंगलवार को कहा कि जम्मू के अरनिया (Arnia) सेक्टर में उसके गश्ती दल पर पाकिस्तानी रेंजरों द्वारा अकारण गोलीबारी की गई. यहां जारी एक संक्षिप्त बयान में बीएसएफ ने कहा कि पाक रेंजरों की गोलीबारी का करारा जवाब दिया गया.

अर्धसैनिक बलों के प्रवक्ता ने कहीं ये बातें

ANI से मिली जानकारी के मुताबिक, अर्धसैनिक बलों के एक प्रवक्ता ने जीएनएस को दिए बयान में कहा, “आज सुबह अलर्ट बीएसएफ जम्मू सैनिकों ने अरनिया सेक्टर में बीएसएफ पेट्रोलिंग पार्टी पर पाक रेंजरों द्वारा अकारण गोलीबारी का करारा जवाब दिया.”

उन्होंने आगे कहा कि बीएसएफ जवानों को कोई नुकसान या चोट नहीं आई है. वहीं, पाक रेंजरों से किसी के हताहत होने या अन्यथा होने के संबंध में कोई दावा नहीं किया गया. बीएसएफ जम्मू फ्रंटियर के आईजी डीके बूरा भी स्थिति का जायजा लेने के लिए चिनाज चौकी पहुंचे.

यह याद किया जा सकता है कि पिछले साल 25 फरवरी को, पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर में 221 किलोमीटर लंबी अंतर्राष्ट्रीय सीमा (आईबी) और 744 किलोमीटर लंबी एलओसी पर भारत के साथ पारस्परिक रूप से मध्यस्थता वाले समझौते को नवीनीकृत किया था.

25 फरवरी, 2021 से पहले भारत और पाकिस्तान के बीच एलओसी और आईबी पर गोलीबारी और मोर्टार से गोलाबारी तेज हो गई थी. जिसमें सीमा के दोनों ओर कई ग्रामीण मारे गए थे.

सामान्य जीवन हुआ बाधित

आग के तीव्र आदान-प्रदान से लोगों का पलायन हुआ था और सामान्य जीवन बुरी तरह बाधित हुआ था. भारत ने भी जवाबी फायरिंग में कोई संयम नहीं दिखाया. नतीजतन, पाकिस्तान ने सफेद झंडा उठाया और भारत से 25 फरवरी, 2021 को ट्रस डील को नवीनीकृत करने के लिए कहा जिस पर पहली बार नवंबर 2003 में दोनों देशों के बीच हस्ताक्षर किए गए थे.

भारत पाकिस्तान के साथ 3,323 किलोमीटर लंबी सीमा साझा करता है. जिसमें से 221 किमी आईबी और 744 किमी एलओसी जम्मू और कश्मीर में पड़ता है. अरनिया में एक बार पाकिस्तान की तरफ से ड्रोन भी भारत की सीमा में घुस चुगा है.  जानकारी के लिए बता दें की, एक बयान में, बीएसएफ के एक प्रवक्ता ने कहा था कि,

पाकिस्तान और भारत के बीच संघर्ष विराम समझौते के बावजूद आज अरनिया सेक्टर (Arnia) में बीएसएफ के जवानों ने अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तान द्वारा ड्रोन की घुसपैठ की कोशिश को विफल कर दिया.

प्रवक्ता ने कहा था की, “आज तड़के दो ड्रोन/यूएवी को पाकिस्तान की ओर से प्रवेश करते हुए देखा गया और बीएसएफ के सतर्क जवानों ने तुरंत उन पर गोलियां चला दीं. जिससे उन्हें वापस पाकिस्तान क्षेत्र में वापस जाने के लिए मजबूर होना पड़ा.”

पाकिस्तान कर चुगा है ऐसी गुस्ताखी

BSF प्रवक्ता ने कहा था कि

“यहां यह उल्लेख करना उचित है कि पाकिस्तान रेंजर्स ड्रोन घुसपैठ के माध्यम से नियमित रूप से अंतर्राष्ट्रीय सीमा का उल्लंघन कर रहे हैं. और भारतीय क्षेत्र में हथियार/गोला-बारूद गिराने की कोशिश कर रहे हैं. लेकिन सीमा पर बीएसएफ सैनिकों द्वारा सफलतापूर्वक खदेड़ दिया गया है. यह याद किया जा सकता है कि बीएसएफ ने 20 जून 2020 को बीओपी पंसार में एक पाक हेक्सा-कॉप्टर को हथियारों / गोला-बारूद के विशाल जखीरे के साथ मार गिराया था.”

प्रवक्ता ने आगे कहा था की, आज की ड्रोन घुसपैठ की बोली को बीएसएफ जम्मू सैनिकों द्वारा नाकाम कर दिया गया, जो पाकिस्तान की ओर से ड्रोन घुसपैठ पर बीएसएफ द्वारा सतर्कता और तेज जवाबी कार्रवाई का संकेत है. बीएसएफ की खुफिया शाखा को पाकिस्तान द्वारा भारत में हथियार और गोला-बारूद लाने के लिए पाकिस्तान द्वारा ड्रोन के संभावित उपयोग के बारे में इनपुट मिल रहे थे. तदनुसार, सैनिक अलर्ट पर हैं और सीमा पर वर्चस्व तेजी से बढ़ा है.

One thought on “जम्मू-कश्मीर के अरनिया में BSF जवानों ने पाकिस्तान को मुंहतोड़ दिया जवाब”

Leave a Reply

Your email address will not be published.